समाचार प्लस
Breaking झारखण्ड फीचर्ड न्यूज़ स्लाइडर

झारखंड कैबिनेट में 25 फैसलों में पुरानी पेंशन योजना पर मुहर, रायपुर विधायकों की ऐश ‘जनता के पैसे से’!

Old pension scheme stamped in 25 decisions in Jharkhand cabinet

न्यूज डेस्क/ समाचार प्लस – झारखंड-बिहार

सीएम हेमंत सोरेन की अध्‍यक्षता में गुरुवार को कैबिनेट की बैठक में कुल 25 प्रस्तावों पर मुहर लगी। हेमंत सोरेन ने पुरानी पेंशन योजना को लागू कर जहां झारखंड कर्मियों को खुश कर दिया वहीं कैबिनेट की इस घोषणा ने कि रायपुर ऐश करने के लिए गये विधायकों को ले जाने वाला वाला इंडिगो का विमान एक महीने के लिए बुक किया गया है। उस पर खर्च होने वाला 2.06 करोड़ का खर्च जनता के पैसे से होगा। झारखंड में पुरानी पेंशन योजना लागू करने के प्रस्‍ताव को स्‍वीकृति मिल गयी है। पुरानी पेंशन योजना लागू होने की सूचना मिलने के बाद प्रोजेक्ट भवन परिसर में कर्मियों ने खुशियां मनायीं। सरकारी कर्मियों ने हेमंत सोरेन जिंदाबाद के नारे लगाने लगाये। पुरानी पेंशन योजना 1 सितम्बर, 2022 से लागू मानी जायेगी। पुरानी पेंशन योजना लागू होने के लाभ राज्य के सवा लाख कर्मचारियों को मिलेगा। पुरानी पेंशन योजना लागू करने का झारखंड मुक्ति मोर्चा ने अपना चुनावी वादा निभाया है।

कैबिनेट के अन्‍य फैसले
  • हेमंत सरकार ने 5 सितंबर को विधानसभा का विशेष सत्र बुलाया है। प्रस्ताव को कैबिनेट से स्वीकृति मिल गई है। सत्र एक दिन का होगा।
  • ग्राम रक्षा दल को पंचायत सचिव के रूप में नियुक्ति करने का निर्णय लिया गया।
  • फिंगरप्रिंट सेवा नियमावली को स्वीकृति।
  • चांडिल और तेनुघाट लघु जलविद्युत परियोजना को अब पीपीपी मोड पर। जेरेडा करेगा पीपीपी मोड पर संचालन।
  • ‘मुख्यमंत्री गंभीर बीमारी योजना’ के तहत चिकित्सा के लिए अनुदान की राशि 5 से 10 लाख किया गया। सूचीबद्ध रोगों की संख्या 4 से बढ़ाकर 17 की गई।
  • मेदिनीनगर स्थित नीलांबर पीतांबर विश्वविद्यालय के अंतर्गत आने वाले 5 डिग्री महाविद्यालय में प्राचार्य, सहायक अध्यापक एवं शिक्षक कर्मचारियों के लिए पदों के सृजन की अनुमति। 145 पदों पर बहाली का रास्‍ता साफ। 5 डिग्री महाविद्यालय में होगी नियुक्ति।

यह भी पढ़ें: CMIE Roport: जिस राज्य में झारखंड सरकार ने ले रखी ‘शरण’, कम बेरोजगारी दर में सबसे आगे, कहां हैं झारखंड-बिहार

Related posts

EC का बड़ा फैसला! राजनीतिक पार्टियों के चंदे में नहीं चलेगा कालाधन, घटा दी कैश लेने की सीमा!

Pramod Kumar

जब सैंया, देवर की हो गयी मुश्किल, फिर भाभीजी की कुर्सी की राह कैसे होगी आसान? आरोप तो उन पर भी हैं कई!

Pramod Kumar

Mukesh Ambani Gets Z+ Security: मुकेश अंबानी को मिली Z प्लस की सिक्योरिटी, IB की रिपोर्ट के बाद हुआ फैसला

Sumeet Roy