समाचार प्लस
Breaking देश फीचर्ड न्यूज़ स्लाइडर बिहार राजनीति

भाजपा से दूरी या कुछ और? द्रौपदी मुर्मू के शपथ ग्रहण में शामिल नहीं हुए Nitish Kumar, फेयरवेल में भी थे गायब

image source : social media

Nitish :द्रौपदी मुर्मू (Droupadi Murmu)ने आज यानी सोमवार को संसद के सेंट्रल हॉल में राष्ट्रपति पद की शपथ ली. इसके साथ ही द्रौपदी मुर्मू देश की नई राष्ट्रपति बन गई हैं. एक ओर जहां शपथ ग्रहण समारोह में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू, लोकसभा के स्पीकर ओम बिरला समेत कई दिग्गज मौजूद रहे. वहीँ बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार (Nitish Kumar) इस कार्यक्रम से गायब रहे. शपथ ग्रहण में उनके नहीं शामिल होने से विपक्ष को बीजेपी-जेडीयू के रिश्ते पर प्रश्नचिन्ह खड़ा कर रहे हैं. आरजेडी ने तो सवाल खड़े करते हुए यह कह दिया कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार (Nitish Kumar) अब बीजेपी के साथ पहले की तरह सहज नहीं रहे.

जदयू ने बताई अनुपस्थिति की ये वजह 

Nitish नीतीश कुमार(Nitish Kumar) के कार्यक्रमों में अनुपस्थिति को लेकर सियासी गलियारों में इस बात को लेकर चर्चा शुरू हो गई है कि क्या नीतीश कुमार बीजेपी से नाराज चल रहे हैं? हालांकि राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू के शपथ ग्रहण समारोह में शामिल न होने की वजह जदयू की ओर से बताया गया है कि नीतीश कुमार मनरेगा को लेकर आयोजित बैठक में हिस्सा लेने के कारण इस कार्यक्रम में हिस्सा नहीं लेंगे. वहीँ सीएम हाउस के सूत्रों ने बताया कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की तबीयत ठीक नहीं, जिसकी वजह से वह शपथ ग्रहण समारोह में नहीं पहुंच पाए.

image source : social media
image source : social media

इन बैठकों से भी रहे दूर

इससे पहले नीतीश कुमार 17 जुलाई को केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह द्वारा बुलाई गई मुख्यमंत्रियों की एक बैठक में भी शामिल नहीं हुए थे और एक प्रतिनिधि को भेजा था. वहीं राष्ट्रीय ध्वज से संबंधित मुद्दों पर चर्चा के लिए हुई बैठक में भाजपा के तारकिशोर प्रसाद ने भाग लिया था.

क्या बीजेपी से चूक हुई?

बिहार विधान सभा का शताब्दी समारोह के आयोजन के बाद से ही नीतीश कुमार ने दिल्ली से दूरियां बनानी शुरू कर दी थी. अब ये बात भी खुलकर सामने आ रही है कि  बिहार विधान सभा के शताब्दी समारोह में प्रधानमंत्री के संबोधन के लिए उन्हें आमंत्रित करने में बीजेपी से भूल हुई है. स्पीकर विजय कुमार सिन्हा के निमंत्रण पर पीएम नरेंद्र मोदी विधानसभा के कार्यक्रम में आए थे. उस कार्यक्रम में एक स्मारिका का विमोचन भी किया गया, लेकिन उसमें सीएम नीतीश कुमार की फोटो गायब थी. वहीं समापन समारोह में श्री सिन्हा ने मुख्यमंत्री का नाम तक नहीं लिया था.

“द्रौपदी मुर्मू को समर्थन दिया ही, तो फिर सवाल क्यों?”

आरजेडी की ओर से उठाए गए सवाल का जेडीयू ने यह कहते हुए जवाब दिया है कि  जब उन्होंने द्रौपदी मुर्मू को समर्थन दिया, तो फिर ऐसे सवाल क्यों?

ये भी पढ़ें: Hemant नहीं तो कौन? JMM इकाइयों ने ट्विटर पर बदली प्रोफाइल फोटो; सोशल मीडिया पर इसलिए शुरू हुई बहस

 

 

Related posts

इलाहाबाद हाई कोर्ट की टिप्पणी, गाय भारत की संस्कृति; घोषित हो राष्ट्रीय पशु

Manoj Singh

Ananya Pandey ने पहन लिए छोटे शॉर्ट्स, शर्ट से ढकना ​पड़ा बदन 

Manoj Singh

Jharkhand में Teacher’s की Bumper Vacancy जल्द, होगी एक लाख से अधिक शिक्षकों की नियुक्ति

Manoj Singh