समाचार प्लस
Breaking फीचर्ड न्यूज़ स्लाइडर बिहार मुजफ्फरपुर

मुजफ्फरपुर के AIG Prashant Kumar के पटना समेत 3 ठिकानों में SVU की रेड; भारी मात्रा में कैश-जेवरात बरामद

image source : social media

निबंधन विभाग के AIG प्रशांत कुमार (Prashant Kumar) एसवीयू (SVU raid)की टीम ने प्रशांत कुमार के तीन ठिकाने पर एक साथ छापेमारी की है। इसमें 2 करोड़ से अधिक आय के सम्पत्ति के सबूत मिले हैं। ऐसी सम्भावना है कि जांच में यह भ्रष्टाचार की दोगुना से अधिक हो सकता हैं। जानकारी के मुताबिक अभी तक की कार्रवाई में काफी नकद और सोने चांदी के जेवरात बरामद किए गए हैं।

आय से अधिक करोड़ों की सम्पत्ति

बताया जा रहा है कि भ्रष्टाचार में लिप्त निबंधन विभाग के AIG प्रशांत कुमार लग्जरी जिंदगी जी रहे थे। जानने वाले बताते हैं कि प्रशांत कुमार बिना रिश्वत लिये कोई काम नहीं करते थे। इसको लेकर एसवीयू को गुप्त सूचना मिली थी कि मुजफ्फरपुर के एआरजी प्रशांत कुमार के पास आय से अधिक करोड़ों की सम्पत्ति है ।

image source : social media
image source : social media

इन ठिकानों की ली जा रही तलाशी 

एसवीयू के एडीजी नैय्यर हसनैन खां ने भ्रष्टाचार एवं आय से अधिक सम्पत्ति के मामले की जांच के लिए टीम गठित किया। आरोप सही पाए जाने के बाद प्रशांत कुमार के खिलाफ एसवीयू ने कांड संख्या 15/22 दर्ज किया गया । फिर धावा दल गठित किया गया। बिहार एसवीयू मुजफ्फरपुर में तैनात AIG प्रशांत कुमार के पटना, मुजफ्फरपुर और सीवान स्थित ठिकानों पर तलाशी ले रही है। प्रशांत कुमार के खिलाफ आय से 2 करोड़ रुपये ज्यादा संपत्ति अर्जित करने का मामला दर्ज करने के बाद एसयूवी छापेमारी करने पहुंची।प्रशांत कुमार की पोस्टिंग अभी मुजफ्फरपुर जिले के तिरहुत प्रखंड में है।

ऐसे आए एसवीयू के निशाने पर 

बताया जा रहा है कि रजिस्ट्रार और सब रजिस्ट्रार रहते हुए प्रशांत कुमार ने अकूत संपत्ति अर्जित की। इसके बाद वे एसवीयू के निशाने पर आ गए। जांच एजेंसी की नजर लंबे समय से प्रशांत कुमार पर थी, पुख्ता सबूत मिलने के बाद केस दर्ज किया और फिर टीम गुरुवार को छापेमारी करने पहुंच गई। इस मामले में और भी कई खुलासे हो सकते हैं।

ये भी पढ़ें : Nawada News: बिहार के नवादा में कर्ज से परेशान परिवार के 6 लोगों ने खाया जहर, 5 की मौत

 

Related posts

सड़कों पर ईमानदार अफसरों का फिर बहा खून, अबकी बार उत्तर प्रदेश शिकार

Pramod Kumar

बाबूलाल की याचिका पर सुनवाई, कांग्रेस विधायक Dipika Pandey को नोटिस

Manoj Singh

रांची प्रेस क्लब के अध्यक्ष राजेश सिंह बैठे धरने पर, कहा-आरोपी की गिरफ्तारी तक जारी रहेगा धरना

Manoj Singh