समाचार प्लस
Breaking चतरा झारखण्ड फीचर्ड न्यूज़ स्लाइडर राँची

Coal Crisis: कोयला मंत्री Prahalad Joshi ने झारखंड CCL की अशोक ओपनकास्ट कोयला खदान का किया दौरा, कहा- नहीं होगी कोयले की कमी

Prahalad Joshi jharkhand

देश के विद्युत संयंत्रों में कोयले का पर्याप्त स्टॉक (Coal Stock) नहीं होने से बिजली संकट (Electricity Crisis) की संभावना का असर दिखने लगा है. केंद्रीय कोयला मंत्री प्रह्लाद जोशी (Coal Minister Prahalad Joshi) गुरुवार की सुबह छत्तीसगढ़ से रांची पहुंचे और एयरपोर्ट से ही सीधे पीपरवार ओपन कास्ट माइंस का निरीक्षण करने के लिए रवाना हो गए. उन्होंने झारखंड के चतरा जिले में अवस्थित सीसीएल रांची (CCL Ranchi) की अशोक ओपनकास्ट कोयला खदान का दौरा किया. उनके साथ कोल इंडिया के चेयरमैन, सीसीएल के सीएमडी समेत कोयला मंत्रालय के कई अधिकारी भी गए हैं.

आपको बता दें कि अंतर्राष्ट्रीय बाजार में कोयले की कीमत में अप्रत्याशित वृद्धि होने से आयात प्रभावित हुआ है. जिसका सीधा असर बिजली उत्पादन पर पड़ा है. पिछले दिनों से यह सवाल उठ रहा है किचंद दिनों में बिजली संयंत्रों का कोल स्टॉक खत्म हो जाएगा. इसकी वजह से ब्लैक आउट की नौबत आ सकती है. इसी के बाद केंद्र सरकार हरकत में आई. केंद्रीय ऊर्जा मंत्री आर.के.सिंह ने खुद मोर्चा संभाला और भरोसा दिलाया कि किसी तरह का संकट पैदा नहीं होने दिया जाएगा.

कोयला मंत्री प्रह्लाद जोशी (Prahalad Joshi) ने ट्वीट कर जानकारी दी, ” झारखंड के चतरा जिले में अवस्थित @CCLRanchi की अशोक ओपनकास्ट कोयला खदान का दौरा किया। 20 MT की सालाना peak-rated क्षमता वाली यह खदान CCL की सबसे बड़ी कोल परियोजनाओं में से एक है. खदान के कामगारों से बातचीत की और उनका कोयला उत्पादन एवं ऑफटेक बढ़ाने के प्रति उत्साहवर्धन किया.”

केंद्रीय मंत्री का झारखंड दौरा अहम

इस कड़ी में केंद्रीय कोयला मंत्री प्रल्हाद जोशी के झारखंड दौरे को अहम माना जा रहा है. संभव है कि पीपरवार से लौटने के बाद रांची में एक समीक्षा बैठक भी हो. हालाकि इस बारे में सीसीएल की ओर से कोई औपचारिक जानकारी नहीं दी गई है. आपको बता दें कि कुछ समय पहले तक कोयला उत्पादन के मामले में झारखंड पूरे देश में टॉप हुआ करता था लेकिन हाल ही कोयला मंत्रालय की तरफ औपबंधिक सांख्यिकी रिपोर्ट 2020-21 के मुताबिक कोयला उत्पादन के मामले में झारखंड चौथे स्थान पर चला गया है.

इसे भी पढ़ें : Coal Crisis in India: क्यों आया भारत में कोयले का इतना बड़ा संकट? क्या Blackout का है डर?

Related posts

विराट कोहली दे सकते हैं इस्तीफा! वनडे और टी-20 में रोहित शर्मा हो सकते हैं कप्तान

Manoj Singh

भारत में Plastic Waste से बना National Highway, पर्यावरण को होगा फायदा

Sumeet Roy

आलिया भट्ट के ‘कन्‍यादान’ पर मचा बवाल, भड़के यूजर्स ने बताया हिंदू धर्म का अपमान

Manoj Singh

Leave a Comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.