समाचार प्लस
Breaking झारखण्ड फीचर्ड न्यूज़ स्लाइडर

माली में फंसे झारखण्ड के 33 श्रमिकों में से सात श्रमिकों की हुई वापसी, श्रमिकों को कंपनी द्वारा किया जायेगा वेतन का भुगतान

Ranchi News

Ranchi News: मुख्यमंत्री श्री हेमन्त सोरेन के आदेश के बाद वेस्ट अफ्रीका के माली में फंसे गिरिडीह और हजारीबाग के 33 श्रमिकों में से सात श्रमिक दिलीप कुमार, छेदीलाल महतो, संतोष महतो, लालमणि महतो, इन्द्रदेव ठाकुर, लोकनाथ महतो और इन्द्रदेव प्रसाद की झारखण्ड वापसी हो गई। श्रमिकों के दूसरे समूह की रविवार को माली से रवाना होने की संभावना है।

ये था मामला

जनवरी 2022 में सोशल मीडिया के माध्यम से श्रमिकों ने अपनी स्थिति से मुख्यमंत्री और श्रम मंत्री को अवगत कराया गया। मुख्यमंत्री को बताया गया कि वे सभी वर्ष 2021 से कल्पतरु पावर ट्रैन्ज़्मिशन लिमिटेड में फिटर के रूप में कार्यरत हैं। ठेकेदार ने उनका पासपोर्ट जब्त कर रखा है और वह भारत वापस आ चुका है। तीन महीने से ज्यादा हो गया है, लेकिन उन्हें वेतन नहीं दिया गया एवं उनके पास दो दिन का खाना ही बचा था। मामले पर संज्ञान लेते हुए मुख्यमंत्री ने राज्य प्रवासी नियंत्रण कक्ष को श्रमिकों की सुरक्षित वापसी का आदेश दिया। इसके बाद राज्य प्रवासी नियंत्रण कक्ष द्वारा कंपनी के कंट्री हेड एवं मेनेजर से संपर्क कर उन्हें श्रमिकों की समस्या से अवगत कराते हुए उनके खाने की उचित व्यवस्था और वेतन का भुगतान करने को कहा गया।

हुआ समझौता

मामले की गंभीरता को देखते हुए माली स्थित भारतीय दूतावास से संपर्क कर घटना से अवगत कराया गया। दूतावास द्वारा कंपनी, ठेकेदार एवं श्रमिकों के प्रतिनिधियों को दूतावास कार्यालय बातचीत के लिए बुलाया गया। इसके बाद तीनों पक्ष के प्रतिनिधि द्वारा दूतावास कार्यालय में समझौता पत्र में हस्ताक्षर किया गया और श्रमिकों की वापसी सुनिश्चित हुई।

इसे भी पढ़ें: 2016 Jharkhand Foundation Day Scam: भ्रम में न रहें रघुवर जी, नहीं मिली है आपको कोई क्लीन चिट – सरयू राय

Ranchi News

Related posts

पीएम मोदी ने लॉन्च किया e-RUPI, अब Cashless और Contactless कर सकेंगे पेमेंट

Manoj Singh

Bihar: नीतीश को राष्ट्रपति बनने में कोई दिलचस्पी नहीं, उम्मीदवार को देखकर देंगे समर्थन

Pramod Kumar

Ukraine Crisis: हर हाल में आज कीव छोड़े भारतीय, भारतीय दूतावास ने जारी की एडवाइजरी

Pramod Kumar