समाचार प्लस
Breaking झारखण्ड फीचर्ड न्यूज़ स्लाइडर राँची

रांची: NITI Aayog की टीम पिठौरिया और इचापीड़ी पंचायत पहुंची, किया सिंचाई व्यवस्था का निरीक्षण

image source : social media

रांची: भारत सरकार के नीति आयोग (NITI Aayog) की टीम बुधवार को अहले सुबह राजधानी रांची के कांके प्रखंड के पिठौरिया के इचापीड़ी (ichpiri) पंचायत पहुंची। इस दौरान भारत सरकार के नीति आयोग के वाइस चेयरमैन सुमन कुमार बेरी (suman kumar) और उनके निजी सचिव अमित वर्मा अपनी टीम के साथ पिठोरिया स्थित प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र और इचापीड़ी पंचायत के किसानों के खेतों पर लगे ड्रिप इरिगेशन का निरीक्षण किया।

नए कोल्ड चेन सेंटर का निरीक्षण किया

मौके पर आयोग के वाईस चेयरमैन सुमन कुमार बेरी की टीम ने पिठोरिया स्थित प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में दवाई को लम्बे समय तक मानक तापमान में रखने हेतु नए कोल्ड चेन सेंटर का निरीक्षण किया। निरीक्षण में सिविल सर्जन रांची ने कोल्ड चेन के उपयोग के बारे मे बताया, साथ नीति आयोग के टीम ने आयुष चिकित्सा के बारे में जानकारी प्राप्त की।

टीम ने खेतों पर लगे सब्जियों का निरीक्षण किया

वहीं आयोग की टीम ने इचापीड़ी पंचायत के किसानों के खेतों पर लगे सब्जियों का निरीक्षण किया और खेतों पर मौजूद किसानों से भी बातें कर उनके द्वारा खेती करने के तरीके को जाना और साथ ही उनकी समस्याओं को भी सुना। मौके पर इचापीड़ी पंचायत के पंचायत समिति सदस्य ऐनुल हक अंसारी ने कहा कि पहली बार हमारे पंचायत पर कोई केंद्र सरकार की टीम आई है। यह हम सभी किसानों के लिए बहुत ही ख़ुशी की बात है। हम लोगों से खुलकर टीम के लोगों ने बातें की और समस्याओं से अवगत भी हुए। पिथोरिया क्षेत्र किसानों का गढ़ माना जाता है यहां से सब्जियां दूसरे राज्यों पर निर्यात किया जाता है।

‘सिंचाई की सुविधा मिले तो दो गुना फसल उत्पादन होगा’ 

वहीं पंचायत के उप मुख्य मोहम्मद गुफरान अंसारी ने कहा कि नीति आयोग की टीम को हम लोगों ने सिंचाई संबंधित समस्या से अवगत कराया है। टीम को हम लोगों ने जानकारी दी है। यहां पर सिंचाई की समस्या बहुत ज्यादा है, यदि सिंचाई की व्यवस्था अगर हो जाए, तो यहां के किसान दो गुना फसल उत्पादन कर सकते हैं। हमलोगों ने टीम के सदस्यों से क्षेत्र के किसानों के लिए डीप बोरिंग लगाने की मांग की है। अगर बोरिंग की व्यवस्था हो जाए तो उपज में दो गुना फायदा किसानों को मिलेगा।

“चेक डैम का निर्माण हो”

वहीँ  कृषक मित्र सफीउल्लाह अंसारी ने कहा कि गांव में ही एक छोटी नदी बहती है, जिस पर जगह जगह पर अगर चेक डैम का निर्माण कराया जाए तो यहां के किसानों के लिए बहुत बड़ी सौगात होगी। क्योंकि पिठौरिया क्षेत्र हमेशा से कृषि के लिए जानी जाती है। लेकिन यहां गर्मी के दिनों में पानी की घोर समस्या है।

ड्रिप इरिगेशन लगा कर रहा हूं खेती -फिरोज अंसारी

मौके पर ड्रिप इरिगेशन से खेती कर रहे किसान फिरोज अंसारी ने बताया कि पिछले दो साल से उन्होंने  अपने खेत पर ड्रिप इरिगेशन लगाया है और खेती कर रहा हैं। उन्होंने बताया कि पहले की अपेक्षा अब दो गुना अपना सब्जी उत्पादन कर रहे हैं। पहले दो से तीन फसल ही कर पाते थे , लेकिन अब पांच से छह फसल उत्पादन कर लेते हैं। साथ ही ड्रिप इरिगेशन से पानी की बचत और खाद्य की भी बचत होती है।

इनकी रही उपस्थिति 

भारत सरकार के नीति आयोग के टीम के साथ मौके पर प्रमंडलीय आयुक्त दक्षिणी छोटानागपुर, उप विकास आयुक्त, रांची, अनुमंडल पदाधिकारी रांची, कृषि विभाग के पदाधिकारी, कांके अंचलाधिकारी, ग्रामीण एसपी नौशाद आलम,डीएसपी नीरज कुमार मौजूद थे।

ये भी पढ़ें : चुनावों से पहले Arvind Kejriwal ने खेला हिन्दू कार्ड, बोले -नोट पर बापू के साथ होनी चाहिए लक्ष्मी-गणेश की तस्वीर

 

Related posts

नीतीश कुमार को ‘PM मटेरियल’ बताए जाने के बाद सूबे की सियासत हुई गर्म, सुशील मोदी अब सवालों से काट रहे ‘कन्नी’

Manoj Singh

Gautam Adani के नाम फिर नया रिकॉर्ड, बने दुनिया के तीसरे सबसे बड़े रईस

Manoj Singh

Jharkhand: मॉडल स्कूलों के लिए हैप्पी करिकुलम लागू, बच्चों को स्मार्ट बनाने की तैयारी शुरू, प्रिंसिपल-शिक्षकों को दिया जा रहा प्रशिक्षण

Pramod Kumar