समाचार प्लस
Breaking अंतरराष्ट्रीय देश फीचर्ड न्यूज़ स्लाइडर

Supermoon: आज दिखेगा साल का सबसे बड़ा सुपरमून, धरती के करीब आ जाएगा चांद

image source : social media

Supermoon: इस साल के पिछले माह भी सुपरमून (Supermoon) दिखा था. उस वक़्त बहुत से लोग इसे देखने से चूक गए थे, यदि आप भी इस अद्भुत नज़ारे को नहीं देख पाए तो बुधवार यानी आज इसका दीदार कर सकते हैं.

image source : social media
image source : social media

बुधवार को चंद्रमा की कक्षा उसे पृथ्वी के सामान्य से अधिक नजदीक लाएगी. इस खगोलीय घटना को सुपरमून कहा जाता है. यह एक खगोलीय घटना है जिसके दौरान चंद्रमा पृथ्वी के सबसे करीब होता है. आज यानि 13 जुलाई यानी आज बुधवार एक बार फिर से आप इस सुपरमून को देख सकते हैं जो कि इस साल का सबसे बड़ा सुपरमून होने जा रहा है. इस सुपरमून को buck moon भी कहा जाता है.

इसलिए कहा जाता है Buck moon

Mississippi State University’s Deer Ecology and Management Lab के मुताबिक जुलाई के महीने में आने वाले इस सुपरमून को Buck Moon इसलिए कहा जाता है क्योंकि जून- जुलाई के महीने के दौरान नर हिरन के सींग तेजी से विकसित होते हैं या बढ़ते हैं और इस दौरान अपने सबसे बड़े आकर में होते हैं और इनके सींग हर हफ्ते करीब 2 -2 इंच तक बड़े हो सकते हैं.

image source : social media
image source : social media

2022 का यह सबसे बड़ा और दूसरा सुपरमून

नासा के मुताबिक, 2022 का यह सबसे बड़ा और दूसरा सुपरमून इस हफ्ते तीन दिन तक रहेगा. अमेरिकी अंतरिक्ष एजेंसी का कहना है कि, ‘चंद्रमा इस समय के आसपास लगभग तीन दिनों तक, मंगलवार की सुबह से शुक्रवार की सुबह तक दिखाई देगा.

इसलिए है साल का सबसे बड़ा और चमकीला supermoon

जुलाई का फुल बक मून इस साल किसी भी अन्य पूर्ण चंद्रमा की तुलना में पृथ्वी के करीब परिक्रमा करता है, जिससे यह 2022 का सबसे बड़ा और सबसे चमकीला सुपरमून बन जाता है. अपने निकटतम बिंदु पर, बक मून पृथ्वी से 357,264 किमी दूर होगा, इसलिए यह जून के स्ट्राबेरी चंद्रमा से बाहर निकलता है.

धरती और चंद्रमा के बीच की दूरी सबसे कम हो जाएगी

13 जुलाई को धरती और चंद्रमा के बीच की दूरी सबसे कम हो जाएगी। सुपरमून के दौरान चंद्रमा की दूरी धरती से सिर्फ 3,57,264 किलोमीटर रहेगी। सुपरमून का असर समुद्र भी दिखाई देगा। सुपरमून की वजह से समुद्र में उच्च और कम ज्वार की बड़ी श्रृंखला देखी जा सकती है। खगोलविदों के मुताबिक, सुपरमून के दौरान तटीय इलाकों में तूफान आ सकता है और बाढ़ जैसी स्थिति उत्पन्न हो सकती है।

ये भी पढ़ें :हवाई मार्ग के सहारे देवघर को देश से जोड़कर झारखंड के विकास की आधारशिला रख गये पीएम मोदी

Related posts

कृष्ण का बाल रूप तो माताओं को बहुत भाता है, लेकिन पति का कृष्ण रूप …

Manoj Singh

Haryana News: हरियाणा के नूंह में खनन माफियाओं ने डीएसपी को डंपर से कुचला, अवैध खनन की जांच करने पहुंचे थे डीएसपी सुरिन्दर सिंह

Sumeet Roy

ऑपरेशन गंगा: जब यूक्रेन से आने वाले छात्रों के बीच ‘Air Hostess’ के रोल में दिखीं Smriti

Manoj Singh