समाचार प्लस
Breaking देश फीचर्ड न्यूज़ स्लाइडर

भविष्य निधि जमाकर्ताओं को लगा झटका, EPFO की केंद्रीय न्यासी बोर्ड ने ब्याज दर घटाई

Provident fund depositors got a shock, EPFO reduced interest rate

न्यूज डेस्क/ समाचार प्लस – झारखंड-बिहार

भविष्य निधि जमाकर्ताओं को EPFO ने बड़ा झटका दिया है।  भविष्यनिधि जमाकर्ता ब्याज दर बढ़ने की उम्मीद  लगाये हुए थे, लेकिन EPFO ने ब्याज दर घटा दी है। वित्तवर्ष 2021-22 के लिए 8.1 फीसदी ब्याज दर की घोषणा हुई है। बता दें, 2020-21 वित्तवर्ष में ब्याज दर 8.5 प्रतिशत थी। भविष्य निधि जमा पर ब्याज चार दशक के निचले स्तर पर है। यह 1977-78 के बाद से सबसे कम है, जब ईपीएफ की ब्याज दर 8 फीसदी थी।

कर्मचारी भविष्य निधि संगठन (EPFO) की शीर्ष निर्णय लेने वाली संस्था केंद्रीय न्यासी बोर्ड ने शनिवार को हुई अपनी बैठक में 2021-22 के लिए ईपीएफ पर 8.1 प्रतिशत ब्याज दर देने का फैसला किया है। अब केंद्रीय न्यासी बोर्ड के फैसले को सहमति के लिए वित्त मंत्रालय के पास भेजा जाएगा। वित्त मंत्रालय की पुष्टि के बाद ही नयी ब्याज दर EPFO लागू करता है।

इस तरह बदलती रही है ब्याज दर
  • वित्त वर्ष 2015 – 8.75%
  • वित्त वर्ष 2016 – 8.80%
  • वित्त वर्ष 2017 – 8.65%
  • वित्त वर्ष 2018 – 8.55%
  • वित्त वर्ष 2019 – 8.65%
  • वित्त वर्ष 2020 – 8.50%
  • वित्त वर्ष 2021- 8.50%
  • वित्त वर्ष 2022 – 8.10%

यह भी पढ़ें: Jharkhand: नौकरी भी छीनता है जेपीएससी! आयोग की गलतियों का खमियाजा क्यों भुगतें अभ्यर्थी

Related posts

देश में लगातार दूसरे दिन Covid के 2000 से ज्यादा मामले, इतनों की हुई मौत

Sumeet Roy

सोफी चौधरी का इंस्टाग्राम पर दिखा बोल्ड और दिलकश अंदाज, घायल हुए फैन्स

Manoj Singh

Bihar: लग्जरी कार वाले निकले नशे के दलाल, मधेपुरा उत्पाद टीम ने देशी शराब, कोडीन सिरप के साथ चार कारोबारी दबोचे

Pramod Kumar