समाचार प्लस
Breaking देश फीचर्ड न्यूज़ स्लाइडर रोजगार

अज्ञात बाबा के इशारों पर वर्षों चला NSE मार्केट! पूर्व सीईओ चित्रा रामकृष्णा के घर जब पड़ी IT रेड, तब हुआ खुलासा

NSE market ran for years at the behest of unknown baba!

न्यूज डेस्क/ समाचार प्लस – झारखंड-बिहार

आप अगर शेयर मार्केट से, खास कर नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (NSE) से नाता रखते हैं तो यह खबर आपके लिए दांतों तले अंगुली दबाने वाली है। आप यह जानकर हैरत में पड़ जायेंगे कि NSE मार्केट कई वर्षों तक हिमालय में रहने वाले किसी अज्ञात बाबा के इशारों पर चल रहा था। अगर आपको कुछ फायदा हुआ है तो यह ‘बाबा की कृपा’, अगर नुकसान हुआ तो इसे ’बाबा का कारनामा’ मान लीजियेगा। यह बात सही है और इसका खुलासा भी हो चुका है। NSE की पूर्व सीईओ चित्रा रामकृष्णा के मुंबई स्थित आवास पर जब इनकम टैक्स का छापा पड़ा तब इसका खुलासा हुआ। यह बात खुद चित्रा रामकृष्णा ने बतायी है। रामकृष्णा ने दिसंबर 2016 में NSE सीईओ का पद छोड़ा था।

आयकर विभाग की टीम ने चित्रा के घर की तलाशी के साथ तत्कालीन ग्रुप ऑपरेटिंग ऑफिसर आनंद सुब्रमण्यम के परिसरों में भी तलाशी ली है। इस छापामारी के दौरान पूछताछ में चित्रा रामकृष्ण ने किसी अज्ञात आध्यात्मिक और सिद्ध गुरु का जिक्र किया जिसके साथ वह महत्वपूर्ण गोपनीय जानकारियां साझा करती थीं। यही नहीं, जिस वरिष्ठ अधिकारी आनंद सुब्रमण्यन के घर को भी IT की टीम ने खंगाला है, उसकी नियुक्ति में भी अनियमितता का आरोप चित्रा पर लगा है।

मामला का खुलासा होने के बाद 11 फरवरी को मार्केट रेग्युलेटर सेबी ने चित्रा रामकृष्ण पर 3 करोड़ रुपये का जुर्माना लगाया है। सेबी की पूछताछ में चित्रा ने बताया था कि वह शेयर बाजार के मामलों में हिमालय के एक अज्ञात योगी से राय मशविरा करती थीं, जिसके बाद सेबी ने यह कार्रवाई की थी। रामकृष्ण ने अपने कहा था कि सुब्रमण्यन के कंपनसेशन के संबंध में फैसलों पर उन्हें हिमालय में रहने वाले एक योगी द्वारा सलाह दी जा रही थी। बता दें 2014 और 2016 के बीच चित्रा रामकृष्णा मैनेजमेंट के ढांचे, डिविडेंड की स्थिति, वित्तीय नतीजों, मानव संसाधन की पॉलिसी और संबंधित मामलों, रेगुलेटर को रिस्पॉन्स जैसी महत्वपूर्ण जानकारियां [email protected] पर किसी अज्ञात व्यक्ति के साथ साझा करती थीं।

इसका मतलब हुआ, इतना बड़ा शेयर बाजार कई साल तक एक अज्ञात योगी के इशारे पर चल रहा था। बता दें NSE भारत का सबसे बड़ा शेयर बाजार है, जिसमें रोजाना 49 करोड़ ट्रांजेक्शन होते हैं। एनएसई का एक दिन का टर्नओवर 64 हजार करोड़ रुपये है। हर रोज बड़ी संख्या में इन्वेस्टर्स इस मार्केट पर ट्रेड करते हैं।

पूरे खेल के तीन खिलाड़ी

इस पूरे खेल में तीन मुख्य किरदार थे-

  • एनएसई की पूर्व सीईओ चित्रा रामकृष्णा।
  • अपनी शर्तों पर नौकरी का आनंद उठाने वाला आनंद सुब्रमण्यम।
  • अदृश्य और अज्ञात योगी है, जो कथित तौर पर हिमालय में रहता था।

यह भी पढ़ें: Pakistan ने राजेन्द्र मेघवार को बनाया पहला हिंदू PPS अधिकारी, कर रहा ‘सुधरने’ का ढोंग

Related posts

मनरेगा की समीक्षा के बाद ग्रामीण विकास सचिव मनीष रंजन ने उप विकास आयुक्तों को सौंपे टास्क

Pramod Kumar

फिर से डराने लगी Corona की रफ्तार, एक दिन में करीब 8 फीसदी उछाल, 24 घंटे में आए इतने नए मामले

Sumeet Roy

बिहारः TTE ने मांगा टिकट तो लड़की ने दे दिया दिल, कानपुर से दिल्ली के बीच हुआ प्यार, अब थाना पहुंचा मामला

Manoj Singh