समाचार प्लस
Breaking फीचर्ड न्यूज़ स्लाइडर राजनीति

कौन हैं Mallikarjun kharge ? एक मजदूर नेता से कैसे बने गये कांग्रेस अध्यक्ष ?

Who is Mallikarjun Kharge? How did the Congress President become from a labor leader?

Mallikarjun kharge: जैसी संभावनाएं जताई जा रही थी वैसा ही हुआ। मल्लिकार्जुन खड़गे (Mallikarjun kharge) ने कांग्रेस अध्यक्ष का चुनाव जीत लिया है। इस चुनाव में उन्होंने अपने प्रतिद्वंदी उम्मीदवार शशि थरूर को हरा दिया है। मल्लिकार्जुन खड़गे को जहां 7897 वोट मिले वहीं शशि थरूर को करीब एक हजार वोट मिले हैं जबकि 416 वोट रिजेक्ट हुए। करीब 24 साल बाद कांग्रेस को गांधी परिवार से बाहर का नेता बतौर अध्य़क्ष मिला है।

एक मजदूर नेता के तौर पर की थी राजनीति की शुरुआत 

कर्नाटक के कलबुर्गी के रहने वाले मल्लिकार्जुन खड़गे (Mallikarjun kharge) ने अपने राजनीतिक जीवन की शुरुआत एक मजदूर नेता के तौर पर की थी। कर्नाटक के सबसे कद्दावर दलित नेताओं में उनकी गिनती होती है। उन्होंने कॉलेज के दिनों में ही छात्रसंघ का चुनाव जीतकर राजनीति में अपना कदम रख दिया था। वकालत की डिग्री लेने के बाद एक वकील के तौर पर उन्होंने कलबुर्गी में काम शुरू किया और इसी दौरान वे मजदूरों के हितों की लड़ाई लड़ने लगे। इससे उन्हें एक नई पहचान मिली।

इसे भी पढें: मल्लिकार्जुन खडगे बने कांग्रेस अध्यक्ष, शशि थरूर को भारी अंतर से हराया

1972 में गुरमित्कल विधानसभा सीट से जीता चुनाव

1969 में वे कांग्रेस में शामिल हो गए और तीन साल बाद 1972 में गुरमित्कल विधानसभा सीट से उन्होंने चुनाव जीत लिया। इसके बाद 2008 तक लगातार 9 बार विधानसभा चुनाव जीतने का रिकॉर्ड उन्होंने बनाया। इस दौरान वे कर्नाटक सरकार में गृह मंत्री भी बने और प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष का दायित्व भी संभाला।

2009 में लोकसभा चुनाव जीता, दिल्ली की राजनीति में रखा कदम

इसके बाद 2009 के लोकसभा चुनाव में उन्होंने जीत हासिल की और दिल्ली की राजनीति में कदम रखा। वो दो बार लोकसभा चुनाव जीते और केंद्र सरकार में रेल मंत्री और श्रम मंत्री के तौर पर काम करने का मौका मिला। उन्हें गांधी परिवार के करीबी नेता माना जाता रहा है। 2019 का लोकसभा चुनाव खड़गे हार गए लेकिन एक साल बाद ही कांग्रेस ने उन्हें राज्यसभा में भेजा और नेता विपक्ष की जिम्मेदारी दी। खड़गे की पहचान एक दलित नेता के साथ ही एक संघर्षशील नेता के तौर पर भी रही है।

 

इसे भी पढें: लड़की को लड़की से हुई बेइंतहा मोहब्बत, लेकिन फिर प्यार में मिला धोखा, … लड़की ने फोड़ दिया अपनी प्रेमी का सिर

इसे भी पढें: मदर इंडिया के बाद फादर इंडिया… पुत्र की गिरफ्तारी को लेकर 9 दिनों से पिता कर रहे आमरण अनशन

Related posts

Petrol Subsidy: झारखंड में राशनकार्ड धारियों के लिए पेट्रोल सब्सिडी योजना के लिए सीएम ने किया App लांच, जानिए Detail

Sumeet Roy

मंडल की राजनीति की धार तैयार कर रहा है RJD, सात को हर जिले में धरना प्रदर्शन

Manoj Singh

Jharkhand: सोलर पावर प्लांट के माध्यम से रोशन हो रहे दुर्गम गांव, 246 गांवों में पहुंची बिजली

Pramod Kumar