समाचार प्लस
Breaking देश फीचर्ड न्यूज़ स्लाइडर

Politics: पंजाब में कांग्रेस की एक नयी चिंता, कहीं टूट न जाये पार्टी, भारी पड़ेगा अमरिंदर का ‘हाथ’ छोड़ना

Punjab Congress

न्यूज डेस्क/ समाचार प्लस – झारखंड-बिहार

देश में एकता की बात करने वाली कांग्रेस अब राज्यों में अपनी एकता बनाये  रखने के लिए जूझ रही है। पंजाब में कांग्रेस लम्बे समय से संकटों में तो है ही, अब नया संकट पार्टी को ही न तोड़ दे। दरअसल, पूर्व मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने आधिकारिक रूप से पार्टी को ‘हाथ’ दिखा दिया है। अमरिंदर सिंह के इस्तीफे के बाद पंजाब में कांग्रेस के माथे पर बल पड़ गया है। विधानसभा चुनाव भी नजदीक है, ऐसे में पार्टी में एकता नहीं बनी रही तो कांग्रेस को बड़ा राजनीतिक नुकसान झेलना पड़ जायेगा। इसी चिंता में कल ही मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी ने एक बैठक बुलाई जिसमें सरकार के सभी मंत्री और पार्टी नेता शामिल हुए। बैठक में नवजोत सिंह सिद्धू भी उपस्थित थे। पंजाब कांग्रेस के माथे पर बल इसलिए भी पड़ गया है, क्योंकि कांग्रेस से इस्तीफे और नयी पार्टी की घोषणा करते हुए अमरिंदर सिंह ने कहा कि कई कांग्रेसी नेता उनके साथ आने वाले हैं।

बता दें, कैप्टन अमरिंदर सिंह ने कल अपनी नई पार्टी ‘पंजाब लोक कांग्रेस’ के नाम का भी ऐलान किया। पार्टी के प्रतीक चिह्न के लिए वह जल्द ही चुनाव आयोग के पास आवेदन करेंगे।

अमरिंदर सिंह ने सोनिया और राहुल पर लगाये गंभीर आरोप

कैप्टन अमरिंदर सिंह ने डाक के द्वारा अपना इस्तीफा कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी को भेजा। अपने इस्तीफे में अमरिंदर ने सोनिया गांधी, राहुल गांधी और प्रियंका गांधी सहित पार्टी पर कई गंभीर आरोप लगाये। उन्होंने लिखा, “राहुल गांधी और प्रियंका गांधी ने अस्थिर और पाकिस्‍तान के प्रति साफ्ट कॉर्नर रखने वाले नवजोत सिंह सिद्धू को संरक्षण दिया। सोनिया गांधी ने इन सबसे अपनी आंखें मूंद लीं।”

कई कांग्रेस नेताओं के संपर्क में होने का दावा

अमरिंदर ने कई कांग्रेस नेताओं के उनके संपर्क में होने का दावा किया। यही कांग्रेस के लिए सबसे चिंता वाली बात है। दावे के अनुसार कांग्रेसी नेता अगर कैप्टन की पार्टी में शामिल होते हैं तो यह पार्टी की बड़ी टूट होगी। और फिर कैप्टन ने इतना बड़ा दांव अपने सहयोगी कांग्रेसी नेताओं के ही बल पर तो खेला है। यही कारण है कि मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी को आनन-फानन में कांग्रेसी नेताओं की बैठक बुलानी पड़ी। ताकि वह खुद आश्वस्त हो सकें और जनता को आश्वस्त कर सकें कि कांग्रेस में ‘सब कुछ ठीक’ है।

कितना नुकसान पहुंचायेगी ‘पंजाब लोक कांग्रेस’

माना जा रहा है कि कैप्‍टन द्वारा पंजाब लोक कांग्रेस नाम से नयी पार्टी बनाने से 2022 में होनेवाले पंजाब विधानसभा चुनाव में कांग्रेस को बड़ा नुकसान होगा। माना यह भी जा रहा है कि अब पंजाब कांग्रेस में भी टूट का सिलसिला शुरू हो सकता है। कैप्‍टन का कैंप पंजाब के करीब दो दर्जन विधायकों के अमरिंदर सिंह के संपर्क में होने का दावा कर रहा है। ऐसे में यह देखना बेहद दिलचस्‍प भरा होगा कि कितने कांग्रेस विधायक कैप्‍टन अमरिंदर सिंह के साथ आते हैं।

कैप्‍टन अमरिंदर सिंह के नई पार्टी पंजाब लोक कांग्रेस बनाने की घोषणा से राज्‍य में सियासी समीकरण में बदलाव की हलचल भी तेज हो गयी है। सबकी नजरें कैप्‍टन अमरिंदर सिंह के करीबी कांग्रेस नेताओं और विधायकों पर तो टिकी ही हैं, दूसरी पार्टियां भी मौके को नहीं चूकना चाहेंगी। भाजपा, आप और शिअद भी तो अपनी राजनीति चमकाने का पंजाब में प्रयास कर रही हैं!

यह भी पढ़ें: Covid-19: दुनियाभर में कोरोना महामारी से मरने वालों का आंकड़ा 50 लाख पार, भारत में सुधर रहे हालात

Related posts

Film City Noida: योगी आदित्यनाथ के ड्रीम प्रोजेक्ट के लिए वैश्विक निविदा कल से

Pramod Kumar

DMK नेता ने बिहार के लोगों पर की नस्लीय टिप्पणी, बोले- हमारी नौकरियां छीन रहे ‘कम दिमाग’ वाले लोग

Manoj Singh

US Open Final: नोवाक जोकोविच का इतिहास रचने का सपना चकनाचूर, डेनिल मेदवेदेव ने जीता अपना पहला ग्रैंड स्लैम खिताब

Manoj Singh

Leave a Comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.