समाचार प्लस
Breaking झारखण्ड दुमका फीचर्ड न्यूज़ स्लाइडर

COVID-19 vaccine की पहली डोज के बाद गर्भवती महिला की मौत? पति ने की जांच की मांग 

COVID-19 vaccine के पहले डोज के बाद गर्भवती महिला की मौत?

न्यूज़ डेस्क / समाचार प्लस झारखंड -बिहार

COVID-19 vaccine का पहला डोज लगने के बाद गर्भवती महिला की मौत का मामला सामने आया है। बीते 17 नवंबर को शिकारीपाड़ा स्थित कम्युनिटी हेल्थ सेंटर कोलाबाड़ी की 30 वर्षीय महिला दुलार मरांडी को टीका लगाया गया था। 18 नवंबर को इलाज के दौरान उसने दम तोड़ दिया। सीएचसी की प्रभारी ने लिखित रूप से बीमार होने का कारण पहला डोज बताया है। फिलहाल, महिलाकी मौत की जांच के लिए सिविल सर्जन ने दो चिकित्सकों की दो सदस्यीय टीम गठित की है।

‘सीएचसी में पहला टीका दिया गया था’

महिला नौ माह की गर्भवती थी। जन्म देने से पहले उसका बच्चा भी मर गया। सोमवार को पति जोतिन मुर्मू ने शिकारीपाड़ा के बीडीओ को आवेदन देकर जांच की मांग की। उसने बताया कि सीएचसी में पत्नी को पहला टीका दिया गया था। शाम को उसे बेचैनी होने लगी। रात करीब 12 बजे वह उसे लेकर सामुदायिक केंद्र गया। जहां प्रभारी ने मामले की गंभीरता को देखते हुए महिला को तुरंत मेडिकल कालेज अस्पताल रेफर कर दिया। अगले दिन शाम आठ बजे महिला और उसके गर्भ में पल रहे बच्चे की मौत हो गई। सीएचओ की प्रभारी ने मेडिकल कालेज अस्पताल को महिला का जो बीएसटी भेजा है, उसमें बीमारी का कारण टीका का साइड प्रभाव व कमजोरी बताया है। मौत के बाद डाक्टरों ने प्रमाणपत्र देकर घर भेज दिया, जहां पति ने अंतिम संस्कार भी कर दिया।

पति ने जांच की मांग की

सोमवार को पति ने बीडीओ संतोष चौधरी को आवेदन दिया। जिसमें लिखा कि 17 को पत्नी पैसा निकासी के लिए ग्राहक सेवा केंद्र गई थी। लौटने के क्रम में सीएचसी में काम करने वाले कर्मियों ने पत्नी को टीका के लिए बुलाया। गर्भवती होने की बात बताने के बाद भी टीका लगा दिया। रात 12 बजे पत्नी की हालत खराब हो गई। सामुदायिक स्वास्थ्य ले गए तो वहां से रेफर कर दिया गया। अगले दिन शाम को उसकी मौत हो गई। टीका लगाने वालों पर कार्रवाई करते हुए मुआवजा दिलाया जाए। बीडीओ ने बताया कि टीम बनाकर पूरे मामले की जांच कराई जाएगी।

ये भी पढ़ें : भाजपा प्रदेश कार्यसमिति की बैठक: सरकार के खिलाफ धारदार आंदोलन की रूपरेखा होगी तैयार

Related posts

झारखंड की समृद्ध स्थानीय भाषाओं को सशक्त करना उद्देश्य- मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन

Sumeet Roy

Aurangabad : एक शादी ऐसी भी, प्रेमिका ने पहले प्रेमी को भिजवाया जेल फिर कोर्ट में की शादी

Manoj Singh

दीदी की कुर्सी खतरे में, पश्चिम बंगाल में उपचुनाव होगा तभी बचेगी कुर्सी

Pramod Kumar

Leave a Comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.