समाचार प्लस
Breaking देश फीचर्ड न्यूज़ स्लाइडर बिहार मुजफ्फरपुर

महाशिवरात्रि के दिन पाकिस्तान के प्रसिद्ध Katas Raj शिव मंदिर में जलाभिषेक करेंगे बिहार के पांच श्रद्धालु

Katas Raj Temple

कटास राज (Katas Raj Temple) पाकिस्तान के पाकिस्तानी पंजाब के उत्तरी भाग में नमक कोह पर्वत शृंखला में स्थित हिन्दुओं का प्रसिद्ध तीर्थ स्थान है, जहां बिहार के मुजफ्फरपुर जिले के पांच श्रद्धालु इस बार महाशिवरात्रि (Maha Shivratri 2022) के दिन भगवान शिव का जलाभिषेक करेंगे.

भारत पाक 1972 के तहत हुआ समझौता

पाकिस्तान स्थित हिंदुओं के धर्मस्थल शिव मंदिर कटासराज का दर्शन करने मुजफ्फरपुर से पांच लोगों का इस बार चयन हुआ है. ये सभी कटासराज शिव के साथ-साथ भगवान श्रीराम (Lord Sri Ram) के पुत्र लव की समाधि स्थल का भी दर्शन व पूजन करेंगे. इनका चयन भारत पाक समझौता 1972 के तहत हुआ है.

इनका हुआ चयन

इस समझौते के तहत प्रत्येक वर्ष भारत से दो सौ व्यक्तियों को कटासराज दर्शन के लिए केंद्र सरकार अपने खर्च पर भेजती है. इस बार दर्शन के लिए शहर से जिन पांच लोगों का चयन किया गया है उनमें आचार्य डा. चंदन उपाध्याय, अमित कुमार, कृष्ण कुमार प्रभाकर, मनीष कुमार और पवन कुमार मेहता शामिल हैं, बाह्रमणटोली निवासी डा. चंदन ने बताया कि हिंदू मान्यताओं के अनुसार सती दाह के बाद भगवान शिव की आंख से दो बूंद आंसू गिरे थे. एक से रुद्राक्ष और दूसरे से कटासराज स्थित सरोवर का निर्माण हुआ. इस सरोवर की मान्यता मानसरोवर के बराबर है.

27 फरवरी को बाघा बार्डर होते हुए पाकिस्तान के लिए रवाना होंगे

उन्होंने बताया कि वो अपनी टीम के साथ 25 फरवरी को ट्रेन से अमृतसर पहुंचेंगे. 26 फरवरी को भारत सरकार द्वारा यात्रा के दिशा निर्देश दिए जाएंगे और 27 फरवरी को बाघा बार्डर होते हुए पाकिस्तान के लिए रवाना होंगे. पांच मार्च को उनकी वापसी होगी. इस धार्मिक यात्रा पर जा रहे लोगों ने इस बात पर हर्ष जताया कि शिवरात्रि के अवसर पर वह भगवान शिव का पाकिस्तान में दर्शन कर पाएंगे.

ये भी पढ़ें :Jio का Best प्लान! फ्री में पाएं Netflix, Amazon Prime का एक्सेस, 100GB डेटा और ये सारे Benefits

 

Related posts

45 की उम्र में कुछ ज्यादा बोल्ड हुईं अमीषा, नीचे कुछ पहने बिना ही शेयर कर दिया Video

Manoj Singh

Samachar Plus Exclusive: कोयले की कमी नहीं, स्थानीय प्रबंधन के कारण दिक्कत, बिजली संकट पर केन्द्र सरकार बेहतरीन काम कर रही – अरुण उरांव

Pramod Kumar

तीनों नये कृषि कानून वापस: पीएम ने मांगी क्षमा, कहा- कृषि कानूनों को मैं समझा नहीं सका

Pramod Kumar