समाचार प्लस
Breaking अंतरराष्ट्रीय फीचर्ड न्यूज़ स्लाइडर

ब्रिटेन की महारानी Queen Elizabeth II का निधन, PM मोदी ने व्यक्त किया शोक

 

Queen Elizabeth death
Image Source : Social Media

इससे पहले बकिंघम पैलेस की तरफ से गुरूवार को बयान जारी करके कहा गया था कि उनकी हालात नाजुक है और उन्हें डॉक्टरों की निगरानी में रखा गया था. इसी साल जून में ब्रिटेन की महारानी एलिजाबेथ द्वितीय (Queen Elizabeth II) के शासन के 70 साल पूरे हुए थे.इस मौके पर चार-दिवसीय प्लैटिनम जुबली समारोह आयोजित किया गया था.

Queen Elizabeth death
Image Source : Social Media

भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने क्वीन एलिजा बेथ के निधन पर शोक व्यक्त किया है. पीएम मोदी ने ट्वीट करके कहा कि महामहिम महारानी एलिजाबेथ द्वितीय को हमारे समय की एक दिग्गज के रूप में याद किया जाएगा. उन्होंने अपने राष्ट्र और लोगों को प्रेरक नेतृत्व प्रदान किया. उन्होंने सार्वजनिक जीवन में गरिमा और शालीनता का परिचय दिया. उनके निधन से आहत हूं. इस दुखद घड़ी में मेरी संवेदनाएं उनके परिवार और ब्रिटेन के लोगों के साथ हैं.

PM मोदी ने एलिजाबेथ के साथ मुलाकात की तस्वीर को साझा करते हुए कहा कि 2015 और 2018 में यूके की अपनी यात्राओं के दौरान मेरी महारानी एलिजाबेथ द्वितीय के साथ यादगार मुलाकातें हुईं. मैं उनकी गर्मजोशी और दयालुता को कभी नहीं भूलूंगा. एक बैठक के दौरान उन्होंने मुझे वह रूमाल दिखाया जो महात्मा गांधी ने उसे उसकी शादी में उपहार में दिया था. मैं उस इशारे को हमेशा संजो कर रखूंगा.

बता दें कि महारानी का जन्म 21 अप्रैल 1926 को लंदन के मेफेयर में 17 ब्रूटन स्ट्रीट में हुआ था. वह द ड्यूक एंड डचेस ऑफ यॉर्क की पहली संतान थीं, जो बाद में किंग जॉर्ज VI – और क्वीन एलिजाबेथ बनीं.
बकिंघम पैलेस ने पहले बताया था कि डॉक्टर एलिजाबेथ द्वितीय के स्वास्थ्य के बारे में चिंतित थे, और सिफारिश की कि वह चिकित्सकीय देखरेख में रहे. रिपोर्ट्स की मानें तो ब्रिटिश सरकार के पास उनकी मृत्यु की स्थिति में कोडनेम ऑपरेशन लंदन ब्रिज की योजना है.

इसे भी पढ़ें: Kartavya Path: कर्तव्य पथ से बोले PM मोदी- राजपथ हमेशा के लिए मिट गया

Related posts

NDA की राष्ट्रपति उम्मीदवार द्रौपदी मुर्मू ने किया नामांकन, पीएम मोदी समेत कई शीर्ष नेता रहे मौजूद

Pramod Kumar

Jharkhand: फोन पर गंदी बात करने वाले ASI को SP ने किया सस्पेंड, महिला को फोन पर बोलता था- अकेले आओ न

Manoj Singh

Hemant Soren Jharkhand: क्या वाकई सीएम हेमंत सोरेन इस्तीफा देकर, फिर से साबित करेंगे बहुमत सिद्ध, क्या कहता है संविधान?

Pramod Kumar