समाचार प्लस
Breaking देश फीचर्ड न्यूज़ स्लाइडर

PM Modi ने की Atmanirbhar Swasth Bharat Yojana की शुरुआत, जानिए क्‍या है खास

PM Modi launched Atmanirbhar Swasth Bharat Yojana

न्यूज़ डेस्क/ समाचार प्लस झरखंड- बिहार

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उत्तरप्रदेश दौरे के दौरान ‘आत्मनिर्भर स्वस्थ भारत योजना’ की शुरुआत की। यह देश की सबसे बड़ी स्वास्थ्य योजना है।
प्रधानमंत्री मोदी (PM Modi) ने आज वाराणसी को 5229 करोड़ रुपए की परियोजनाओं की सौगात देने के साथ ही आत्मनिर्भर स्वस्थ भारत योजना (Atmanirbhar Swasth Bharat Yojana) की शुरूआत भी की। सरकार का दावा है कि यह स्‍वास्‍थ्‍य के क्षेत्र की सबसे बड़ी योजनाओं में से एक है जिससे देश में हेल्थकेयर इंफ्रास्ट्रक्चर का ढांचा पहले से काफी मजबूत बनाया जा सकेगा।

सबसे कमजोर हेल्थ केयर इंफ्रास्ट्रक्चर वाले 10 राज्यों पर विशेष फोकस

सरकार ने कहा है कि इस योजना के तहत अगले छह साल में कुल 64,180 करोड़ रुपये खर्च किए जाएंगे। इस योजना को हाल ही में इसे कैबिनेट की मंजूरी मिली है। योजना का ऐलान इस साल एक फरवरी को वित्‍त मंत्री निर्मला सीतारमण ने बजट पेश करते हुए किया था। बताया जा रहा है कि योजना के तहत सबसे कमजोर हेल्थ केयर इंफ्रास्ट्रक्चर वाले 10 राज्यों पर विशेष फोकस किया जाएगा। इसके साथ ही देश के 602 जिलों में क्रिटिकल केयर सुविधाएं भी शुरू की जाएंगी।

क्‍या है योजना की खासियत

इस योजना की घोषणा वित्‍त मंत्री निर्मला सीतारमण ने की इस साल एक फरवरी को पेश किए गए अपने बजट भाषण में की। उन्‍होंने कहा था कि इस योजना के जरिए देश के हेल्‍थ केयर इंफ्रास्ट्रक्चर को मजबूत करने किया जा रहा है। स्वास्थ्य राज्य मंत्री अश्विनी कुमार चौबे ने 15 मार्च 2021 को लोकसभा बताया कि 2025-26 तक 64,180 करोड़ रुपये के जरिए हेल्थ केयर इंफ्रास्ट्रक्चर पर खर्च किया जाएगा। इसके तहत ये काम किए जाएंगे-

1. विशेष फोकस वाले 10 राज्यों में 17,788 ग्रामीण स्वास्थ्य और आरोग्य केंद्रों के लिए सहायता
2.सभी राज्यों में 11,024 शहरी स्वास्थ्य और कल्याण केंद्रों की स्थापना।
3. देश के सभी जिलों में एकीकृत सार्वजनिक स्वास्थ्य प्रयोगशालाओं और विशेष फोकस वाले 11 राज्यों के 3382 ब्लॉक में सार्वजनिक स्वास्थ्य इकाइयों की स्थापना।
4. देश के 602 जिलों और 12 केंद्रीय संस्थानों में क्रिटिकल केयर हॉस्पिटल ब्लॉक की स्थापना।
5. राष्ट्रीय रोग नियंत्रण केंद्र (एनसीडीसी) की 5 क्षेत्रीय शाखाओं और 20 महानगरीय स्वास्थ्य निगरानी इकाइयों को मजबूत करना
6.सार्वजनिक स्वास्थ्य प्रयोगशालाओं को जोड़ने के लिए सभी राज्यों/संघ राज्य क्षेत्रों में एकीकृत स्वास्थ्य सूचना पोर्टल का विस्तार
7. सत्रह नई सार्वजनिक स्वास्थ्य इकाइयों को शुरू करना और 33 मौजूदा सार्वजनिक स्वास्थ्य इकाइयों को मजबूत करना, जो कि 32 हवाई अड्डों, 11 बंदरगाहों और 7 लैंडक्रॉसिंग पर स्थित हैं।
8. पंद्रह हेल्थ इमरजेंसी ऑपरेशन सेंटर और 2 मोबाइल अस्पतालों की स्थापना।
9. वन हेल्थ के लिए एक राष्ट्रीय संस्थान की स्थापना, डब्ल्यूएचओ के दक्षिण पूर्व एशिया क्षेत्र के लिए एक क्षेत्रीय अनुसंधान प्लेटफॉर्म, 9 जैव-सुरक्षा स्तर-3 की प्रयोगशालाएं और 4क्षेत्रीय राष्ट्रीय विषाणु विज्ञान संस्थान की स्थापना की जाएगी।

ये भी पढ़ें : 67th National Film Awards ‘छिछोरे’, कंगना और मनोज वाजपेयी के नाम, रजनीकांत को दादा साहब फाल्के

 

Related posts

CM हेमंत सोरेन ने किया अंतरराष्ट्रीय हॉकी स्टेडियम का शिलान्यास, कहा- दूर तलक जाएगी प्रतियोगिता की गूंज

Manoj Singh

बोकारो : वेदांता इलेक्ट्रोस्टील में लिफ्ट टूटी, तीन मजदूरों की मौत

Manoj Singh

कन्हैया कुमार के कांग्रेस में शामिल होने की राजद को टेंशन! कहीं नाखुश तो नहीं हैं तेजस्वी यादव?

Pramod Kumar

Leave a Comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.