समाचार प्लस
Breaking गोड्डा फीचर्ड न्यूज़ स्लाइडर

फर्जी डिग्री मामले में Nishikant Dubey को हाईकोर्ट से मिली बड़ी राहत, कोर्ट ने FIR रद्द करने का दिया आदेश

nishikant dubey got clean cheat from jharkhand high court on fake degree
बीजेपी के गोड्डा सांसद निशिकांत दुबे (Nishikant Dubey)  को झारखंड हाईकोर्ट से बड़ी राहत मिली है. एमबीए डिग्री को चुनौती देने के बाद सांसद निशिकांत के ख़िलाफ़ दर्ज प्राथमिकी को हाईकोर्ट ने निरस्त करने का आदेश दिया है।बुधवार को हाईकोर्ट में निशिकांत दुबे की याचिका पर सुनवाई करते हुए अदालत ने उनके ख़िलाफ़ दर्ज प्राथमिकी को निरस्त करने का आदेश दिया है, जिसमें उनकी एमबीए की डिग्री को फ़र्ज़ी बताते हुए एफआईआर दर्ज करवायी गई थी।

मंगलवार को सूचक की बहस  पूरी कर ली गई थी

इससे पहले मंगलवार को हुई सुनवाई के दौरान इलेक्शन कमीशन ऑफ़ इंडिया और राज्य सरकार की तरफ़ से अदालत में बहस की गई. इसके साथ ही इस मामले के सूचक की बहस भी अदालत में पूरी कर ली गई थी. हाईकोर्ट में निशिकांत दुबे के अधिवक्ता के तौर पर वरीय अधिवक्ता आर एस मजूमदार और रोहन मजूमदार ने अदालत के समक्ष बचाव में बहस करते हुए कई दलीलें पेश की. वहीं चुनाव आयोग की ओर से आकाशदीप ने पक्ष रखा.

हाईकोर्ट के आदेश के बाद सांसद को राहत मिली हैं

हाईकोर्ट के न्यायाधीश जस्टिस संजय द्विवेदी की कोर्ट में निशिकांत दुबे की रिट पर सुनवाई हुई. बता दें कि गोंड्डा सांसद निशिकांत दुबे की डिग्री पर सवाल उठाते हुए उनके खिलाफ देवघर में प्राथमिकी दर्ज कराई गई थी. जिसके बाद हाईकोर्ट ने निशिकांत दुबे के ख़िलाफ़ पीड़क कार्रवाई पर रोक लगा रखी थी. अब हाईकोर्ट के इस आदेश से सांसद को बड़ी राहत मिली है.

इसे भी पढ़ें: जानकारी की खबर: रांची में कई कंपनियों के पेट्रोल पंप में तेल खत्म, पढ़ें पूरी Detail

NIshikant Dubey

Related posts

National Education Day 2021: जानें मौलाना आजाद के जन्मदिन पर क्यों मनाया जाता है राष्ट्रीय शिक्षा दिवस

Sumeet Roy

Jharkhand: हॉकी की नर्सरी सिमडेगा को जल्द मिलेगा अंतरराष्ट्रीय स्टेडियम, चाईबासा और खूंटी में स्टेडियम निर्माण प्रगति पर

Pramod Kumar

JPSC और JSSC परीक्षा में उम्र सीमा में छूट के लिए 5 नवंबर से होगी Twitter Campaign की शुरुआत

Manoj Singh