समाचार प्लस
Breaking देश फीचर्ड न्यूज़ स्लाइडर

PM Modi ने वाराणसी को दी 1500 करोड़ की सौगात, नज़रें उत्तर प्रदेश उत्तर प्रदेश चुनाव पर…

PM Modi

PM MODI : उत्तर प्रदेश का विधानसभा चुनाव अब सर पर है। इसकी तैयारियों में सत्तारूढ़ भाजपा अभी से लग गयी है। वाराणसी का दौरा और  प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का अपने संसदीय क्षेत्र में 1500 करोड़ से भी अधिक की कई विकास परियोजनाओं का उद्घाटन और शिलान्यास करना यही बताया है। बनारस हिंदू विश्वविद्यालय ( BHU ) में आयोजित मुख्य कार्यक्रम में पीएम मोदी ने सभी परियोजनाओं की शुभारम्भ किया। इस मौके पर राज्यपाल आनंदीबेन पटेल और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ मौजूद थे।

PM Modi आज अपने लोकसभा क्षेत्र वाराणसी का दौरा कर वापस चले गये। प्रधानमंत्री की इस यात्रा का मकसद वाराणसी की जनता के लिए हजारों करोड़ रुपयों की कई परियोजनाओं का उद्घाटन और शिलान्यास करना था। लेकिन प्रधानमंत्री के इस दौरे के मुख्य मकसद समझा जा सकता है। सन् 2022 में देश के पांच राज्यों में विधानसभा चुनाव होने हैं। इन राज्यों में एक राज्य उत्तर प्रदेश है। राजनीति की जानकारी रखने वाले यह भली-भांति जानते हैं कि देश की सत्ता का रास्ता उत्तर प्रदेश से होकर गुजरता है।

इस समय कोरोना काल चल रहा है और महामारी के इस दौर में रोकथाम की व्यवस्थाओं को लेकर अनेक लोगों को सत्तारूढ़ एनडीए सरकार के प्रति नाराजगी है। एक सर्वे ने तो उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को कोरोना को नियंत्रित करने में फेल भी करार दे दिया है। हालांकि वही सर्वे यह भी बतलाता है कि योगी आदित्यनाथ की कुर्सी को आगामी चुनाव में कोई खतरा नही हैं। खैर, चुनाव आते-आते बहुत से समीकरण बनते-बिगड़ते रहते हैं। इसलिए उनकों नियंत्रित करने का प्रयास पहले से ही शुरू हो जाना चाहिए। इसलिए PM Modi के वाराणसी का आज का दौरा काफी अहम समझा जा रहा है।

7 साल, 17 दौरे, 22 दिन

PM Modi2014 में लोकसभा चुनाव जीतने के बाद से अब तक 27 बार वाराणसी आ चुके हैं। इसके अलावा भी वे कई बार वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से क्षेत्रवासियों के साथ संवाद और विकास कार्यों की शुरुआत कर चुके हैं। अपने हर दौरे के दौरान प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने काशी को करोड़ों की परियोजनाओं की सौगात भी दी है। आज दौरे में भी उन्होंने अपने संसदीय क्षेत्र के लोगों को 1500 करोड़ की सौगात दी।

शहर भर में देखी जा सकेगी गंगा आरती

PM Modi ने आज के दौरे में काशी की जनता को एक बड़ी सौगात दी है। काशी की गंगा आरती विश्व प्रसिद्ध है। इसके लए गंगा के दशाश्वमेध घाट पर जाकर आरती में शामिल होना पड़ता है। अब शहर के लोग अलग-अलग हिस्सों में गंगा आरती देख सकेंगे। इसके लए शहर में जगह-जगह बड़ी-बड़ी LED स्क्रीन्स लगेंगी। घाटों पर टेक्नॉलॉजी से लैस इन्फॉर्मेशन बोर्ड लग रहे हैं। ये काशी आने वाले लोगों की बहुत मदद करेंगे। बड़ी स्क्रीन्स के माध्यम से गंगा जी के घाट पर और काशी विश्वनाथ मंदिर में होने वाली आरती का प्रसारण पूरे शहर में संभव हो पाएगा।

इसे भी पढ़ें : इन राज्‍यों में जनसंख्‍या नियंत्रण के लिए बनी है Two Child Policy, जानें कहां और किस रूप में है लागू

इन परियोजनाओं का किया लोकार्पण

– रुद्राक्ष कन्वेंशन सेंटर : लागत 180 करोड़ रुपये

– बीएचयू में 100 बेड एमसीएच विंग : लागत 45.50 करोड़ रुपये

– मल्टीलेबल पार्किंगः लागत 19.55 करोड़ रुपये

– पुरानी सीवर लाइन का सीआइपीपी लाइनिंग जीर्णोद्धारः लागत 21.09 करोड़ रुपये

– सीवर जीर्णोद्धार कार्यः लागत 8.12 करोड़ रुपये

– चार पार्कों का सौंदर्यीकरणः लागत 4.45 करोड़ रुपये

– दीनदयाल अस्पताल पांडेयपुर में 50 बेड महिला अस्‍पतालः लागत 17.39 करोड़ रुपये

– बीएचयू में रीजनल इंस्टीट्यूट आप्‍थैल्मोलाजीः लागत29.63 करोड़ रुपये

– श्री लाल बहादुर शास्त्री चिकित्सालय रामनगर आवासः लागत 11.97 करोड़ रुपये

– गंगा नदी में पर्यटन विकास के लिए दो रो पैक्‍स का संचालनः लागत 22 करोड़ रुपये

– राजघाट से अस्सी तक जलयान का संचालनः लागत 10.72 करोड़ रुपये

– 84 घाटों पर सूचना पट्ट का स्थापन कार्यः लागत 5.08 करोड़ रुपये

– रामेश्वर में विश्राम स्थलः लागत 8 करोड़ रुपये

– पंचकोस परिक्रमा मार्ग 33.91 किमी. व चौड़ीकरणः लागत 62.04 करोड़ रुपये

– वाराणसी-गाजीपुर मार्ग थ्री लेन उपरिगामी सेतुः  लागत 50.17 करोड़ रुपये

– श्यामा प्रसाद रूर्बन मिशन अंतर्गत दो पेयजल परियोजनाः लागत 7.72 करोड़ रुपये

– विश्व बैंक सहायतित नीर निर्मल परियोजना-दो अंतर्गत 11 पेयजल परियोजनाः लागत 61 करोड़ रुपये

– 14 अस्पतालों तथा स्वास्थ्य केंद्रों में पीएसए आक्सीजन जनरेशनः लागत 11 करोड़ रुपये

– बीएचयू में 80 टीचर रेजिडेंशियल फ्लैटः लागत 46.71 करोड़ रुपये

– मछोदरी स्मार्ट सीनियर सेकेंडरी स्कूल व स्किल डेवलपमेंट सेंटरः लागत  14.21 करोड़ रुपये

– चार स्कूल एवं कालेज में तीन महिला छात्रवास, क्लास व लैबः लागत 5.79 करोड़ रुपये

इन परियोजनाओं का किया शिलान्यास

– केंद्रीय पेट्रोकेमिकल्स इंजीनियरिंग एवं टेक्नीकल इंस्टीट्यूट (सिपेट) का स्किलिंग एंड टेक्निकल सपोर्ट सेंटर (सीएसटीसी) महगांव मेंः लागत 48.14 करोड़ रुपये

– आईटीआई महगांवः लागत 14.16 करोड़ रुपये

– कोनिया घाट क्षेत्र में सीवर लाइन बिछाना से जुड़ी परियोजनाः लागत 15.03 करोड़ रुपये

– नगर के घाट पर पंपिंग स्टेशन, सीवेज पंपिंगःलागत 9.64 करोड़ रुपये

– राजघाट प्राथमिक विद्यालय आदमपुर जोनः लागत 2.77 करोड़ रुपये

– सिस वरुणा में वाटर सप्लाई परियोजनाः लागत 108.53 करोड़ रुपये

– सिस वरुणा में पेयजल संचालन पर कार्यःलागत 7.41 करोड़ रुपये

– कोनिया पंपिंग स्टेशन पर 0.8 मेगावाट क्षमता का सोलर पावर प्लांटः लागत 5.89 करोड़ रुपये

– मुकीमगंज व मछोदरी क्षेत्र में सीवर लाइन परियोजनाः लागत 2.83 करोड़ रुपये

– लहरतारा चौकाघाट फ्लाईओवर के नीचे अरबन प्लेस मेकिंगः लागत 8.50 करोड़ रुपये

– करखियांव औद्योगिक क्षेत्र में मैंगो एवं वेजिटेबल इंटीग्रेटेड पैक हाउस का निर्माणः लागत 15.78 करोड़ रुपये

– पुलिस लाइन में ट्रांजिट हास्टल, आर्थिक अपराध अनुसंधान संगठन सेक्टर इकाई का कार्यालय भवनः लागत 26.70 करोड़ रुपये

– रायफल एवं पिस्टल शूटिंग रेंज का निर्माणः लागत 5.04 करोड़ रुपये

– 47 ग्रामीण संपर्क मार्ग कुल लंबाई 152 किलोमीटर का निर्माण, चौड़ीकरणः लागत 111.26 करोड़ रुपये

– जल जीवन मिशन कार्यक्रम के अंतर्गत हर घर नल योजनाः लागत 428.54 करोड़ रुपये

– ट्रांस वरुणा में वाटर सप्लाई परियोजनाः लागत 19.49 करोड़ रुपये

– वाटर ट्रीटमेंट प्लांट भेलूपुर सोलर पावरः लागत 17.24 करोड़ रुपये.

इसे भी पढ़ें: Jharcraft राज्य की पहचान है, इसे प्रॉफेशनल तरीके से चलाने की जरूरत है – CM

Related posts

NEET यूजी परीक्षा 2021 के पैटर्न में बदलाव, अब 200 में से सिर्फ इतने ही प्रश्नों को करना होगा हल

Manoj Singh

सत्ता के लिए आपस में भिड़ गये तालिबानी-हक्कानी, चली गोली, अब्दुल गनी बरादर घायल

Pramod Kumar

Jharkhand Petrol Subsidy: पेट्रोल 25 रुपये सस्ता तो हो गया…पर अभी बहुत लफड़ा है रे भाई…

Manoj Singh