समाचार प्लस
Breaking देश फीचर्ड न्यूज़ स्लाइडर बिहार

नीतीश कुमार को ‘PM मटेरियल’ बताए जाने के बाद सूबे की सियासत हुई गर्म, सुशील मोदी अब सवालों से काट रहे ‘कन्नी’

नीतीश कुमार को 'PM मटेरियल' बताए जाने के बाद सूबे की सियासत हुई गर्म

न्यूज डेस्क/ समाचार प्लस – झारखंड-बिहार

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को जेडीयू नेताओं द्वारा पीएम मटेरियल बताए जाने के बाद सूबे की सियासत गर्म हो गई है . जेडीयू नेता जहां अपने स्टैंड पर टिके हुए हैं. वहीं, बीजेपी नेता या तो इस मुद्दे पर प्रतिक्रिया देने से बच रहे हैं, या फिर पीएम नरेंद्र मोदी को ही प्रधानमंत्री पद का असली दावेदार बता रहे हैं. इसी क्रम में बिहार के पूर्व उपमुख्यमंत्री सुशील मोदी जो लंबे समय तक नीतीश कुमार ने सवाल इस सवाल से पल्ला झाड़ लिया.

सवालों से किया किनारा

कभी मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को प्रधानमंत्री बनने के योग्य बताने वाले सुशील मोदी से जब मंगलवार को पत्रकारों ने पूछा कि क्या सीएम नीतीश कुमार वाकई पीएम मटेरियल हैं, तो उन्होंने कहा कि ये सब कोई मुद्दा नहीं है और इसपर मुझे कोई टिप्पणी नहीं करनी है.

पिछड़ों और गरीबों के लिए अगर कोई सोचता है, तो वो PM नरेंद्र मोदी

उन्होंने पत्रकारों से बात करते हुए कहा, ” इस देश के अंदर पिछड़ों, गरीबों, अनुसूचित जाति-जनजाति, ऊंचे वर्ग के गरीबों के लिए अगर किसी ने काम किया है, तो वो है बीजेपी . इनके लिए केवल नरेंद्र मोदी ने काम किया है. पिछड़ों और गरीबों के लिए अगर कोई सोचता है, तो वो गरीब का बेटा नरेंद्र मोदी सोचता है. इनके लिए अगर कुछ भी करना होगा तो नरेंद्र मोदी ही करेंगे. कांग्रेस और आरजेडी के लोग ये नहीं कर सकते.”

IAS अफसरों को लालू यादव का पीक दान उठाते देखा है-सुशील मोदी

राज्य में अफसरशाही पर तेजस्वी यादव द्वारा उठाए गए सवाल पर सुशील मोदी ने कहा कि उनके सवाल जवाब देने लायक ही नहीं हैं. उनके माता-पिता के कार्यकाल में जो आईएएस होते थे, वो खैनी लगाते थे. खैनी लगाकर मुख्यमंत्री को खिलाते थे. हमने IAS अफसरों को लालू यादव का पीक दान उठाते देखा है. अफसर चाहिए जो आईएएस मुख्यमंत्री का पीक दान उठाए, खैनी मलकर खिलाए, तो उन्हीं को मुबारक हो ऐसी अफसरशाही.

ये भी पढ़ें : तालिबान के पास अमेरिकी हथियारों का जखीरा, 8.84 लाख हथियार और फौजी साजो-सामान अफगानिस्तान छोड़ आया US

Related posts

रेलवे ने निकाली ग्रुप C पदों पर भर्तियां, सभी पद अनारक्षित

Manoj Singh

ट्रायफेड और बिग बास्केट के बीच एमओयू, झारखंड के जनजातीय क्षेत्रों के उत्पादों को मिलेगा अंतरराष्ट्रीय बाजार

Pramod Kumar

बदलाव : भारत के इस राज्य में अब बिना विपक्ष के चलेगी सरकार, सभी पार्टियों ने मिलाया हाथ

Manoj Singh

Leave a Comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.