समाचार प्लस
Breaking अंतरराष्ट्रीय देश फीचर्ड न्यूज़ स्लाइडर

Rishi Sunak: जिस Britain ने 200 साल तक भारत को गुलाम बनाए रखा, अब उस देश की कमान भारतीय मूल के ‘ऋषि’ के हाथ

image source : social media

ऋषि सुनक (Rishi Sunak) ने ब्रिटेन के पहले भारतीय मूल के प्रधानमंत्री बनकर इतिहास रच दिया है. अब ब्रिटेन में भारतीय मूल के ऋषि सुनक का शासन आया है. वो ब्रिटेन जिसने भारत को 200 साल तक गुलाम रखा, अब उस ब्रिटेन को एक भारतवंशी चलाएगा. ऋषि सुनक ने ब्रिटेन के पहले भारतीय मूल के प्रधानमंत्री बनकर इतिहास रच दिया है। पूर्व प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन और पेनी मोर्डंट चुनाव में खड़े होने के लिए आवश्यक 100 सांसदों का समर्थन नहीं जुटा सके.

UK के पीएम बनने वाले पहले एशियाई मूल के भी व्यक्ति

उन्होंने संसद में भगवद गीता को साक्षी मानकर यॉर्कशायर से सांसद के रूप में शपथ ली थी. ऐसा करने वाले वह ब्रिटेन के पहले सांसद थे. ब्रिटेन की कंजर्वेटिव पार्टी ने दिवाली के दिन ऋषि सुनक को अपना नेता चुना. वो यूनाइटेड किंगडम का पीएम बनने वाले पहले एशियाई मूल के भी व्यक्ति हैं.

दो सदियों तक ईस्ट इंडिया कंपनी ने किया राज

भारत की हैसियत दुनिया में कितनी बढ़ी है, इसका अंदाजा इसी बात से लगता है कि ईस्ट इंडिया कंपनी, जिसने हमारे देश में दो सदियों तक राज किया, आज उस देश का शासन एक भारतवंशी ऋषि सुनक चलाएंगे. भारत को गुलामी की बेड़ियां पहनाने में ईस्ट इंडिया कंपनी का नाम अहम है. यह कंपनी भारत आई और देखते ही देखते देश को गुलामी की जंजीरों में जकड़ लिया था. लेकिन ये विडंबना है कि अंग्रेजों की जिस ईस्ट इंडिया कंपनी ने भारत पर राज किया, आज उसके देश के शासन की बागडोर एक भारतवंशी के हाथ है।1857 के स्वतंत्रता क्रांति के बाद ब्रिटिश साम्राज्य ने भारत का नियंत्रण अपने हाथों में ले लिया था। इससे पहले करीब दो सदियों तक इस ब्रिटिश कंपनी ने भारत पर शासन किया था.

माता-पिता दोनों भारतीय मूल के हैं

ऋषि सुनक के माता-पिता दोनों भारतीय मूल के हैं. सुनक के माता-पिता फार्मासिस्ट हैं. वह 1960 के दशक में पूर्वी अफ्रीका से ब्रिटेन चले गए. सुनक के पिता यशवीर सुनक डॉक्टर थे. उनकी मां उषा सुनक एक केमिस्ट की दुकान चलाती थीं. ऋषि सुनक ने इंफोसिस प्रमुख नारायण मूर्ति की बेटी अक्षता मूर्ति से शादी की है। उनकी दो बेटियों का नाम कृष्णा और अनुष्का है.

आनंद महिंद्रा की ट्वीट की हो रही चर्चा 

आनंद महिंद्रा ने अपने ट्विटर पर ब्रिटेन के पूर्व प्रधानमंत्री चर्चिल के एक बहुत पुराने बयान का जिक्र करते हुए लिखा है ‘1947 में भारत की आज़ादी के दौरान… चर्चिल ने कथित तौर पर कहा था कि भारत के सभी नेता निम्न क्षमता वाले होंगे. आज हमारी आज़ादी के 75वें साल में हम भारतीय मूल के व्यक्ति को यूके पीएम के रूप में देखने के लिए तैयार हैं.’

ये भी पढ़ें : करगिल में PM Modi: ‘सेना के जवान ही मेरा परिवार, आतंक के अंत का उत्सव है दिवाली

 

 

Related posts

Gyanvapi: कोर्ट से हिंदू पक्ष को बड़ा झटका, ‘शिवलिंग’ की नहीं होगी कार्बन डेटिंग

Pramod Kumar

Palamau: TSPC नक्सली जितेंद्र सिंह गिरफ्तार, एके 47 और 5 गोलियां भी बरामद

Pramod Kumar

Jharkhand: विशिष्ट लोगों के सुरक्षा गार्डों की प्रतिनियुक्ति करेगी नयी राज्यस्तरीय समिति, सरकार ने किया बदलाव

Pramod Kumar