समाचार प्लस
Breaking देश फीचर्ड न्यूज़ स्लाइडर

‘हम अन्न सैनिक हैं, आतंकवादी नहीं…’, दुर्गा पंडाल में भी छाया किसान आंदोलन

दुर्गा पंडाल में भी छाया किसान आंदोलन

न्यूज़ डेस्क/ समाचार प्लस झारखंड – बिहार

पश्चिम बंगाल में दुर्गा पूजा धूमधाम से मनाई जाती है। हर साल की तरह इसे लेकर यहां भव्य पंडाल सज चुके हैं, लेकिन इस बार इन पंडालों में किसानों और कृषि बिल को लेकर उनके आंदोलन की झलक नजर आ रही है। पंडालों में इनसे जुड़े स्लोगन और कलाकृतियां नजर आ रही हैं।

किसान आंदोलन को दिखाया जा रहा 

कोलकाता के एक मशहूर दुर्गा पंडाल में इस साल देशभर में किसान आंदोलन को दिखाया जा रहा है। इसके अलावा यूपी के लखीमपुर खीरी में मारे गए किसानों की भी झलक इसमें मिलेगी। शहर के उत्तरी किनारे में दमदम पार्क भारत चक्र पंडाल के प्रवेश द्वार पर किसानों द्वारा इस्तेमाल किए जा रहे ट्रैक्टर की विशाल प्रतिकृति उनके संघर्ष को दर्शाती है।

रास्ते पर लेटे हुए एक किसान का स्केच

फुटपाथ पर एक कार और उसके रास्ते पर लेटे हुए एक किसान का स्केच है जिस पर बांग्ला में एक पंक्ति लिखी गई है – “मोटरगाड़ी उड़े, धुलो नीचे पोड़े चाशिगुलो”, जिसका अर्थ है कि कार धूल का एक गुबार छोड़ती है, किसान इसके पहियों के नीचे गिरते हैं।

सैकड़ों चप्पलें जमीन पर पड़ी हैं

इस पंडाल में नजर आ रहा है कि सैकड़ों चप्पलें जमीन पर पड़ी हैं, जो विरोध के दृश्यों का प्रतीक है। ये बताता है कि पुलिस की कार्रवाई के दौरान कई लोगों के जूते वहीं रह गए। मुख्य पंडाल को छत से लटके धान की प्रतिकृतियों से सजाया गया है।

‘किसानों के शोषण को दिखाना उद्देश्य’ 

इसे बनाने वाले कलाकार ने पीटीआई को बताया कि आंदोलन के दौरान मारे गए किसानों के नाम विशाल ट्रैक्टर पर कागज की चिट पर लिखे गए हैं। इसमें पंख भी लगे हुए हैं। अनिर्बान कहते हैं कि पंख बंधन से मुक्त होने की इच्छा का प्रतीक हैं। पंडाल में लगे एक पोस्टर में लिखा नजर आता है- हम किसान हैं, आतंकवादी नहीं, किसान अन्न सैनिक हैं। पूजा कमेटी के सचिव  कहते हैं कि हम किसानों के शोषण को दिखाना चाहते हैं।

ये भी पढ़ें : धौनी के मन की बात: क्रिकेट से तौबा अभी नहीं, अगले साल भी खेलेंगे आईपीएल, दे दिये संकेत

Related posts

Himachal Pradesh Landslide: प्रकृति ने फिर ढाया कहर, मलबे में दब गयी कई ज़िंदगियां

Sumeet Roy

Jhanvi Kapoor की stylish dress में ऐसी जगह दिखा कट, लोगों की टिक गई नजर

Manoj Singh

Local for Vocal और ‘आत्मनिर्भर भारत’ ने इस दिवाली ड्रैगन का निकाला दम, 50,000 करोड़ के घाटे का फूटा बम

Pramod Kumar

Leave a Comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.