समाचार प्लस
Breaking देश फीचर्ड न्यूज़ स्लाइडर

Rajya Sabha Election: 41 जा चुके राज्यसभा, 16 के लिए चल रहा दांव-पेंच, कल फैसले का दिन

Rajya Sabha: 41 gone Rajya Sabha, betting going on for 16, decision tomorrow

महाराष्ट्र, हरियाणा, राजस्थान और कर्नाटक में कल मतदान

न्यूज डेस्क/ समाचार प्लस – झारखंड-बिहार

राज्यसभा चुनाव के लिए 15 राज्यों के कुल 57 में से 41 सदस्य निर्विरोध चुने जा चुके हैं। इनमें यूपी के सभी 11, तमिलनाडु के सभी छह, बिहार के सभी पांच, आंध्र प्रदेश के सभी चार, मध्य प्रदेश और ओडिशा के सभी तीन-तीन, छत्तीसगढ़, पंजाब, तेलंगाना और झारखंड के सभी दो-दो व उत्तराखंड के एक उम्मीदवार निर्विरोध चुन लिए गए। 10 जून को महाराष्ट्र, राजस्थान, हरियाणा और कर्नाटक में शेष 16 सीटों के लिए मतदान होगा। इनमें महाराष्ट्र में छह, राजस्थान और कर्नाटक में चार-चार व हरियाणा में दो सीटों पर मतदान होगा। नतीजे उसी दिन आएंगे। इन 16 सीटों के लिए कुल 21 उम्मीदवार मैदान में हैं। चुनाव में जैसा राजनीतिक माहौल बना है, उसमें कांग्रेस ही सबसे ज्यादा दुविधा में है।

कैसा है चार राज्यों का चुनावी गणित

हरियाणा – हरियाणा की दो सीटों के लिए तीन उम्मीदवार मैदान में हैं। बीजेपी से कृष्णलाल पवार और कांग्रेस से अजय माकन के अलावा पूर्व मंत्री विनोद शर्मा के बेटे कार्तिकेय शर्मा निर्दलीय खड़े हैं। कार्तिकेय शर्मा को बीजेपी की सहयोगी जेजेपी ने समर्थन देने का ऐलान किया है। इससे हरियाणा के राज्यसभा चुनाव का गणित दिचलस्प हो गया है। विधानसभा में कुल 90 सीटों में 40 भाजपा के पास हैं, जबकि कांग्रेस के 31 सीटें हैं। लेकिन भाजपा को समर्थन दे रहे जेजेपी के 10 विधायकों ने मुकाबले को रोचक बना दिया है। इसके अलावा सात निर्दलीय, इनेलो का एक विधायक तथा एक अन्य विधायक भी राज्य में हैं। माकन का जीतना इस बात पर निर्भर है कि कांग्रेस के सभी 31 विधायक अपने प्रत्याशी की तरफ बने रहें। भाजपा के बचे 9 और जेजेपी के 10 वोट कांग्रेस का खेल बिगाड़ सकते हैं। इसको लेकर कांग्रेस की चिंता बढ़ी हुई है।

राजस्थान – राजस्थान की चार राज्यसभा सीटों पर पांच उम्मीदवार किस्मत आजमा रहे हैं। कांग्रेस की ओर से रणदीप सिंह सुरजेवाला, मुकुल वासनिक और प्रमोद तिवारी और बीजेपी के घनश्याम तिवाड़ी कैंडिडेट हैं। लेकिन इस मुकाबले को निर्दलीय सुभाष चंद्रा रोचक बना रहे हैं, क्योंकि इन्हें बीजेपी का समर्थन मिल रहा है। सुभाष चंद्रा के नहीं खड़ा होने से एक सीट बीजेपी और तीन सीटें कांग्रेस की कन्फर्म थीं, लेकिन इस पांचवें उम्मीदवार से कांग्रेस की दिक्कत बढ़ सकती है।

राजस्थान में 200 विधायक हैं।  राजस्थान का गणित के अनुसार एक राज्यसभा सीट की जीत के लिए 41 वोट चाहिए। बीजेपी के पास फिलहाल 71 विधायक हैं जबकि कांग्रेस पास 109 विधायक हैं। इस तरह बीजेपी के घनश्याम तिवाड़ी की जीत तय है। इसके बाद भाजपा के 30 वोट अतिरिक्त बचते हैं। दूसरी ओर कांग्रेस अपने 109 विधायकों के अलावा 13 निर्दलीय, 2 सीपीएम और दो बीटीपी के विधायक हैं। वहीं, तीन विधायक राष्ट्रीय लोकतांत्रिक पार्टी के हैं। कांग्रेस की दो सीटें तो कन्फर्म हैं, जिसके बाद 27 अतरिक्त वोट बचेंगे। यानी कांग्रेस को तीसरी सीट जीतने के लिए 14 वोट चाहिए तो बीजेपी के समर्थन के बाद सुभाष चंद्रा को 11 वोट तलाशना होगा।

महाराष्ट्र – महाराष्ट्र की छह राज्यसभा सीट पर 7 प्रत्याशी चुनावी मैदान में किस्मत आजमा रहे हैं, इस तरह से यहां छठी सीट पर पेच फंस गया है। बीजेपी ने केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल, अनिल सुखदेवराव बोंडे और धनंजय महादिक को उम्मीदवार बनाया है। शिवसेना से संजय राउत और संजय पवार मैदान में हैं, जबकि एनसीपी से प्रफुल पटेल और कांग्रेस से इमरान प्रतापगढ़ी मैदान में हैं।

विधानसभा के संख्याबल के अनुसार बीजेपी की दो सीटें, एक-एक सीट पर एनसीपी, कांग्रेस, शिवसेना की जीत कन्फर्म है। इस तरह से छठी सीट के लिए बीजेपी और शिवसेना के बीच सियासी घमसान होगा।

कर्नाटक – कर्नाटक में चार सीटों पर राज्यसभा चुनाव होना है। कांग्रेस ने जयराम रमेश के अलावा प्रदेश महासचिव मंसूर अली को अपना दूसरा उम्मीदवार और बीजेपी ने मौजूदा एमएलसी लहर सिंह को अपना तीसरा उम्मीदवार बना कर पेंच को फंसा दिया है। 224 सीटों वाली कर्नाटक विधानसभा में एक राज्यसभा सीट जीतने के लिए 45 विधायक चाहिए। कांग्रेस के पास 70 विधायक हैं। एक ओर जहां काग्रेस को दूसरी सीट के लिए 20 और वोट चाहिए। वहीं, बीजेपी के पास 121 विधायक हैं। पार्टी ने निर्मला सीतारमण, कन्नड़ फिल्म अभिनेता जग्गेश और लहर सिंह को उम्मीदवार बनाया है। ऐसे में बीजेपी को 14 अतिरिक्त वोट चाहिए। फिर, जेडीएस के पास 32 विधायक हैं। जेडीएस ने भी डी कुपेंद्र रेड्डी को मैदान में उतार दिया है। रेड्डी को 13 और विधायकों को समर्थन चाहिए।

किस पार्टी के कितने उम्मीदवार निर्विरोध पहुंचे राज्यसभा

निर्विरोध चुने गए 41 राज्यसभा सदस्यों में भाजपा के 14, कांग्रेस और वाईएसआर कांग्रेस के चार-चार, डीएमके और बीजद के तीन-तीन, आप, राजद, टीआरएस, एआईएडीएमके के दो-दो तथा झामुमो, जदयू, सपा और आरएलडी के एक-एक व एक निर्दलीय कपिल सिब्बल शामिल हैं।

कहां से कौन जीता
  • यूपी : भाजपा से डॉ लक्ष्मीकांत वाजपेयी, डॉ. राधामोहन दास अग्रवाल, दर्शना सिंह, संगीता यादव, बाबूराम निषाद, सुरेंद्र कुमार नागर, डॉ. के.लक्ष्मण तथा पूर्व सांसद मिथिलेश कुमार, सपा से जावेद अली, रालोद से जयंत चौधरी और सपा समर्थित कपिल सिब्बल।
  • तमिलनाडु: डीएमके से एस कल्याणसुंदरम, आर गिरिराजन और केआरएन राजेश कुमार, एआईएडीएमके के सी वी शणमुगम और आर धरमार व कांग्रेस नेता पी चिदंबरम।
  • बिहार: राजद से मीसा भारती, फैयाज अहमद, भाजपा से सतीश चंद्र दुबे और शंभु शरण पटेल, जदयू से खीरू महतो।
  • आंध्र प्रदेश: वाईएसआर कांग्रेस से वी विजय साई रेड्डी, बीडा मस्तान राव, आर कृष्णैया और एस निरंजन रेड्डी।
  • पंजाब: आप के संत बलबीर सिंह सीचवाल और कारोबारी विक्रमजीत सिंह साहनी
  • छत्तीसगढ़: कांग्रेस के राजीव शुक्ला और रंजीत रंजन।
  • झारखंड: झामुमो से महुआ माजी और भाजपा से आदित्य साहू
  • उत्तराखंड: भाजपा की कल्पना सैनी
  • मध्य प्रदेश : कांग्रेस से विजय तनखा, भाजपा की कविता पाटीदार और सुमित्रा वाल्मीकि।

यह भी पढ़ें: Jharkhand: रांची में Income Tax की अब तक की सबसे बड़ी छापेमारी, पुनीत पोद्दार, बाबूलाल प्रेम कुमार के 24 ठिकानों पर दबिश

 

Related posts

PM मोदी के कृषि कानून को वापस लेने पर विधायक Amba Prasad का तंज, कहा -अन्नदाता जीते, लोकतंत्र जीता, अहंकारी सरकार हारी

Sumeet Roy

नीतीश कुमार को ‘PM मटेरियल’ बताए जाने के बाद सूबे की सियासत हुई गर्म, सुशील मोदी अब सवालों से काट रहे ‘कन्नी’

Manoj Singh

T20 World Cup: भारत न्यूजीलैंड से हार गया तो क्या तब भी पहुंच पायेगा सेमीफाइनल में?

Pramod Kumar