समाचार प्लस
Breaking देश फीचर्ड न्यूज़ स्लाइडर

Weird News : नाम में क्या रखा है? ये है भारत का इकलौता Railway Station जिसका कोई नाम ही नहीं है 

Weird News: This is the only railway station in India which has no name

न्यूज़ डेस्क/ समाचार प्लस झारखंड -बिहार 

Weird News : भारतीय रेल एशिया का दूसरा सबसे बड़ा रेल नेटवर्क है. इतना ही नहीं एकल सरकारी स्वामित्व के मामले में भारतीय रेल विश्व का चौथा सबसे बड़ा रेल नेटवर्क है. हमारे देश में लगभग 8000 से ज्यादा रेलवे स्टेशन हैं. देशभर में ऐसे कई ऐसे स्टेशन ऐसे हैं जो काफी मशहूर हैं तो वहीं कई ऐसे जो किसी ना किसी कारण हमेशा से ही चर्चा का विषय रहे हैं.इसी कड़ी में एक ऐसे रेलवे स्टेशन (Railway Station) का यहां जिक्र किया जा रहा है जिसका कोई नाम ही नहीं है.

नाम को लेकर दो गांव में हुआ विवाद

ये रेलवे स्टेशन पश्चिम बंगाल के बर्धमान से करीब 35 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है. ये रेलवे स्टेशन दो गांवों रैना और रैनागढ़ के बीच बना हुआ है. बताया जाता है कि बांकुरा-मैसग्राम रेल लाइन पर स्थित यह स्टेशन पहले रैनागढ़ के नाम से जाना जाता था. लेकिन रैना गांव के लोगों को ये बात पसंद नहीं आई और दोनों गांवों के बीच स्टेशन के नाम को लेकर झगड़ा शुरू हो गया. इस स्टेशन की बिल्डिंग का निर्माण रैना गांव की जमीन पर किया गया था इसलिए गांव के लोगों का मानना था कि इसका नाम रैना होना चाहिए.

यात्रियों को करना पड़ता है काफी परेशानी का सामना 

स्टेशन के नाम को लेकर झगड़ा रेलवे बोर्ड तक पहुंच चुका है. झगड़े के बाद भारतीय रेलवे ने यहां लगे सभी साइन बोर्ड्स से स्टेशन का नाम मिटा दिया, जिस कारण बाहर से आने वाले यात्रियों को काफी परेशानी का सामना करना पड़ता है. नाम न होने के कारण यात्रियों को दूसरे लोगों से इसके बारे में पूछना पड़ता है. हालांकि रेलवे अभी भी स्टेशन के लिए टिकट इसके पुराने नाम रैनागढ़ से ही जारी करती है.

ये भी पढ़ें : Commendable Initiative : गांव- गांव शिक्षा का अलख जगाती ‘सिनी’, खुद के ज्ञान से युवा भर रहे बच्चों के जीवन में रोशनी

Related posts

Dhanbad के Judge की मौत मामले पर सुप्रीम कोर्ट ने स्वत: लिया संज्ञान, मुख्य सचिव और डीजीपी से रिपोर्ट तलब

Sumeet Roy

Gyanvapi: तो क्या मंदिर में नमाज पढ़ते हैं मुसलमान? क्या इस्लाम देता है इसकी इजाजत?

Pramod Kumar

Jharkhand: फल एवं सब्जियों की खेती कर आय बढ़ा सकते हैं पाटन के किसान – कृषि वैज्ञानिक

Pramod Kumar