समाचार प्लस
Breaking अंतरराष्ट्रीय फीचर्ड न्यूज़ स्लाइडर

Pakistan: ‘सरकार गिराने की विदेशी साजिश’ वाला बयान देकर फंसे इमरान, सुप्रीम कोर्ट ने मांगा सुबूत

Pakistan: Imran may resign today, voting on no-confidence motion is on April 9

न्यूज डेस्क/ समाचार प्लस – झारखंड-बिहार

इमरान खान अपने ही जाल में बुरी तरह फंसते रहे हैं। सत्ता गंवाने वाले इमरान को समझ नहीं पा रहे है कि उनके द्वारा दिया जाने वाला कौन सा बयान सही है और कौन सा गलत। विपक्ष का दबाव बढ़ने पर जब सत्ता हाथ से जाने लगी तक कभी वह भारत की तारीफें करते तो कभी कहते पीपीपी पार्टी की सरकार को हटाने के लिए अमेरिका साजिश कर रहा है। लेकिन उनकी यह उटपटांग बयानबाजी उनके गले की हड्डी बन गयी है। अविश्वास प्रस्ताव पर सुनवाई कर रहे सुप्रीम कोर्ट ने अब उनसे इस बयानबाजी के सचाई का सुबूत मांग लिया है।

इमरान सरकार के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव खारिज होने और नेशनल असेंबली भंग होने के बाद पक्ष और विपक्ष की लड़ाई सुप्रीम कोर्ट पहुंच गयी है। इस मामले में एक के बाद एक कई पेंच सामने आने के कारण सुप्रीम कोर्ट भी उसमें उलझ गया है। सुप्रीम कोर्ट सभी तथ्यों पर विचार करने कर लेने के बाद ही अपना फैसला सुनाना चाहती है। इसलिए यह मामला हर दिन आगे खिसकता जा रहा है। सबसे बड़ी बात तो यह है कि यह मामला पाकिस्तान का है। पाकिस्तान में सामने कोई भी हो, पीछे सेना खड़ी रहती है। और सेना कहां तक अपनी दखल रखती है, यह सबको पता है।

सुप्रीम कोर्ट से नहीं लगता कि इमरान खान को कोई राहत मिलने वाली है। सुप्रीम कोर्ट ने अब इमरान खान को फंसा दिया है। सुप्रीम कोर्ट ने ‘विदेशी साजिश’ वाली उस चिट्ठी को मांगा है जिसे रैलियां में दिखाकर इमरान खान पाकिस्तान की जनता की सहानुभूति बटोरना चाहते थ। जानकारी के मुताबिक, पाकिस्तान के सुप्रीम कोर्ट ने सुनवाई के दौरान बुधवार को कथित ‘विदेशी साजिश’ के बारे में और जानकारी के लिए सरकार से राष्ट्रीय सुरक्षा परिषद की बैठक के मिनट्स (ब्योरा) मांगे हैं। मुख्य न्यायाधीश बंदियाल ने अवान से राष्ट्रीय सुरक्षा परिषद की हालिया बैठक के ‘मिनट्स’ के बारे में सवाल किए, जिसमें कथित तौर पर पीटीआई के नेतृत्व वाली सरकार को हटाने के लिए एक कथित ‘विदेशी साजिश’ के सबूत दिखाने वाले एक पत्र पर चर्चा की गई थी।

यह भी पढ़ें: मात्र पावन स्मरण से ही अपने भक्तों का कल्याण करती हैं मां कात्यायनी

Related posts

Badminton Thomas Cup: टीम इंडिया ने रचा इतिहास, 14 बार के चैंपियन इंडोनेशिया को हराया

Manoj Singh

Jharkhand की सियासी हवा गर्म, बंधु की विधायकी गयी, समरी लाल अधर में, सीएम हेमंत के साथ सरकार की अटकी है सांस!

Pramod Kumar

गढ़वा में क्रॉस कंट्री प्रतियोगिता, मंत्री मिथिलेश ठाकुर ने आयोजन को जिले के लिए बताया ऐतिहासिक

Pramod Kumar