समाचार प्लस
Breaking देश फीचर्ड न्यूज़ स्लाइडर

VastuTips: घर में चाहिए सुख, समृद्धि तो करें ये 10 उपाय, आजमाकर देखें, भरपूर लाभ मिलेगा 

image source : social media

VastuTips: हर व्यक्ति चाहता है कि उसके घर में, उसके जीवन में सुख-शांति और समृद्धि बनी रहे, इसके लिए वह लगातार जी तोड़ परिश्रम करता है। ताकि ना केवल वह अपने जीवन में प्रगति करे, बल्कि अपने परिवार को भी समृद्धशाली बना सके। लेकिन कभी भाग्य साथ देता है और कभी नहीं।घर में अगर सब कुछ वास्तु टिप्स (VastuTips) के अनुसार स्थापित रहे तो आपके घर में धन की देवी मां लक्ष्मी के आगमन को कोई नहीं रोक सकता। लेकिन अगर वास्तु के हिसाब से कुछ गड़बड़ है,  तो धन के आगमन में परेशानी हो सकती है।

घर में जरूरी है सकारात्मक ऊर्जा का प्रवाह 

घर में सकारात्मक ऊर्जा रहने पर परिवार में आर्थिक समृद्धि, सुख, वैभव का आगमन तो होता ही है साथ ही स्वास्थवर्धक माहौल भी बना रहता है। वहीं घर में नकारात्मक ऊर्जा होने पर आर्थिक हानि, काम ना बनना, रोग बीमारी और परिवार में मतभेद बने रहते हैं।वास्तु के अनुसार अगर घर में किसी भी तरह का वास्तु संबंधी कोई दोष होता है तो व्यक्ति के जीवन में रुकावटें और धन की हानि होती है।आइये जानते हैं उन 10 वास्तु टिप्स को जिनका पालन कर व्यक्ति धन -धान्य से परिपूर्ण हो जाता है।

image source : social media
image source : social media

(1) भगवान कुबेर धन और समृद्धि के देवता हैं। उत्तर-पूर्व दिशा भगवान कुबेर द्वारा शासित माना जाता है, इसलिए घर में सभी खाली पड़े स्थान जो नकारात्मक ऊर्जा पैदा करते हैं, को तुरंत हटा दिया जाना चाहिए। भारी फर्नीचर और जूते के रैक हटा देना चाहिए।

image source : social media
image source : social media

(2) वास्तु में जहां मंदिर के लिए पूर्व दिशा के लिए को अच्छा माना गया है, वहीँ धूप पूजन सामग्री रखने के लिए दक्षिण पूर्व दिशा को ही बेहतर माना गया है।

(3) वास्तु के अनुसार अपने ड्राइंग रुम में पक्षियों की तस्वीर लगाना शुभ माना जाता है, घर के हाल में उड़ते हुए पक्षियों की तस्वीर लगाने से निश्चित लाभ मिलता है।
(4) घर में सात घोड़ों की तस्वीर लगाना भी शुभ माना जाता है। इससे घर में सकारात्मक ऊर्जा का प्रवाह होता है और लक्ष्मी का आगमन होता है। सात घोड़े वाले  सूर्यदेव के रथ वाली तस्वीर हमेशा पूर्व दिशा में ही लगानी चाहिए।

(5) घर में तुलसी के पौधे को सही दिशा में लगाना चाहिए। ऐसा न करने पर इसका  विपरीत प्रभाव पड़ सकता है। घर में तुलसी के एक के साथ कई पौधे लगाए जा सकते हैं। अगर घर के उत्तर पूर्व में तुलसी के पांच पौछे लगाएंगे तो निश्चित तौर पर लाभ होगा।

(6) वास्तु शास्त्र के अनुसार, आर्थिक स्थिरता सुनिश्चित करने के सर्वोत्तम तरीकों में से एक है अपने धन को घर के पृथ्वी के कोने-दक्षिण-पश्चिम में बढ़ाना। अपने सभी आभूषण, धन और महत्वपूर्ण वित्तीय दस्तावेज दक्षिण-पश्चिम में , उत्तर या उत्तर-पूर्व की ओर रखें। इस दिशा में रखी गई कोई भी चीज कई गुना बढ़ जाती है।

(7) अपने घर के उत्तर-पूर्व कोने को स्वच्छ रखें। पूरे घर के उत्तरी हिस्से की उत्तरी दीवार पर लगा दर्पण या कुबेर यंत्र नए आर्थिक अवसरों को सक्रिय करना शुरू करता है।

(8) ध्यान दें कि यदि तिजोरियां दक्षिण या पश्चिम दिशा की ओर हैं, तो इससे बेमतलब के ज्यादा खर्च होंगे।  लॉकर को इस प्रकार रखें,  ताकि उसका दरवाजा उत्तर या उत्तर-पूर्व दिशा की ओर खुल जाए, आर्थिक समस्याओं और भारी खर्चों से बचा जा सकता है।

(9)अपने घर को स्वच्छ और अव्यवस्था और अनावश्यक घरेलू सामान और सजावट से मुक्त रखें। घर के माध्यम से बहने वाली ऊर्जा आपके रिश्तों, स्वास्थ्य और धन को संभालने के लिए जिम्मेदार है, इसलिए सुनिश्चित करें कि आपके लिविंग रूम में केंद्रीय स्थान साफ सुथरा और अनावश्यक वस्तुओं से मुक्त हो।

(10) घर के माध्यम से बहने वाली ऊर्जा आपके रिश्तों, स्वास्थ्य और वित्त को संभालने के लिए जिम्मेदार है, इसलिए सुनिश्चित करें कि आपके लिविंग रूम में केंद्रीय स्थान साफ सुथरा और अनावश्यक वस्तुओं से मुक्त हो।

(11) एक्वेरियम और वॉटर फाउंटेन अगर आप लगा सकते हैं तो इसे लगाएं। बस इस बात का ध्यान रखें कि पानी ठहरे नहीं और गंदा न हो जाए। इसे नियमित रूप से साफ करें, क्योंकि घर में रुका हुआ पानी आर्थिक विकास में बाधा उत्पन्न कर सकता है।

उपरोक्त टिप्स के अलावा हम कुछ और बातों का जिक्र कर रहे हैं जिसे करने से घर में सुख शांति और समृद्धि का आगमन होता है।

घर के अंदर लगे हुए मकड़ी के जाले,धूल-गंदगी को समय-समय पर हटाने से घर में नकारात्मक ऊर्जा नहीं रहती। पार्किंग हेतु उत्तर-पश्चिम स्थान प्रयोग में लाना शुभ माना गया है। घर में बनी हुई क्यारियों या गमलों में लगे हुए पौधों को नियमित रूप से पानी देना चाहिए। यदि कोई पौधा सूख जाए तो उसे तुरंत वहां से हटा दें। दक्षिण-पश्चिम दिशा में ओवरहैड वाटर टैंक की व्यवस्था करना लाभप्रद रहता है।

(Disclaimer: यहां दी गई जानकारी सामान्य मान्यताओं और जानकारियों पर आधारित है. समाचार प्लस झारखंड बिहार इसकी पुष्टि नहीं करता है.)

ये भी पढ़ें : UGC: अब बिना NET- PhD के भी बन सकेंगे प्रोफेसर, इस तरह होगी सीधी नियुक्ति

 

Related posts

Coronavirus Updates: कोरोना की रफ्तार और हुई तेज, देश में बीते 24 घंटे में 3.17 लाख मरीज, बिहार – झारखंड में मिले इतने संक्रमित

Manoj Singh

Solar Energy आधारित सिंचाई फसल उत्पादन में बन रहा बदलाव का वाहक, कृषक परिवार हो रहे लाभान्वित

Manoj Singh

6th JPSC Exam: छठी जेपीएससी की मेरिट लिस्ट को लेकर सुनवाई आज

Manoj Singh