समाचार प्लस
Breaking खेल फीचर्ड न्यूज़ स्लाइडर

T20 WC: फाइनल कल, कौन मारेगा मैदान? पाकिस्तान की नजर 1992 दोहराने पर, इंगलैंड बेफिक्र

T20 WC: Final tomorrow, Pakistan eye 1992 repeat, England worried

न्यूज डेस्क/ समाचार प्लस – झारखंड-बिहार

टी-20 वर्ल्ड कप फाइनल मुकाबले में रविवार को पाकिस्तान और इंग्लैंड की टीमें आमने सामने होंगी। इस फाइनल की सबसे बड़ी विशेषता यह है कि 30 साल बाद दोनों टीमें वर्ल्ड कप फाइनल में एक-दूसरे के खिलाफ भिड़ने वाली हैं। विपरीत परिस्थितियों से उबर कर और न्यूजीलैंड को सेमीफाइनल में हराकर पाकिस्तान फाइनल में पहुंचा है। हालांकि भारत के फाइनल में नहीं पहुंचने से पाकिस्तान फिलहाल अतिरिक्त दबाव में नहीं होगा। लेकिन दूसरी ओर इंगलैंड शुरुआती लड़खड़ाहट के बाद जिस तरह से सेमीफाइनल में पहुंचा और भारत को एकतरफा मात देते हुए फाइनल का सफर तय किया है, उसके उसके हौसले पूरी तरह से बुलंद हैं। सबसे बड़ी बात यह है कि इंगलैंड अति आत्मविश्वास में रहने वाली टीम नहीं है, इंगलैंड बहुत ही संतुलित रणनीति से खेलने वाली टीम है। इसलिए उस पर फिलहाल कोई अतिरिक्त दबाव नहीं है।

पाकिस्तान 1992 दोहराना चाह रहा

खेल प्रेमियों को 1992 में खेला गया विश्व कल आज भी याद होगा। इमरान खान की अगुवाई में पाकिस्तान की टीम बड़ी मुश्किल से सेमीफाइनल में पहुंची थी। उसके बाद उसने पीछे मुड़कर नहीं देखा। पाकिस्तान ने पहले न्यूजीलैंड को सेमीफाइनल में पराजित किया और उसके बाद इंगलैंड को फाइनल में मात देकर विश्व चैम्पियन बन गया था। इस बार की भी कहानी कुछ ऐसी ही है, इस बार भी पाकिस्तान शुरू के दो मैच हारने के बाद, और किस्मत से दक्षिण अफ्रीका के नीदरलैंड्स जैसी टीम से हार जाने के कारण सेमीफाइनल में पहुंच पाया था। सेमीफाइनल में यहां भी मुकाबला न्यूजीलैंड से ही हुआ और उसे मात देकर फाइनल में पहुंच गया। 1992 में इंगलैंड की टीम शान से सेमीफाइनल तक पहुंची थी, सेमीफाइल में दक्षिण अफ्रीका से उसका मुकाबला हुआ। दक्षिण अफ्रीका को हराकर इंगलैंड फाइनल में पहुंचा, लेकिन पाकिस्तान ने उसे चित कर दिया था।

अबकी बार इंग्लैंड करेगा वार

वैसे क्रिकेट पेपर पर नहीं, मैदान पर खेली जाती है। पेपर पर इंगलैंड मजबृत भी दिख रही है और टीम पाकिस्तान की तुलना में मजबूत है भी। पाकिस्तान की तुलना में इंगलैंड की बल्लेबाजी में गहराई है, और गेंदबाजी भी पाकिस्तान की तुलना में ज्यादा सटीक है। इंगलैंड एक-दो बल्लेबाजों और एक-दो गेंदबाजों पर निर्भर नहीं है। इंग्लैंड के पास जोस बटलर और एलेक्स हेल्स जैसे तूफान हैं तो मिडल ऑर्डर में बेन स्टोक्स, हैरी ब्रुक, लियाम लिविंगस्टोन और मोइन अली भी जैसे मैच विनर हैं। मार्क वुड के बारे में फिलहाल नहीं कहा जा सकता कि वह फाइनल में खेलेंगे या नहीं, लेकिन क्रिस वोक्स और सैम कुरेन इंगलैंड की गेंदबाजी की बागडोर बखूबी सम्भाल सकते हैं। वैसे पाकिस्तान की गेंदबाजी को कम कर नहीं आंका जा सकता। शाहीन अफरीदी के नेतृत्व में पाकिस्तानी तेज गेंदबाजी की बागडोर है। फिर भी एक बात याद रखनी होगी कि  टी20 ऐसा खेल है कि यहां एक-दो खिलाड़ी ही पासा पलट देते हैं। फिलहाल, फाइनल जो भी जीते, वेस्ट इंडीज के बाद दूसरी टीम बन जायेगा जो दूसरी बार खिताब पर कब्जा करेगा।

यह भी पढ़ें: Jharkhand: CM हेमन्त से मिले SC, ST कर्मचारी संघों के प्रतिनिधि, स्थानीयता नीति के लिए जताया आभार

Related posts

ITBP Bus Accident: कश्मीर में ITBP जवानों को लेकर जा रही बस खाई में गिरी; कई शहीद, 30 घायलों में कई की हालत गंभीर

Manoj Singh

शरद यादव से मिले लालू प्रसाद, बोले- चिराग और तेजस्वी को साथ देखना चाहता हूं

Manoj Singh

Petrol Diesel Price: पेट्रोल-डीजल के नए रेट जारी, चुनाव के बाद महंगा हुआ या सस्ता, यहां देखें आपके शहर में क्या हैं तेल के ताजा भाव

Sumeet Roy