समाचार प्लस
Breaking देश फीचर्ड न्यूज़ स्लाइडर

Rajay Sabha: सदन में जबर्दस्त हंगामा करने वाले 19 सांसदों पर उपसभापति हरिवंश की जबर्दस्त कार्रवाई, 1 सप्ताह सदन से छुट्टी

Rajaysabha: 1 week leave of 19 MPs who created ruckus in the House

न्यूज डेस्क/ समाचार प्लस – झारखंड-बिहार

केन्द्र सरकार को सदन में 25 विधेयक पेश करने हैं, लेकिन विपक्ष का हंगामा है कि खत्म होने का नाम ही नहीं ले रहा। सोमवार को लोकसभा में हंगामे के कारण 4 सांसदों के निलंबन के बाद  मंगलवार को राज्यसभा से 19 सांसदों को निलंबित किया गया है। उप सभापति हरिवंश ने हंगामा शांत नहीं होने और सदन की कार्यवाही में बाधा डालने पर विपक्ष के 19 सांसदों को एक सप्ताह के लिए निलंबित कर दिया है। निलंबित होने वाले सदस्यों में टीएमसी के छह, डीएमके के दो और सीपीआई के तीन सांसद व अन्य सांसद शामिल हैं।

मॉनसून सत्र 12 अगस्त तक चलना है, और कई विधेयक सदन में पेश होने हैं, लेकिन हंगामे की वजह से उन्हें पेश करना मुश्किल हो गया है। आज जब विपक्षी सांसद फिर से हंगामा कर रहे थे तब उप सभापति ने राज्यसभा के नियम 256 के तहत कार्रवाई करते हुए 19 सांसदों को एक सप्ताह के लिए निलंबित कर दिया।

निलंबित होने वाले सांसद

सुष्मिता देब, डॉ. शांतनु सेन, डोला सेन, मौसम नूर, शांता छेत्री, नदीमुल हक, अभीरंजन विश्‍वास (सभी तृणमूल कांग्रेस), हमीद अब्‍दुल्‍ला, आर गिरिरंजन, एनआर एलांगो, एम षनमुगम, एस कल्‍याणसुंदरम और कनिमोझी  (सभी डीएमके), बीएल यादव, दामोदर राव दिवाकोंडा व  रविहंद्रा वेद्दिराजू (सभी टीआरएस), एए रहीम व वी. शिवदासन (दोनों माकपा) और संतोष कुमार (भाकपा)

क्या होता है नियम 256
  • यदि सभापति आवश्यक समझे तो वह उस सदस्य को निलंबित कर सकता है, जो सभापीठ के अधिकार की अपेक्षा करे या जो बार-बार और जानबूझकर राज्यसभा के कार्य में बाधा डालकर राज्यसभा के नियमों का दुरुपयोग करे।
  • सभापति सदस्य को राज्यसभा की सेवा से ऐसी अवधि तक निलम्बित कर सकता है जबतक कि सत्र का अवसान नहीं होता या सत्र के कुछ दिनों तक भी ये लागू रह सकता है।
  • निलंबन होते ही राज्यसभा सदस्य को तुरंत सदन से बाहर जाना होगा।

यह भी पढ़ें: नीरज चोपड़ा को लेकर आयी बुरी खबर, इस वजह से कॉमनवेल्थ से हो गये बाहर

Related posts

Pakistan: काम नहीं आया दांव-पेंच, सहयोगी MQM (P) ने छोड़ा साथ, अब कैसे कुर्सी बचायेंगे इमरान!

Pramod Kumar

Health Advice : आखिर Bathroom में ही क्यों होते हैं सबसे ज्यादा Heart Attack, जानें वजह

Sumeet Roy

‘अग्निपथ’ में नियुक्तियों की तैयारी शुरू, वायुसेना ने अपलोड की पूरी जानकारी, यहां पढ़ें डिटेल्स

Sumeet Roy