समाचार प्लस
Breaking देश फीचर्ड न्यूज़ स्लाइडर

World Heart Day: भूलेगा दिल जिस दिन हमें…, वो दिन जिंदगी का …

World Heart Day: भूलेगा दिल जिस दिन हमें..., वो दिन जिंदगी का ...

न्यूज़ डेस्क/ समाचार प्लस झारखंड- बिहार

दिल की सेहत के प्रति लोगों को जागरूक करने के लिए हर साल 29 सितंबर को वर्ल्ड हार्ट डे (World Heart Day) मनाया जाता है। इस खास दिन को मनाने की शुरुआत सबसे पहले साल 2000 में हुई थी। उस समय यह तय किया गया कि हर साल विश्व हार्ट दिवस सितंबर माह के आखिरी रविवार को मनाया जाएगा। लेकिन साल 2014 में इस खास दिन को मनाने के लिए 29 सितंबर की तारीख तय कर दी गई।

इस दिन को मनाने के पीछे का उद्देश्य लोगों को दिल से जुड़ी बीमारियों के प्रति जागरूक करना है। आज छोटी उम्र से लेकर बुजर्ग तक हृदय रोग से पीड़ित देखे जा सकते हैं। हृदय रोग पूरे विश्व में आज एक गंभीर बीमारी के तौर पर उभर रहा है।

भारत में हर पांचवा व्यक्ति दिल का मरीज है। वर्ल्ड हार्ट फेडरेशन के अनुसार, हार्ट संबंधी बीमारियों से हार साल करीब 18 मिलियन मरीजों की मौत होती है।

डॉक्टरों का मानना है कि कोरोना महामारी समय में दिल की बीमारी लोगों को ज्यादा नुकसान पंहुचा रही है, जिसकी वजह से कोविड-19 के डर से दिल के मरीज घर में ही रहने के लिए मजबूर हैं. वहीं मरीज अपने रेगुलर चेकअप के लिए भी नहीं जा पा रहें हैं. गलत खानपान, हर वक्त तनाव में रहना और समय पर एक्सरसाइज न करने की वजह से ये बीमारी अक्सर होती है. दुनियाभर में अलग-अलग संस्थाएं इस दिन लोगों को जागरूक करती हैं.

इनएक्टिव लाइफस्टाइल है कारण

35 से ज्यादा उम्र के युवाओं में भी इनएक्टिव लाइफस्टाइल और खाने की खराब आदतों के कारण दिल की बीमारी होने का खतरा बढ़ रहा है. पिछले 5 साल में दिल की समस्याओं से पीड़ित लोगों की संख्या में तेजी से इजाफा हुआ है. इनमें से अधिकांश 30-50 साल आयु वर्ग के पुरुष और महिलाएं हैं. लोगों के पास अपने शरीर और मन को स्वस्थ और शांत रखने के लिए समय ही नहीं है, जिस वजह से लोगों में कई तरह की बीमारियां देखने को मिल रही हैं.

व्यस्त जीवन में हृदय समस्याओं को रोकने के लिए पांच सरल तरीके

1. नियमित रूप से व्यायाम करना

अपने दिल को स्वस्थ रखने के लिए, प्रत्येक दिन व्यायाम करना महत्वपूर्ण है. यह सुनिश्चित करने के लिए कि धमनियों में लचीलापन रहे, 30-45 मिनट की अवधि के लिए किसी भी शारीरिक गतिविधि के रूप में दैनिक व्यायाम महत्वपूर्ण है. अध्ययनों से पता चला है कि तेज चलने से कुछ वयस्कों की जीवन अवधि में लगभग दो घंटे जुड़ सकते हैं. जीवनशैली में कुछ बदलाव जैसे एलेवेटर के बदले सीढ़ियों से चढ़ना, पार्किंग स्थल के अंतिम भाग में पार्किंग करना और अपने दोपहर भोजन के समय में से थोड़ी देर के लिए कार्यालय से ब्रेक लेकर पैदल चलने से न केवल शरीर को दुरुस्त रखने में मदद मिलती है बल्कि स्वस्थ जीवन की एक आदत भी बनती है.

2. स्वास्थ्यवर्धक आहार
यह एक अच्छी तरह से स्थापित तथ्य है कि सही और स्वास्थ्य वर्धक आहार स्वस्थ हृदय और स्वस्थ जीवन जीने की कुंजी है. लेकिन, हम में से अधिकांश इसे अनदेखा करते हैं. व्यक्ति जो खाता है, वह सीधे उसके दिल को प्रभावित करता है. इसलिए हरे और पत्तेदार सब्जियों का सेवन सुनिश्चित करें, चीनी और गैस युक्त पेय से परहेज करें, जितना संभव हो मीठे पेय पदार्थों को पानी से बदल दें और प्रसंस्कृत खाद्य पदार्थो और परिष्कृत आटे का सेवन स्वस्थ जीवन और स्वस्थ दिल के लिए कम करें.

3. शरीर का वजन

अत्यधिक शरीर के वजन दिल के लिए खतरनाक है. वजन पर नजर रखें क्योंकि यह हाई कोलेस्ट्रॉल की संभावना को बढ़ाता है, जिससे मधुमेह, धमनी रोग का खतरा और रक्तचाप हो सकता है. बीएमआई (बॉडी मास इंडेक्स) पर भी नजर रखें और इसे उचित स्तर तक बनाए रखें.

4. धूम्रपान और शराब पर नियंत्रण रखें

धूम्रपान और शराब के सेवन से हृदय रोग होने का जोखिम बढ़ेगा. इन आदतों को रक्तचाप बढ़ाने के लिए जाना जाता है, जिसके कारण दिल की धड़कन अनियमित होती है और स्ट्रोक्स होते हैं. इतना ही नहीं, यह दिल की सामान्य क्रियाकलाप में व्यवधान पैदा करता है. इसलिए, यह सलाह दी जाती है कि दोनों का सेवन न करें या इसे कम करते करते खत्म करें.

5. तनाव स्तर की जांच करें

ऐसे कई अध्ययन हुए हैं जिन्होंने स्थापित किया है कि तनाव दिल की समस्याओं का सबसे बड़ा कारण है. इससे दर्द और तकलीफ हो सकती है, चिंता और अवसाद की भावनाएं पैदा हो सकती हैं, और आपकी ऊर्जा कम कर सकता है. तनाव को दूर रखने का प्रयास करें. काम के अलावा अन्य गतिविधियों की तलाश करें जो तनाव के स्तर को नीचे रखने में मदद करें. एक शौक या एक सकारात्मक आत्म-चर्चा करें, संगीत सुनें या अच्छी किताब पढ़ें या ध्यान करें.
ये भी पढ़ें :30 सितंबर को 16 विभागों के अब तक के कामों की प्रगति की समीक्षा करेंगे सीएम हेमंत सोरेन

Related posts

Jharkhand : बिना साझा कार्यक्रम चल रही साझी सरकार, क्या हैं चुनौतियां

Manoj Singh

Rajiv Gandhi Birth Anniversary: पहली नजर में प्यार फिर शादी, कुछ ऐसी थी राजीव और सोनिया गांधी की Love Story

Manoj Singh

बीच सड़क पर आपस में भिड़ीं युवतियां, जमकर चले लात घूंसे; Video Viral

Manoj Singh

Leave a Comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.