समाचार प्लस
Breaking देश फीचर्ड न्यूज़ स्लाइडर मनोरंजन

 नहीं रहे ‘महाभारत’ के ‘भीम’, अदाकारी से भीम के किरदार में फूंक दी थी जान

Praveen Kumar Sobti

लोकप्रिय सीरियल ‘महाभारत’ में ‘भीम’ की भूमिका निभाने वाले प्रवीण कुमार सोबती (Praveen Kumar Sobti) का निधन हो गया है. वह काफी समय से बीमार चल रहे थे. प्रवीण कुमार सोबती ने 74 साल की उम्र में अंतिम सांस ली है. पंजाब से ताल्लुक रखने वाले प्रवीण ने बॉलीवुड की कई फिल्मों में अपनी अदाकारी से फैंस का दिल जीत लिया था.

भीम के किरदार से मिली पॉपुलैरिटी

‘महाभारत’ में भीम के किरदार में प्रवीण कुमार सोबती (Praveen Kumar Sobti) को खूब पसंद किया गया था. लंबे-चौड़े प्रवीण कुमार सोबती ने अपनी एक्टिंग से भीम के किरदार में जान फूंक दी थी. इस सीरियल से उन्हें बहुत पॉपुलैरिटी मिली.

खेल की दुनिया में लहराया परचम

एक्टिंग में आने से पहले प्रवीण एक हैमर और डिस्कस थ्रो एथलीट थे. वह एशियाई खेलों में 2 स्वर्ण, 1 रजत और 1 कांस्य जीत चुके थे. उन्होंने एशियन और कॉमनवेल्थ गेम्स में मेडल हासिल करके देश का नाम रोशन किया था. उन्हें अर्जुन अवॉर्ड से भी सम्मानित किया गया था. खेल की दुनिया में नाम कमाने के बाद उन्हें सीमा सुरक्षा बल (BSF) की नौकरी भी मिली थी लेकिन कुछ साल बाद प्रवीण कुमार सोबती ने एक्टिंग करने का मन बनाया और फिर कभी पीछे मुड़कर नहीं देखा.

बीमार चल रहे थे प्रवीण कुमार सोबती

पिछले साल दिसंबर में प्रवीण कुमार ने बताया था कि उनकी उनकी तबीयत ठीक नहीं रहती है जिसकी वजह से वह घर पर ही रहते हैं. उन्हें खाने में कई तरह के परहेज करने पड़े रहे हैं. घर में पत्नी वीना उनकी देखभाल करती हैं.

पंजाब सरकार से जाहिर की नाराजगी

पेंशन को लेकर प्रवीण कुमार ने पंजाब की सरकार से अपनी नाराजगी जाहिर की थी. उन्होंने कहा था कि पंजाब में जितनी भी सरकारें आईं, सभी से उनकी शिकायत है. जितने भी एशियन गेम्स या मेडल जीतने वाले प्लेयर थे, उन सभी को पेंशन दी गई, लेकिन उन्हें पेंशन नहीं दिया गया. वह ऐसे अकेले एथलीट थे, जिन्होंने कॉमनवेल्थ को रिप्रेजेंट किया. फिर भी पेंशन के मामले में उनके साथ सौतेला व्यवहार हुआ. अपनी इस शिकायत को लेकर प्रवीण कुमार सोबती काफी चर्चा में रहे थे.
ये भी पढ़ें : पुलिस प्रशासन के नाक के नीचे कोरोना गाइडलाइंस की उड़ती रही धज्जियां, बार- बालाओं के साथ लगे ठुमके, प्रशासन बनी रही मूकदर्शक

 

Related posts

Article370 हटने के दो साल पूरे, फैसले के बाद कैसे हैं हालात, जानें

Manoj Singh

पाकिस्तान की मदद से तालिबान ने पंजशीर में गाड़ा झंडा, सालेह मोहम्मद की मौत!

Pramod Kumar

Unique Wedding : सजी नहीं बरात तो क्या … बिन फेरे हम तेरे… , संविधान की शपथ ले विवाह के बंधन में बंध गए जज दूल्हा-दुल्हन

Manoj Singh