समाचार प्लस
बिहार

घटेगी बिहार विधान परिषद की ताकत, 20 MLC का कार्यकाल आज होगा समाप्त, चार पद पहले से खाली

पटना : बिहार में विधानसभा का मानसून सत्र शुरू होना है, मगर इस दौरान राज्य विधान परिषद की ताकत कम हो जाएगी। ऐसा इसलिए, क्योंकि स्थानीय निकायों से चुने गए 20 और एमएलसी का कार्यकाल शुक्रवार को समाप्त हो रहा है। राज्य विधानसभा के 4 सीटें पहले से ही खाली हैं। ये सीटें पटना, भागलपुर-बांका, सीतामढ़ी-शिवहर और दरभंगा शामिल की हैं। रिटायर हो रहे विधान पार्षदों में सबसे ज्यादा बीजेपी से हैं। अभी बीजेपी के 26 एमएलसी सदन में हैं, जिनमें इस कोटे से 12 विधान पार्षद हैं। हालांकि, इनके रिटायर होने के बाद सदन में बीजेपी 14 एमएलसी रह जाएंगे।
इनका कार्यकाल हो रहा समाप्त
जिन विधान पार्षदों का कार्यकाल खत्म हो रहा है उनमें संतोष कुमार सिंह, टुन्नाजी पांडेय, सलमान रागिब, रीना यादव, राधाचरण साह, मनोरमा देवी, राजन कुमार सिंह, सच्चिदानंद राय, बबलू गुप्ता, दिलीप कुमार जायसवाल, संजय प्रसाद, अशोक कुमार अग्रवाल, दिनेश प्रसाद सिंह, सुबोध कुमार, हरिनारायण चौधरी, राजेश राम, नूतन सिंह, सुमन कुमार, आदित्य नारायण पांडेय और रजनीश कुमार हैं शामिल हैं।
बिहार विधान परिषद की सदस्य संख्या
विधान परिषद में 75 सीटें हैं। कुल मिलाकर 27 विधान पार्षद विधान सभा के सदस्यों द्वारा चुने जाते हैं, 24 स्थानीय निकायों के प्रतिनिधियों द्वारा, छह-छह शिक्षक और स्नातक निर्वाचन क्षेत्रों से और 12 राज्यपाल के कोटे से मनोनीत होते हैं। उच्च सदन में सत्तारूढ़ दल (जेडीयू) की सचेतक रीना यादव, ने कहा कि वह पंचायत चुनावों के बाद दिसंबर या जनवरी तक एमएलसी चुनाव की उम्मीद कर रही हैं। रीना यादव का कार्यकाल भी समाप्त हो रहा है।
ये भी पढ़ें : नीतीश के पूर्ण शराबबंदी वाले बिहार में एक औऱ जहरीली शराब कांड: बेतिया में अब तक 9 की मौत, दर्जनों की हालत गंभीर

Related posts

डूबती नैया को बचाने की जुगत में Congress, झारखंड -बिहार के संगठन का भी बदलेगा चेहरा

Manoj Singh

सहारा प्रमुख सुब्रत राय को राहत, सुप्रीम कोर्ट ने पटना HC के गिरफ्तारी वारंट पर लगाई रोक

Manoj Singh

बिहार के मोतिहारी में बड़ा हादसा, नाव पलटने से 22 लोग डूबे, रेस्क्यू ऑपरेशन जारी

Manoj Singh