समाचार प्लस
Breaking चतरा झारखण्ड फीचर्ड न्यूज़ स्लाइडर राँची

बेटे के अंतरजातीय शादी करने पर झारखंड सरकार के मंत्री सत्यानंद भोक्ता का सामाजिक बहिष्कार

image source : social media

चतरा (Chatra) : खरवार भोक्ता समाज विकास संघ (Kharwar Bhokta Samaj Vikas Sangh) की बैठक रविवार की देर शाम प्रखंड कार्यालय के समीप स्थित नीलांबर पीतांबर भवन में हुई. बैठक में खरवार भोक्ता समाज (Kharwar Bhokta Samaj) ने राज्य के श्रम नियोजन, प्रशिक्षण, एवं कौशल विकास मंत्री सत्यानन्द भोक्ता (Satyananda Bhokta) का सामाजिक बहिष्कार (social boycott) कर दिया।

‘पारंपरिक सामाजिक व्यवस्था के साथ खिलवाड़’

समाज ने बैठक में फैसला लेते हुए कहा कि सत्यानन्द भोक्ता (Satyananda Bhokta) जान-बूझकर गैर भोक्ता समाज की लड़की से अपने बेटे की शादी करा रहे हैं. ऐसा कर वे पारंपरिक सामाजिक व्यवस्था के साथ खिलवाड़ कर रहे हैं, जो कि समाज के खिलाफ एक चुनौती है. बैठक में कहा गया कि सत्यानन्द भोक्ता ने मंत्री पद का दुरूपयोग कर हमेशा ही समाज को नुकसान पहुंचाने का काम किया है. इसलिए समाज ने मंत्री और उनके पूरे परिवार का सामाजिक बहिष्कार का फैसला लिया है. अब उनसे कोई ताल्लुक नहीं रखा जाएगा.

‘मंत्री के घर के सभी सामाजिक कार्यों से समाज दूर रहेगा’

मंत्री के घर मरनी, जीनी, शादी विवाह सहित हर सामाजिक कार्यों से समाज दूर रहेगा. मंत्री सत्यानंद भोक्ता से समाज बेटी रोटी का कोई संबंध नहीं रखेगा. मंत्री के घर आयोजित कोई भी सामाजिक कार्यक्रम में जो भी समाज के लोग निर्णय के विरुद्ध जाएंगे, उसका भी सामाजिक बहिष्कार किया जाएगा.

स्वाभिमान सह आभार महारैली कार्यक्रम को सफल बनाने की अपील 

इसके बाद बैठक में समाज की ओर से रांची में आयोजित खरवार भोक्ता स्वाभिमान सह आभार महारैली कार्यक्रम को सफल बनाने का निर्णय लिया गया. महारैली को लेकर जोर शोर से तैयारी करने तथा चतरा जिले से 50 हजार की संख्या में समाज के लोगों की उपस्थिति सुनिश्चित कराने का निर्णय लिया गया. बैठक में जिला सचिव विजय कुमार गुप्ता,  जिला कोषाध्यक्ष रंजीत कुमार भोक्ता, कार्यकारिणी सदस्य योगेंद्र भोक्ता,  छोटू भोक्ता,  वासुदेव गंझू,  मारदी गंझू सहित सभी कई प्रखंडों के प्रखंड पदाधिकारी उपस्थित थे.

मंत्री पद का नहीं, मंत्री के कृत्य का विरोध : जगदीश सिंह भोक्ता

खरवार भोक्ता विकास संघ के जिलाध्यक्ष जगदीश सिंह भोक्ता ने कहा कि भोक्ता समाज मंत्री पद का विरोध नहीं कर रहा है. मंत्री सत्यानंद भोक्ता के कृत्य का विरोध कर रहा है. उन्होंने कहा कि सभी समाज में शादी विवाह के लिए एक व्यवस्था निर्धारित की गई है. मंत्री सत्यानंद भोक्ता इस सामाजिक व्यवस्था को तोड़ रहे हैं. समाज के सभी लोग अगर इस तरह से गैर समाज में शादी करने लगेंगे तो ना तो समाज बचेगा और ना ही सामाजिक समरसता. इसलिए ऐसे कृत्य करने वालों का सामाजिक बहिष्कार होना जरूरी है, चाहे वह मंत्री हो या संतरी.

भोक्ता, मतलब सत्यानंद भोक्ता होता है: सत्यानंद भोक्ता

वहीँ भोक्ता समाज की ओर से सामाजिक रूप से बहिष्कृत किए जाने पर मंत्री सत्यानंद भोक्ता ने प्रतिक्रिया देते हुए कहा है कि झारखंड में भोक्ता की पहचान सत्यानंद भोक्ता से हैं. भोक्ता का मतलब सत्यानंद भोक्ता होता है और वह स्वयं भोक्ता समाज के केंद्रीय अध्यक्ष हैं. भोक्ता समाज के प्रदेश अध्यक्ष साहेब राम भोक्ता हैं. जबकि जिलाध्यक्ष सरोज भोक्ता है. जो लोग उन्हें समाज से बहिष्कृत कर रहे हैं, वे लोग स्वयं भोक्ता समाज से बहिष्कृत हैं. उनके शादी समारोह में भोक्ता सामाज के साथ साथ सभी समाज के लोग शामिल हो रहे हैं.

घृतढारी व प्रीतिभोज कारी में, आठ को गिरिडीह में होगी शादी

मंत्री सत्यानंद भोक्ता के तृतीय सुपुत्र मुकेश भोक्ता की शादी गिरिडीह के प्रकाश बैठा की पुत्री रश्मि कुमारी के साथ हो रही है. पांच दिसंबर को लग्न की रस्म पूरी हुई. छह दिसंबर को मड़वा व हल्दी लेपन का कार्यक्रम भी संपन्न हो गया. सात दिसंबर को मंत्री सत्यानंद भोक्ता के पैतृक आवास कारी गांव में घृतढारी एवं प्रीतिभोज का आयोजन किया गया है. जबकि आठ दिसंबर को कारी गांव से गिरिडीह के लिए बारात निकलेगी. गिरिडीह के सीहोडीह में आशीर्वाद रिसोर्ट में शादी का कार्यक्रम निर्धारित है.

मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन शादी समारोह में होंगे शामिल

झारखंड सरकार के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन (Hemant Soren) मंत्री सत्यानंद भोक्ता के बेटे मुकेश भोक्ता के शादी समारोह में शामिल होने के लिए बुधवार को सत्यानंद भोक्ता के पैतृक आवास कारी गांव पहुंचेंगे. मुख्यमंत्री 1:30 बजे हवाई मार्ग से सीधे कारी पहुंचेंगे. मुख्यमंत्री के आगमन को लेकर कारी गांव में ही हेलीपैड बनाया जा रहा है. सुरक्षा व्यवस्था का जायजा लेने के लिए मंगलवार की देर शाम डीसी अबू इमरान, एसपी राकेश रंजन सहित जिले के सभी वरीय पदाधिकारी कारी गांव पहुंचे और सुरक्षा व्यवस्था का जायजा लिया. अधिकारियों की देखरेख में कारी गांव में हेलीपैड का निर्माण किया जा रहा है.

 

ये भी पढ़ें : Jharkhand: बिजली संकट पर CM हेमंत हुए सचेत, हर हाल में बिजली कटौती पर रोक लगाने का दिया निर्देश

 

 

Related posts

उपेन्द्र कुशवाहा से मिले ललन सिंह, बोले-2010 वाला प्रदर्शन दोहराएंगे

Manoj Singh

सोफी चौधरी का इंस्टाग्राम पर दिखा बोल्ड और दिलकश अंदाज, घायल हुए फैन्स

Manoj Singh

Jharkhand: कांग्रेस ने धरती आबा को किया याद, प्रदेश अध्यक्ष राजेश ठाकुर और स्वास्थ्य मंत्री बन्ना गुप्ता ने दी श्रद्धांजलि

Pramod Kumar