समाचार प्लस
Breaking देश फीचर्ड न्यूज़ स्लाइडर

कोई नहीं बचेगा ओमीक्रॉन से, काम नहीं आयेगा बूस्टर डोज, ICMR के बड़े चिकित्सक का बड़ा दावा

ICMR Doctor's Statement
न्यूज डेस्क/ समाचार प्लस – झारखंड-बिहार

भारतीय आयुर्विज्ञान अनुसंधान परिषद (ICMR) के एक शीर्ष चिकित्सा विशेषज्ञ ने मंगलवार को दावा किया कि कोरोना वायरस के ओमीक्रॉन वेरिएंट को रोका नहीं जा सकता और कभी न कभी यह हर व्यक्ति को संक्रमित करेगा। यह दावा ICMR के राष्ट्रीय महामारी विज्ञान संस्थान की वैज्ञानिक सलाहकार समिति के प्रमुख डॉ जयप्रकाश मुलियिल ने किया है। उनका कहना है कि कोविड वैक्सीन की बूस्टर खुराक भी इस पर बेअसर है और यह ओमीक्रॉन के प्रसार को नहीं रोक पाएगी।

पहले जैसा खतरा नहीं – डॉ जयप्रकाश

हालांकि डॉ जयप्रकाश ने आश्वस्त किया कि कोविड अब पहले जैसी डरावनी बीमारी नहीं रह गयी है, क्योंकि नया वेरिएंट हल्का है। लोग अगर संक्रमित हो भी रहे हैं तो कम लोग ही अस्पतालों में भर्ती हो रहे हैं। उन्होंने कहा, हम इसे संभाल सकते है। यह डेल्टा से हल्का है और लेकिन रोका नहीं जा सकता। ओमीक्रॉन जुकाम की तरह लक्षण दिखाता है।

80 प्रतिशत को तो पता भी नहीं चलेगा कब संक्रमित हुए

डॉ जयप्रकाश का यह भी कहना है कि देश में हर कोई ओमीक्रॉन से संक्रमित होगा। लगभग 80 प्रतिशत को तो पता भी नहीं चलेगा कि वे कब संक्रमित हुए। मगर ओमीक्रॉन के फैलने की रफ्तार ज्यादा है। मतलब जब तक टेस्ट से संक्रमण पकड़ में आता है, संक्रमित व्यक्ति इसे कई लोगों में फैला चुका होता है। जब हम टेस्ट भी करते हैं तो बहुत पीछे हैं। असल मामले 60 से 90 गुना अधिक हो सकते हैं।

क्या कहना है WHO का?

विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) के प्रमुख डॉ टेड्रोस अधेनोम गेब्रैयसस ने कहा कि ओमीक्रॉन वेरिएंट को हल्का कहकर खारिज नहीं किया जाना चाहिए। नये वेरिएंट के कारण रिकॉर्ड संख्या में लोग संक्रमित हो रहे हैं। यह कई देशों में डेल्टा वेरिएंट को पछाड़कर प्रमुखता से फैलने वाला वेरिएंट बन रहा है। डॉ टेड्रोस ने कहा कि ओमीक्रॉन खासकर वैक्सीनेटेड लोगों में डेल्टा की तुलना में हल्का लग रहा है, लेकिन इसका मतलब यह नहीं कि इसे हल्का मान लिया जाना चाहिए। यह पिछले वेरिएंट्स की तरह ही लोगों को अस्पताल में भर्ती कर रहा है और मार रहा है। वहीं, संगठन की तकनीकी प्रमुख मारिया वेन केर्खोव ने कहा कि ऐसा नहीं लगता कि ओमीक्रॉन महामारी के अंत से पहले का आखिरी वायरस है। इसलिए उन्होंने लोगों से इससे बचने की अपील की।

यह भी पढ़ें: Covid-19: झारखंड में राजधानी रांची और पूर्वी सिंहभूम बने हुए कोरोना संक्रमण के हॉट जोन

Related posts

Covid-19: केरल में मामूली गिरावट के साथ देश में 42,766 संक्रमण के नये मामले, 308 मरीजों की मौत

Pramod Kumar

Mahamuqabla: फैन ‘चाचा’ समर्थन तो पाकिस्तान टीम को कर रहे, धौनी को कहा ‘दिल से आई लव यू’

Pramod Kumar

Narendra Giri Suicide:  आनंद गिरि 14 दिनों की न्यायिक हिरासत में, सुसाइड नोट में परेशान करने का जिक्र

Pramod Kumar