समाचार प्लस
Breaking देश

Omicron: कहीं WHO नाहक ही तो नहीं दुनिया को दिखा रहा नये कोरोना वेरिएंट का खतरा!

Omicron Vaiant in india

कोरोना वायरस (Corona Virus) के नए वैरिएंट ने एक बार फिर देश-विदेश को बेचैन कर रखा है। कोरोना वायरस का नया वैरिएंट ओमीक्रॉन (Omicron) अब तक 38 देशों तक पहुंच चुका है। भारत में भी omicron के केसेस दिनोदिन बढ़ते जा रहे है। देश में भी अब तक कुल 14 राज्यों से omicorn के मामले सामने आ चुके हैं। ओमीक्रॉन को लेकर राहत वाली बात यही है कि अब तक इस नए वैरिएंट से एक भी मौत नहीं हुई है। इस बात की पुष्टि WHO (विश्व स्वास्थ्य संगठन) भी कर रहा है।

omicron
omicron

इस नये वैरिएंट के नये मामले सामने आने से कई देशों में लगातार लोगों में चिंता और डर और भी ज्यादा बढ़ गये हैं। लेकिन अलग-अलग एक्सपर्ट की अलग-अलग राय होने से लोग इस वेरिएंट को लेकर कन्फ्यूज हैं कि वास्तव में उनके सामने खतरा कितना बड़ा है। WHO इसे ज्यादा खतरनाक बता रहा है तो हमारे भारतीय एक्सपर्ट इससे नहीं डरने की सलाह दे रहे हैं, हालांकि वे अवश्य कह रहे हैं कि लोगों को सावधान रहने की जरूरत है। भारतीय एक्सपर्ट्स भी यह मान रहे हैं कि यह वेरिएंट पिछले वेरिएंट्स से ज्यादा संक्रामक है, लेकिन इसकी घातकता अभी भी संदेह में है, क्योंकि अभी तक ओमीक्रॉन से संक्रमित किसी मरीज की मौत का मामला प्रकाश में नहीं आया है। आपको याद होगा जबसे कोरोना वायरस के मामले सामने आने शुरू हो गये थे, इसके कुछ ही दिनों बाद ही कोरोना संक्रमण से मौतों का आंकड़ा भी शुरू हो चुका है। ओमीक्रॉन वेरिएंट के मामले सामने आने के इतने दिनों बाद भी अभी भी किसी भी मरीज की मौत नहीं होने से लोग विशेषज्ञों के दावों पर ही संदेह करने लगे हैं।

WHO का क्या कहना है?

ओमीक्रॉन वेरिएंट के मामले सामने आने के बाद अमेरिका के टॉप मेडिकल ऑफिसर एंथोनी फॉसी( Anthony Fauci) ने कहा है कि भले ही ओमीक्रॉन तेजी से फ़ैल रहा है, लेकिन शुरुआती संकेत बताते हैं कि यह वायरस डेल्टा (Delta) वैरिएंट से काफी कम खतरनाक है। जबकि WHO की राय इससे उलटी है। WHO इस नये वेरिएंट को ज्यादा खतरनाक मान रहा है। इसकी संक्रामकता को लेकर उसने कई चिंताएं तो जतायी हैं, साथ ही यह भी कहा है कि यह वेरिएंट विश्व की आर्थिक व्यवस्था को भी बुरी तरह से प्रभावित कर सकता है। WHO ने अगले कुछ महीनों में यूरोप में इसके केसेस में काफी इजाफा होने की सम्भावना जतायी है। अंतर्राष्ट्रीय मुद्रा कोष (IMF) की प्रमुख क्रिस्टालिना जॉर्जीवा ने भी ऐसा ही कहा कि ओमीक्रॉन विश्व की सुधर रही आर्थिक व्यवस्था को नुकसान पहुंच सकता है।

यह भी पढ़े:- Tejashwi’s marriage confirmed: जल्‍द शादी के बंधन में बंधेंगे लालू प्रसाद के बेटे Tejashwi Yadav, गुरुवार को होगी सगाई

 

Related posts

अक्षय कुमार की मां अरुणा भाटिया का निधन, पिछले कई दिनों से चल रही थीं बीमार

Manoj Singh

पूरा झारखंड मानव तस्करों का पड़ाव है, रोक लगाने की राजनीतिक इच्छाशक्ति का अभाव है

Pramod Kumar

Bank Holidays: इस महीने 6 दिन बंद रहेंगे बैंक! ब्रांच जाने से पहले देखें छुट्टियों की पूरी लिस्‍ट

Manoj Singh