समाचार प्लस
Breaking झारखण्ड फीचर्ड न्यूज़ स्लाइडर

देवघर में Cyber Crime पर पुलिस का डंडा, 14 साइबर अपराधी आये शिकंजे में

देवघर में 14 साइबर अपराधी आये शिकंजे में

देवघर से शैलेन्द्र कुमार मिश्रा/ समाचार प्लस – झारखंड-बिहार

जामताड़ा के  बाद Cyber Crime का गढ़ बनते देवघर में पुलिस भी दोगुनी रफ्तार से सक्रिय है। देवघर पुलिस इस समय साइबर क्राइम के खिलाफ छापेमारी अभियान छेड़े हुए है। इसी क्रम में उसे देवघर जिले के पालोजोरी, सारठ पथरड़ा एवं करों थाना क्षेत्र में छापेमारी कर 14 साइबर अपराधियों को दबोचा है। इन साइबर अपराधियों में एक सीएसपी संचालक भी शामिल है। वहीं, गिरफ्तार कन्हैया कुमार एवं प्रशांत सिंह पहले भी साइबर क्राइम के केस में जेल जा चुका हैं। ये सभी साइबर अपराधी नयी-नयी तकनीक का प्रयोग कर लोगो को अपना शिकार बनाते थे। इनके पास से 25 मोबाइल, 52 सिम, 2 एटीएम, 2 पासबुक, 2 चेकबुक और 1 लैपटॉप बरामद किये गये  हैं।

पहले भी पुलिस ने साइबर अपराधियों पर कसा है शिकंजा

गत जुलाई महीने में भी जिले के विभिन्न थाना क्षेत्रों से पुलिस ने 14 साइबर अपराधियों को गिरफ्तार किया था, साइबर सेल पुलिस ने जिले के सारठ थाना क्षेत्र के पिंडारी, तेतरिया, बोचवान, पथरौल थाना क्षेत्र के पथरौल बाजार, कुशाहा और मधुपुर थाना क्षेत्र के पसिया गांव से इन साइबर अपराधियों को गिरफ्तार किया गया था। इन साइबर अपराधियों के पास से 23 मोबाइल, 28 सिम कार्ड और 5 एटीएम कार्ड बरामद किये गये थे।

इसके पहले पुलिस ने देवघर जिले के विभिन्न थाना क्षेत्रों में छापामारी कर 14 साइबर अपराधियों को गिरफ्तार कर उनके पास से 23 मोबाइल फोन, 37 सिम कार्ड, नौ पासबुक, चार चेकबुक और ग्यारह एटीएम कार्ड बरामद किए थे।

इसी साल जनवरी महीने में भी साइबर थाना की पुलिस ने मारगोमुंडा, करौं, सोनारायठाढ़ी व मोहनपुर थाना क्षेत्र के महजोरी, दिगबाद, खरबरिया व तीरनगर गांव में छापेमारी कर एक सीएसपी संचालक समेत 14 साइबर आरोपियों को गिरफ्तार किया था। उनके पास से मोबाइल, सिम कार्ड समेत अन्य सामान व वाहन बरामद किये गये थे।

यह भी पढ़ें: झारखंड की समृद्ध स्थानीय भाषाओं को सशक्त करना उद्देश्य- मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन

Related posts

दुर्गा पूजा को लेकर रांची में ऐसी होगी ट्रैफिक व्यवस्था, 11 से 15 अक्टूबर तक 12 घंटे शहर में वाहनों की नो इंट्री

Manoj Singh

खुशखबरी! भारत में नहीं आएगी कोरोना की तीसरी लहर! एम्स निदेशक का दावा

Pramod Kumar

Leave a Comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.