समाचार प्लस
Breaking देश फीचर्ड न्यूज़ स्लाइडर

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की ‘आंखों’ से पूरी दुनिया ने देखी ‘नव्य काशी, भव्य काशी, दिव्य काशी’

PM Modi Kashi Vishwanath Lokarpan

न्यूज डेस्क/ समाचार प्लस – झारखंड-बिहार

आज प्रधानमंत्री मोदी ने काशी में भक्ति की गंगा बहा दी। अवसर था- श्रीकाशी विश्वनाथ कॉरिडोर के लोकार्पण का। श्रीकाशी विश्वनाथ कॉरिडोर के लोकार्पण के लिए पहुंचे प्रधानमंत्री दुनिया को ‘नव्य काशी, भव्य काशी, दिव्य काशी’ के दर्शन कराते रहे। भक्ति की नगरी वाराणसी पहुंचने के बाद पीएम ने सबसे पहले काल भैरव के दर्शन किये, उनकी पूजा की। इसके बाद ललिता घाट पर पवित्र गंगा में डुबकी लगाकर मां गंगा को पुष्पांजलि दी।

यहां सबसे पहले उन्होंने परिसर में स्थित मंदिरों की परिक्रमा की। इस दौरान 151 डमरू वादक बाबा ने डमरू बजाकर पीएम मोदी का अभिवादन किया। पीएम ने काशी विश्वनाथ मंदिर के गर्भगृह में जलाभिषेक किया। 12 ज्योतिर्लिंगों में से एक प्रतिष्ठित मंदिर के गर्भगृह में काशी विश्वनाथ मंदिर के मुख्य पुजारी श्रीकांत मिश्रा ने पीएम को पूजा करवायी। मंदिर परिसर में पीएम ने पौधरोपण भी किया। इसके बाद धर्मनगरी में लगी धर्म संसद में पीएम ने श्रीकाशी विश्वनाथ को देश को लोकार्पित कर दिया। पीएम मोदी का इस बार का काशी प्रवास 30 घंटों का है। जाहिर है जब तक मोदी काशी में रहेंगे, भक्ति की गंगा बहाते रहेंगे।

शुभ मुहूर्त में पीएम ने श्रीकाशी विश्वनाथ कॉरिडोर का किया लोकार्पण

श्रीकाशी विश्वनाथ धाम के लोकार्पण के लिए रेवती नक्षत्र में दोपहर में 20 मिनट का शुभ मुहूर्त निर्धारित था। रेवती नक्षत्र में भार्गव मुहूर्तानुसार श्लेषा नाड़ी में दिन में 1:37 बजे से 1:57 बजे तक के निर्धारित शुभ मुहूर्त में ही पीएम ने कॉरिडोर का लोकार्पण किया।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और राज्यपाल आनंदी बेन ने की अगवानी

वाराणसी पहुंचने पर पीएम मोदी का यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और राज्यपाल आनन्दी बेन ने एयरपोर्ट पर अगवानी की। यहां से प्रधानमंत्री मोदी संपूर्णानंद मैदान तक हेलिकॉप्टर से पहुंचे। यहां उन्होंने बाबा काल भैरव के दर्शन किये। बाबा काल भैरव के दर्शन करने के बाद पीएम मोदी खिड़किया घाट पहुंचे। यहां से पीएम मोदी सीएम योगी के साथ रो-रो बोट से ललिता घाट के लिए रवाना हुए। गंगा नदी के दोनों किनारों पर लोगों की भीड़ जमा थी। लोग पीएम मोदी की एक झलक पाने को बेकरार दिखे। पीएम ने हाथ हिलाकर लोगों का अभिवादन स्वीकार किया। बता दें, खिड़किया घाट को हाल में मनोरम घाट के रूप में विकसित करा गया है। यहां पर पीएम मोदी और सीएम योगी ने गंगा तट का जायजा लिया।  फिर ललिता घाट में स्नान कर काशी विश्वनाथ मंदिर पूजा के लिए पहुंचे।

55 HD कैमरों के सहारे पूरी दुनिया ने देखी काशी की भव्यता

काशी विश्वनाथ कॉरिडोर लोकार्णण के पूरे कार्यक्रम के कवरेज के लिए 55 एचडी कैमरों, चार जिमी जिब एवं एक बड़ा ड्रोन तैनात थे। ‘दिव्य काशी, भव्य काशी’ कार्यक्रम के प्रसारण के लिए 55 कैमरामैन, समेत करीब 100 लोगों का दल पवित्र शहर में डेरा डाले हुए था।

काशी विश्वनाथ कॉरिडोर विकास करने के पीछे मोदी की क्या है महत्वाकांक्षा

महत्वाकांक्षी काशी विश्वनाथ कॉरिडोर की इस विशाल परियोजना से वाराणसी में पर्यटन को बढ़ावा मिलने की उम्मीदें हैं। यह इसका एक प्रमुख कारण है। धर्म नगरी होने के कारण देश के हिन्दुओं के लिए तो इस नगरी का महत्व तो है ही, विदेशियों को भी वाराणसी आदि काल से आकर्षित करती रही है। वाराणसी वह धर्म नगरी है जहां विदेशी पर्यटक अपनी अनेक जिज्ञासा लेकर आते रहते हैं। कई विदेशियों को तो यह नगरी इतनी भा गयी कि वे यहीं के होकर रह गये। हालांकि राजनीतिक विशेषज्ञ इसे राजनीतिक प्रोपेगेंडा मान रहे हैं। उनका मानना है कि ऐन चुनाव से पहले इस महत्वाकांक्षी परियोजना के उद्घाटन से भाजपा यूपी के विधानसभा चुनाव का लाभ लेना चाह रही है।

यह भी पढ़ें: हरनाज संधू नयी Miss Universe, 21 वर्षों के बाद भारत के सिर फिर बंधा मिस यूनिवर्स का ताज

Related posts

नयी चिंता: ‘ओमीक्रॉन’ से भारत में हुई पहली मौत, स्वास्थ्य मंत्रालय ने की पुष्टि, जयपुर का रहना वाला था मरीज

Pramod Kumar

अंतरराष्ट्रीय हॉकी खिलाड़ी गोपाल भेंगरा का लंबी बीमारी के बाद निधन, सुनील गावस्कर करते थे मदद

Manoj Singh

T20 World Cup 2022: भारत-पाकिस्तान फिर होंगे आमने-सामने, आईसीसी ने जारी किया शेड्यूल

Pramod Kumar