समाचार प्लस
Breaking देश फीचर्ड न्यूज़ स्लाइडर

खास होगा मेजर ध्यानचंद खेल विश्वविद्यालय, मेरठ में प्रधानमंत्री मोदी ने रखी आधारशिला, 700 करोड़ आयेगा खर्च

Major Dhanchand University Meerut

न्यूज डेस्क/ समाचार प्लस – झारखंड-बिहार

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सोमवार को मेरठ में मेजर ध्यानचंद खेल विश्वविद्यालय का शिलान्यास रखी। 700 करोड़ रुपये से तैयार होने वाला यह स्पोर्ट्स विश्वविद्यालय आने वाले दिनों में खेलों के लिए मील का पत्थर साबित होगा। भारतीय युवा यहां खेलों की और बेहतर तैयारी कर सकेंगे और राष्ट्रीय-अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर अपनी प्रतिभा का लोहा मनवा पायेंगे।

क्या होंगी मेजर ध्यानचंद खेल विश्वविद्यालय की विशेषताएं?
  • 91 एकड़ में फैला होगा मेजर ध्यानचंद खेल विश्वविद्यालय।
  • युवाओं को आउटडोर, इनडोर और वॉटर गेम्स खेलों के लिए ट्रेनिंग यहां मिलेगा।
  • करीब हर प्रकार के स्पोर्ट्स को यहां पर जगह दी गई है।
  • इस यूनिवर्सिटी में इंडोर स्टेडियम, सिंथेटिक रनिंग स्टेडियम, सिंथेटिक हॉकी मैदान, ओलंपिक स्तरीय स्वीमिंग पूल, फुटबाल मैदान, वालीबॉल कोर्ट, बास्केटबाल कोर्ट, हैंडबाल, कबड्डी मैदान, लॉन टेनिस कोर्ट, जिम्नेजियम हॉल, मल्टीपरपज हॉल, शूटिंग रेंज, स्क्वैश जिम्नास्टिक, वेट लिफ्टिंग, तीरंदाजी हॉल होंगे।
  • तीरंदाजी और राइफल शूटिंग रेंज भी यहां होंगी।
  • विश्वविद्यालय में युवाओं को सभी प्रकार के खेलों का प्रशिक्षण दिया जाएगा।
  • यहां एथलेटिक्स, आउटडोर गेम्स, ट्रैक एंड फील्ड, जैवलिन थ्रो, भारोत्तोलन, कुश्ती, बाक्सिंग सहित पारंपरिक खेल मलखम्ब और खोखो का भी प्रशिक्षण दिया जाएगा।
  • आउटडोर गेम्स के लिए लगभग 20-30 हजार लोगों के बैठने की व्यवस्था होगी।
  • इंडोर गेम्स के लिए करीब 4-5 हजार दर्शकों की क्षमता के हॉल होंगे।
  • विश्वविद्यालय में 540 पुरुष और 540 महिला खिलाड़ियों को प्रशिक्षित करने की व्यवस्था होगी।
  • राष्ट्रीय, अंतरराष्ट्रीय प्रतियोगिताओं के आधार पर स्नातक की डिग्री दी जाएगी। विश्वविद्यालय से बैचलर डिग्री इन स्पोर्ट्स, डिप्लोमा, सर्टिफिकेट, परानास्तक, एमफिल और पीएचडी कोर्स होंगे।
  • 1080 खिलाड़ियों को यहां हर साल मिल सकता है प्रवेश।

यह भी पढ़ें: Virtual Conferencing: बन्ना गुप्ता ने झारखंड के लिए मांगी जीनोम सिक्वेन्सी मशीन, केंद्र ने कहा- जल्द मिलेगी

Related posts

भाजपा शासित राज्यों पर डीवीसी का अरबों रुपए बकाया, पर केंद्र ने सिर्फ झारखंड के खाते से ही काटे बकाए के 714 करोड़-JMM

Manoj Singh

निजी अस्पतालों में इलाज के नाम पर ‘आम’ ही नहीं ‘खास’ से भी हो रही लूट, कब कसेगी नकेल

Manoj Singh

देश में ईंधन की कीमत घटने पर भी कांग्रेस परेशान, भाजपा शासित राज्यों के फैसलों से माथे पर बल!

Pramod Kumar