समाचार प्लस
Breaking देश फीचर्ड न्यूज़ स्लाइडर

Parliament Winter Session: दिनभर होता रहा हंगामा, 12 सदस्यों के निलंबन पर सरकार ने साफ किया रुख

Parliament Winter Session

न्यूज़ डेस्क/ समाचार प्लस झारखंड- बिहार
संसद के शीतकालीन सत्र (Parliament Winter Session) का मंगलवार को दूसरा दिन रहा। राज्यसभा के 12 निलंबित सदस्यों के मामले पर हंगामे के कारण दोनों सदनों में कोई काम नहीं हो सका। दोनों सदनों की कार्रवाई 1 दिसंबर तक के लिए स्थगित कर दी गई।

निलंबन के मुद्दे पर सरकार ने भी अपना रुख पूरी तरह साफ कर दिया है। केंद्रीय मंत्री पीयुष गोयल ने कहा, पिछले मानसून सत्र में हमने जिस तरह की अनुशासनहीनता देखी, वह पहले कभी नहीं देखी गई। एक विपक्षी सांसद ने एलईडी स्क्रीन तोड़ने की कोशिश की, कुछ सांसदों ने महिला मार्शलों पर हमला किया। सदन की गरिमा बनाए रखने के लिए कार्रवाई करना महत्वपूर्ण था।

ससंद सत्र: दिनभर का हाल

सरकार ने सोमवार को संकेत दिए थे कि ये सदस्य माफी मांग लेते हैं तो उनका निलंबर समाप्त किया जा सकता है, लेकिन कांग्रेस और टीएमसी ने साफ कर दिया है कि ये सदस्य माफी नहीं मांगेगे। कांग्रेस नेता मल्लिकार्जुन खड़गे ने कहा कि माफी मांगने का सवाल नहीं है, क्योंकि उनका निलंबन गलत तरीके से हुए है। 12 राज्यसभा सांसदों में से एक भाकपा के बिनॉय विश्रम ने कहा, हमने आत्मनिर्भर भारत के लिए बैंक के निजीकरण के मुद्दे पर लड़ाई लड़ी… हम माफी नहीं मांगेंगे। इसके बाद जैसे ही सदन की कार्रवाई शुरू हुई विपक्षी दलों ने हंगामा शुरू कर दिया।

निलंबन वापस लेने की मांग

राज्यसभा में विपक्ष के नेता मल्लिकार्जुन खड़गे ने निलंबन वापस लेने की मांग की। वहीं लोकसभा में विपक्ष ने वॉक आउट किया। कांग्रेस के साथ ही डीएमके और नेशनल कॉन्फ्रेंस ने बहिष्कार किया। राज्यसभा सभापति वेंकैया नायडू ने निलंबन वापस लेने से इन्कार कर दिया। उन्होंने खड़गे की बात का जवाब देते हुए कहा कि 12 निलंबित सदस्यों ने उस दिन क्या किया, यह सभी ने देखा, उनके निलंबन का प्रस्ताव आया था, जो पारित हुआ, इसके बाद अन्य विपक्षी सदस्यों ने उनकी हरकत को सही साबित करने की कोशिश की। इसलिए निलंबन का फैसला अंतिम है।

एक्शन में सरकार

शीतकालीन सत्र की रणनीति पर चर्चा के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने संसद में राजनाथ सिंह, अमित शाह और नरेंद्र सिंह तोमर सहित शीर्ष मंत्रियों के साथ बैठक की।

संसद में बंटा हुआ विपक्ष

इस बीच, संसद में विपक्ष बंटा हुआ नजर आ रहा है। इसके पीछे तृणमूल कांग्रेस को जिम्मेदार बताया जा रहा है। कहा जा रहा है कि ममता बनर्जी की पार्टी कांग्रेस की जगह लेना चाहती है। इस बीच, ममता बनर्जी आज मुंबई में हैं। हालांकि महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे के अस्वस्थ होने के कारण दोनों की मुलाकात नहीं होगी। इसके अलावा उनका एनसीपी प्रमुख शरद पवार से भी मुलाकात का कार्यक्रम है। मुंबई दौरे में वह सिद्धविनायक मंदिर में दर्शन के लिए भी जाएंगी। बता दें कि तृणमूल कांग्रेस के राष्ट्रीय विस्तार में जुटी ममता बनर्जी अलग-अलग प्रदेशों और पार्टियों के नेताओं से मिल रही हैं। मुंबई दौरे में उनके साथ उनके भतीजे और सांसद अभिषेक बनर्जी भी होंगे।

कांग्रेस-टीएमसी की रस्साकशी पर भाजपा का तंज

कांग्रेस और तृणमूल कांग्रेस में चल रही रस्साकशी पर बंगाल भाजपा के उपाध्यक्ष दिलीप घोष ने कहा, ये नाटक बहुत पुराने हैं… हर दल विपक्षी दलों का नेता बनना चाहता है। ममता बनर्जी नेता बनना चाहती हैं। सोनिया गांधी के दिन खत्म हो गए। कांग्रेस द्वारा बुलाई गई विपक्षी बैठक में टीएमसी के शामिल न होने पर भाजपा उपाध्यक्ष दिलीप घोष ने यह बयान दिया है।

ये भी पढ़ें : क्रूरता की हद पार : 5 रुपए के बिस्किट के लिए मासूम को उल्टा लटकाकर पीटा, परिजन करते रहे मिन्नत

 

Related posts

Petrol-Diesel Price: केन्द्र सरकार ने दी खुशखबरी: 60 पैसे में एक किमी दौड़ेगी आपकी कार, महंगे Petrol-Diesel से छुट्टी

Pramod Kumar

राष्ट्रीय खेल दिवसः झारखंड की खेल नीति के ग्रह-दोष, आखिर कहां रह जाती है कमी?

Pramod Kumar

जमशेदपुर के मनोज कुमार को मिलेगा National Teacher Award, पांच सितंबर को राष्ट्रपति करेंगे पुरस्कृत

Manoj Singh