समाचार प्लस
Breaking अंतरराष्ट्रीय फीचर्ड न्यूज़ स्लाइडर

Pakistan: 25 मार्च को इमरान खान का ‘बोल्ड’ करने की हो गयी है तैयारी! विपक्ष नयी सरकार बनाने को तैयार!

Pakistan: Preparations have been made to make Imran Khan bold on March 25!

न्यूज डेस्क/ समाचार प्लस – झारखंड-बिहार

इमरान खान ने क्रिकेट के मैदान में बड़े जलवे दिखाये हैं, लेकिन सियासी पिच पर उनकी जान अटकी हुई है। सियासी पिच से कुछ घंटों बाद वह अलविदा हो जायें तो इसमें आश्चर्य नहीं है। राजनीति की पिच पर विपक्ष उन्हें बोल्ड करने में लगा हुआ है, वहीं उनकी अपनी ही पार्टी पीटीआई के सांसद उन्हें रन आउट करने में लगे हुए हैं। इस ‘डबल अटैक’ पर इमरान के लिए अपना विकेट बचाना मुश्किल ही नहीं, नामुमकिन लग रहा है।

माजरा यह है कि विपक्ष के 100 सांसदों द्वारा इमरान खान सरकार के खिलाफ अविश्‍वास प्रस्‍ताव लाया गया है, जिस पर 25 मार्च को एसेम्बली में वोटिंग होनी है। इमरान को विपक्ष ही नहीं, बल्कि अपनी पार्टी के विद्रोह से जूझना पड़ रहा है। इमरान खान की पार्टी पीटीआई के 25 से ज्‍यादा सांसद विद्रोह पर उतारू हैं। पाकिस्‍तान डेमोक्रेटिक एलायंस के नाम से विपक्ष एकजुट हो चुका है ताकि इमरान खान सरकार को उखाड़ फेंका जा सके। हालांकि इमरान अपने बागी सांसदों को मनाने की कोशिश के साथ उनके खिलाफ कार्रवाई की भी तैयारी कर रहे हैं। वहीं, इमरान खान विपक्षी दलों को परिणाम भुगतने की धमकी भी दे रहे हैं।

नये प्रधानमंत्री के नाम का ऐलान!

राजनीतिक अटकबाजियों के बीच पाकिस्तान में नयी सरकार के गठन की तैयारियां भी शुरू हो गयी हैं। पाकिस्तान मुस्लिम लीग-नवाज ने तो नये प्रधानमंत्री के नाम का ऐलान कर दिया है.। पाकिस्तान मुस्लिम लीग-नवाज की उपाध्यक्ष मरियम नवाज ने बताया कि शहबाज शरीफ को पीएम पद का उम्मीदवार घोषित किया गया है। मरियम नवाज ने इमरान खान के विरुद्ध लाये गये अविश्वास प्रस्ताव को सफल होने की उम्मीद जतायी। मरियम नवाज ने कहा कि इमरान खान का खेल खत्म हो चुका है, उनकी पार्टी पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ भी टूट चुकी है।

सुप्रीम कोर्ट की शरण में इमरान खान

अविश्वास प्रस्ताव से पहले इमरान खान जोड़-तोड़ की राजनीति में भी लगे हुए हैं। एक तरफ वह सुप्रीम कोर्ट से पूछ रहे हैं कि क्या सत्तारूढ़ पार्टी के बागी सांसदों को आजीवन अयोग्य करार दिया जा सकता है। ऐसा करने का उनका मकसद है कि बागी 25 सांसद अगर आजीवन अयोग्य ठहरा दिये जाते हैं तब असेम्बली का आंकड़ा बदल जायेगा और उनके लिए बहुमत साबित करना आसान हो जायेगा है। साथ ही साथ इमरान खान विपक्षी सांसदों को कड़ी कार्रवाई का भय भी दिखा रहे हैं ताकि ये सांसद डर कर उनके खिलाफ मतदान में शामिल न हों। हालांकि विपक्षी दल अपनी रणनीति पर ही काम कर रहे हैं ताकि किसी भी हाल में इमरान खान की सरकार को अपदस्त किया जा सके।

यह भी पढ़ें: Punjab में झाड़ू फेरने वाली आप कब साफ करेगा अपनी ‘गंदगी’, पार्टी के चार मंत्रियों पर गंभीर आपराधिक मामले

Related posts

सर्दियों में Hair Fall से हैं परेशान तो ट्राई करें ये सिंपल Tips, नहीं टूटेंगे बाल

Sumeet Roy

Sri Lanka PM Resigns: श्रीलंका में आर्थिक संकट और भीषण हिंसा के बीच PM Mahinda Rajapaksa ने दिया इस्तीफा

Sumeet Roy

Oxygen की कमी से हुई मौत के लिए केंद्र सरकार जिम्मेदार: बन्ना गुप्ता

Manoj Singh