समाचार प्लस
Breaking अंतरराष्ट्रीय देश फीचर्ड न्यूज़ स्लाइडर

Ukraine Crisis: रूस ने भारतीयों को सुरक्षित निकालने में की मदद! 5.5 घंटे किया सीजफायर

Ukraine Crisis: Russia helped to rescue Indians! ceasefire

न्यूज डेस्क/ समाचार प्लस – झारखंड-बिहार

रूस ने शनिवार को यूक्रेन से नागरिकों, खासकर भारतीय नागरिकों, को निकालने के लिए मानवीय गलियारे खोलने के लिए संघर्ष विराम की घोषणा की है। रूसी रक्षा मंत्रालय ने कहा, “आज, 5 मार्च, सुबह 10 बजे से, रूसी पक्ष ने सीज फायर की घोषणा की है और मारियुपोल और वोल्नोवाखा से नागरिकों के बाहर निकलने के लिए मानवीय गलियारे खोले हैं।” मंत्रालय ने बताया कि गलियारों के खुलने से मारियुपोल और वोल्नोवाखा शहरों के निवासियों को ये शहर छोड़ने में मदद मिलेगी। भारतीय समय के अनुसार सुबह 11.30 सीजफायर लागू हो चुका है। इस दौरान यूक्रेन के वॉर जोन में फंसे भारतीय और अन्य विदेशी नागरिकों की सुरक्षित निकासी की जा रही है।

जर्मन चांसलर से रूसी राष्ट्रपति ने की बात

विदेशी नागरिकों को यूक्रेन से बाहर निकालने में जो कठिनाइयां हो रही हैं, उस संबंध में रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने जर्मन चांसलर ओलाफ स्कोल्ज़ से फोन पर बातचीत की। उन्होंने कहा कि यूक्रेन के दक्षिणपंथी कट्टरपंथियों की वजह से विदेशी देशों के नागरिकों को देश से बाहर निकलने में समस्या हो रही है। इस बातचीत के बाद जर्मन सरकार के प्रवक्ता स्टीफन हेबेस्ट्रेइट ने कहा कि चांसलर ओलाफ स्कोल्ज ने रूसी नेतृत्व से शत्रुता समाप्त करने और संकटग्रस्त क्षेत्रों में मानवीय पहुंच की अनुमति देने का आह्वान किया है।

बता दें, पूर्वी यूक्रेन के खारकीव और सूमी शहरों में अभी भी भारतीय छात्र और अन्य विदेशी नागरिक फंसे हुए हैं। उनको बाहर निकालने के लिए क्रॉसिंग पॉइंट तैयार किया जा रहा हैरूस के एम्बेसडर ने आरोप लगाया कि यूक्रेन ने 3700 से अधिक भारतीय नागरिकों को पूर्वी यूक्रेन के खारकीव और सूमी शहरों में बलपूर्वक रोक कर रखा है।

रूस के युद्धविराम करने से भारत समेत अन्य देशों को अपने नागरिकों के लिए सेफ कॉरिडोर बनाने का मौका मिल गया है। भारत ने वैसे आज खारकीव और पिसतोचिन से बसों के काफिले की व्यवस्था की थी और इसके जरिए अपने फंसे हुए सभी छात्रों और नागरिकों को निकालकर रूस तक पहुंचाने का फैसला किया था। लेकिन साढ़े 5 घंटे के युद्धविराम से भारत को इस काम में और कामयाबी मिलने के पूरे आसार हैं। बता दें, भारत ने रूस से युद्धविराम का आग्रह किया था, ताकि सभी देश अपने नागरिकों को यूक्रेन से निकाल सकें।

यह भी पढ़ें: ICC Women’s World Cup: भारत के सिर क्या इस बार सजेगा ताज? मिताली राज के नेतृत्व में कल पाकिस्तान के खिलाफ आगाज

Related posts

औरंगाबाद: छापेमारी के दौरान ट्रक से भारी मात्रा में देसी शराब बरामद, 4 तस्कर फरार

Manoj Singh

ICSE और ISCE Board के स्टुडेंट्स का इंतजार खत्म, कल जारी होंगे 10वीं और 12वीं के परीक्षा परिणाम

Pramod Kumar

Bihar’s Secular Village: नालंदा के माड़ी गांव में कोई मुस्लिम नहीं, पर पांचों वक्त होती है अजान

Manoj Singh