समाचार प्लस
Breaking देश पूर्णिया फीचर्ड न्यूज़ स्लाइडर बिहार

OMG! ऐसा भी होता है? पूर्णिया में 2 पत्नियों की सहमति से पति का अनोखा बंटवारा, दोनों बीवियों के साथ रहना होगा 15-15 दिन

pati ka bantwara

पूर्णिया: बिहार में दो पत्नियों के बीच पति का बंटवारा करने का अनोखा मामला सामने आया है. अब तक आपने प्रॉपर्टी सहित कई अन्य तरह के बंटवारे की खबरें देखी-सुनी होंगी, लेकिन अगर पति के बंटवारे की बात की जाए तो आपको जरूर आश्चर्य होगा. लेकिन ऐसा ही एक मामला बिहार के पूर्णिया जिले में सामने आया है, जहां दो पत्नियों के झगड़े में पति का ही बंटवारा (division of husband)किया गया है. पुलिस परामर्श केंद्र ने अपने आदेश में पति को 15 दिन पहली और फिर 15 दिन दूसरी पत्नी के साथ रहने के निर्देश दिए हैं.

पहले से ही विवाहित छह बच्चों के पिता ने कर ली थी दूसरी शादी

दरअसल, पूरा मामला दो पत्नियों के झगड़े से जुड़ा हुआ है. आरोप है कि भवानीपुर थाना क्षेत्र के गोरियारी गांव के रहने वाला एक व्यक्ति पहले से ही विवाहित है और छह बच्चों का पिता है. इस बात को छिपाकर उसने एक अन्य लड़की से भी शादी कर ली. दूसरी पत्नी से भी उसे एक पुत्री हुई. इसी दौरान दूसरी पत्नी को यह पता चल गया कि पति पहले से ही विवाहित है. इसके बाद दोनों पत्नियों को सच्चाई पता चल गई.

दोनों पत्नियों ने फैसले पर दी अपनी सहमति

सच सामने आने के बाद दूसरी पत्नी ने इस बात का विरोध किया तो पति उसके साथ गाली गलौज और मारपीट कर उसे घर से निकाल दिया. इधर, पति का कहना है कि दूसरी पत्नी पहली पत्नी के बच्चों के साथ अक्सर मारपीट करती है, इसलिए उसे घर ले निकाल दिया था. इसी बीच, दूसरी पत्नी इस मामले को लेकर पुलिस तक पहुंच गई. पुलिस ने इसे परामर्श केंद्र भेज दिया.  शुक्रवार को इस मामले में दोनों पक्षों से बातचीत के आधार पर सुनवाई के बाद पुलिस परिवार परामर्श केंद्र ने पति के महीने में 15 दिन पहली पत्नी के साथ जबकि 15 दिन दूसरी बीवी के साथ रहने का फैसला सुनाया. दोनों पत्नियों ने इस फैसले पर अपनी सहमति दे दी.

पति को दोनों पत्नियों को अलग-अलग घर में रखना होगा

दीपक ने बताया कि पुलिस परिवार परामर्श केंद्र में दोनों से बांड भरवाया गया है. तय समझौते के तहत पति 15 दिन पहली पत्नी के साथ रहेगा जबकि महीने के 15 दिन दूसरी बीवी के साथ. फैसले के मुताबिक, पति को दोनों पत्नियों को अलग-अलग घर में रखना होगा. उसे दोनों पत्नियों का भरण-पोषण करना होगा और भविष्य में कोई शिकायत नहीं मिलनी चाहिए. जिसके बाद दोनों पत्नियां खुशी-खुशी पति के साथ वापस अपने घर लौट गईं. अब इस फैसले को लेकर तरह-तरह की चर्चा हो रही है. गौरतलब है कि परामर्श केंद्र की संयोजिका महिला थाना की थाना प्रभारी होती है.

ये भी पढ़ें : Gaya News: रात गुजारने के लिए सरकारी बाबू ने वार्डन से मांगी लड़की, कहा- इंतजाम करो

division of husband

Related posts

Rohtas-Bikramganj: शिवपुर पंचायत की मुखिया प्रत्याशी पर जानलेवा हमला, एक घर में घुसकर बचायी जान

Pramod Kumar

सावधान! आप सबके चहेते, झारखंड के युवराज भाजपा में आ रहे हैं!

Pramod Kumar

Tokyo से तीन Good News : Deepak Punia और Ravi Dahiya ने पदक किया पक्का, नीरज का ऐतिहासक Javelin throw

Sumeet Roy