समाचार प्लस
Breaking झारखण्ड देश फीचर्ड न्यूज़ स्लाइडर

Vaccination: पीएम गला फाड़ रहे, झारखंड के नौ जिले सो रहे, सीएम हेमंत समेत 5 माननीयों के जिले पिछड़े

Vaccination

न्यूज डेस्क/ समाचार प्लस – झारखंड

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी वैक्सीनेशन की गति बढ़ाने के लिए अपनी एड़ी चोटी का जोर लगाये हुए  हैं, ताकि इस साल के अंत तक पूर्ण वैक्सीनेशन का लक्ष्य पूरा कर लिया जाये। लेकिन देश में झारखंड जैसे कई ऐसे राज्य हैं जहां वैक्सीनेशन की रफ्तार काफी धीमी है। इसी को लेकर इटली दौरे से लौटने के बाद मोदी वैक्सीनेशन को गति देने के अभियान में जुट गये हैं। इसी को लेकर प्रधानमंत्री ने बुधवार को कई राज्यों के मुख्यमंत्रियों, जिलों के जिलाधिकारियों से बात की। झारखंड, मणिपुर, नगालैंड, अरुणाचल प्रदेश, महाराष्ट्र और मेघालय सहित अन्य राज्यों के 40 से ज्यादा जिले ऐसे हैं, जहां 50 फीसदी से कम पहली डोज लगी है और दूसरी डोज की रफ्तार भी धीमी है। इस बैठक में झारखंड के स्वास्थ्य मंत्री, मुख्य सचिव और 9 जिलों के डीसी शामिल हुए।

पीएम ने सभी जिलाधिकारियों से कहा कि वे अपने जिलों में एक-एक गांव, एक-एक कस्बे के लिए अलग रणनीति तैयार करें। अपने क्षेत्र के हिसाब से 20-25 लोगों की टीम बनाकर काम करें।

माननीयों के जिले ही जब पिछड़े तब क्यों न पिछड़े झारखंड

हैरानी बात यह है कि इन पिछड़े जिलों में झारखंड में मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन समेत उनकी कैबिनेट के चार मंत्रियों के जिले टीकाकरण में पिछड़े हुए हैं। इनमें सबसे खराब स्थिति झामुमो विधायक सह पेयजल एवं स्वच्छता मंत्री मिथिलेश ठाकुर का जिला गढ़वा है। यहां सिर्फ 15.46 प्रतिशत लोगों को दोनों डोज मिल पाये हैं। मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन का साहिबगंज जिला दूसरे नम्बर पर है। यहां 15.76 प्रतिशत लोगों को ही दोनों डोज लगे हैं। तीसरे स्थान पर कांग्रेस विधायक सह ग्रामीण विकास मंत्री आलमगीर आलम के पाकुड़ जिले में सिर्फ 16.61 प्रतिशत लोगों को दोनों डोज मिले हैं। चौथे स्थान पर झामुमो विधायक सह महिला एवं बाल विकास मंत्री जोबा मांझी का पश्चिम सिंहभूम जिला है। यहां 20.55 प्रतिशत लोगों को दोनों डोज लग पाये हैं। पांचवां जिला देवघर है। यहां 21.16 प्रतिशत लोगों को दोनों डोज मिले हैं। इस जिले का प्रतिनिधित्व झामुमो विधायक सह खेल एवं अल्पसंख्यक कल्याण मंत्री हफीजुल हसन करते हैं। इन पांच जिलों के अलावा गिरिडीह, गोड्डा, लातेहार और गुमला जिलों का प्रदर्शन भी खराब ही है।

झारखंड के पिछड़े नौ जिलों में वैक्सीनेशन की क्या है हालत?

झारखंड के नौ जिले ऐसे हैं जहां जहां 50% से कम टीकाकरण हुआ है। ये जे हैं-

  • पाकुड़ – 37.1%
  • साहिबगंज – 39.2%
  • गढ़वा –  42.7%
  • देवघर – 44.7%
  • पश्चिम सिंहभूम – 47.8%
  • गिरिडीह – 48.1%
  • लातेहार – 48.3%
  • गोड्डा – 48.3%
  • गोड्डा – 49.9%

 

पूरे झारखंड में 38 लाख लोगों ने नहीं लिया पहला डोज

राज्य में अभी भी 18 वर्ष से ऊपर की उम्र के तकरीबन 38 लाख लोगों ने वैक्सीन का पहला डोज भी नहीं लिया है। 22 लाख से भी ज्यादा लोग ऐसे हैं, जिन्होंने टीके का दूसरा डोज नहीं लिया है। इसके लोकर स्वास्थ्य विभाग के अपर मुख्य सचिव अरुण कुमार सिंह ने राज्य के सभी जिलों के उपायुक्तों को ऐसे लोगों को टीके दिलाने के लिए सघन अभियान चलाने का निर्देश दिया है।

‘हर घर दस्तक’ अभियान में सहिया, आंगनबाड़ी सेविका और एएनएम

‘हर घर दस्तक’अभियान में राज्य की सहिया, आंगनबाड़ी सेविका, एएनएम आदि को जोड़ा गया है। प्रमुख चौक-चौराहों के आस-पास भी टीकाकरण के अस्थायी केंद्र बनाये जा रहे हैं। गांवों में टीकाकरण के लिए चलंत कैंप भी लगाये जा रहे हैं। उपायुक्तों को कहा गया है कि वे शुक्रवार, शनिवार और रविवार को टीकाकरण के लिए वृहत अभियान चलायें और खुद इसकी मॉनटरिंग करें।

भाजपा ने  झारखंड सरकार को घेरा

झारखंड के कई जिलों, खासकर राज्य के प्रमुख माननीयों के जिलों के वैक्सीनेशन में पिछड़ने से विपक्ष को घेरने के लिए भाजपा को एक बड़ा मौका मिल गया है। भाजपा प्रदेश अध्यक्ष दीपक प्रकाश ने कहा कि सीएम की कथनी और करनी में अंतर साफ दिखता है। वर्तमान सरकार हर मोर्चे पर फेल है। आम जनता के स्वास्थ्य की इस सरकार को कोई चिंता नहीं है। दीपक प्रकाश ने कहा कि इससे बड़ा दुर्भाग्य क्या हो सकता है कि सीएम के जिले की ही स्थिति खराब है। उन्होंने अभियान चलाकर टीकाकरण को गति देने का सुझाव दिया।

यह भी पढ़ें: Politics: पंजाब में कांग्रेस की एक नयी चिंता, कहीं टूट न जाये पार्टी, भारी पड़ेगा अमरिंदर का ‘हाथ’ छोड़ना

Related posts

नभः स्पृशं दीप्तम: बार-बार दुश्मनों के छक्के छुड़ाने वाली भारतीय वायुसेना का 89वां स्थापना दिवस आज

Pramod Kumar

Jharkhand हुआ Unlock: रविवार को अब नहीं होगी बंदी, दीपावली और छठ को लेकर भी मिली छूट

Sumeet Roy

शिक्षा-क्षेत्र के  लिए Bihar के Education Minister ने किया e-Sambandhan Portal का लोकार्पण, आयेगी पारदर्शिता, भ्रष्टाचार की गुंजाइश खत्म

Pramod Kumar

Leave a Comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.