समाचार प्लस
Breaking अपराध फीचर्ड न्यूज़ स्लाइडर

Bihar: NIA की टीम ने युवक को किया गिरफ्तार, Terror Funding से जुड़ा था Zafar Abbas, महीनों से जांच टीम के रडार पर था

Zafar Abbas NIA

गोपालगंज से सुशिल श्रीवास्तव की Report

गोपालगंज (Gopalganj) से एक बार फिर टेरर कनेक्शन का तार जुड़ा है। ताजा मामला मांझागढ़ के पथरा गांव का है। जहां से एनआईए की टीम ने 48 घंटे पहले जफर अब्बास (Zafar Abbas) नाम के एक युवक को गिरफ्तार किया है।

आरोप है कि युवक के द्वारा दुश्मन देश से करीब 6 करोड़ रुपए की राशि मंगाई गई है। जिसका आतंकियों से कनेक्शन होने का पुख्ता सबूत है।

इसके बाद ही एनआईए की टीम ने बीते 7 दिसंबर को माझागढ़ थानाक्षेत्र के पथरा गांव से जफर अब्बास नाम के युवक को गिरफ्तार किया है। युवक के पास से एनआईए की टीम ने दो लैपटॉप, 6 मोबाइल फोन, 6 सिम कार्ड भी बरामद किए हैं। जिससे एनआईए की टीम रिकॉर्ड खंगालने में जुट गई है।

Zafar Abbas
Zafar Abbas

पुलिस सूत्रों के मुताबिक जफर अब्बास (Zafar Abbas) नाम का युवक आजाद ए कश्मीर नाम के एक संगठन से जुड़ा है। इस संगठन के नाम पर पाकिस्तान और अन्य देशों से करीब 6 करोड़ की फंडिंग की गई थी। जिसके बदले में आरोपी जफर के द्वारा एक पर्सेंट कमीशन लिया जाता था।

पुलिस सूत्रों ने बताया कि 7 दिसंबर को इस युवक को स्थानीय पुलिस की मदद से किया गया था। जिससे पूछताछ के बाद एनआईए की टीम को सौंप दिया गया था। टीम इसे लेकर मुजफ्फरपुर और इसके बाद दिल्ली चली गई थी।

एनआईए की टीम के अलावा स्थानीय पुलिस भी गिरफ्तार युवक के साइबर कनेक्शन को भी जोडकर मामले की जांच कर रही है।
जफर अब्बास की गिरफ्तारी से पहले एनआईए ने कुछ वर्षो पहले अबू बेदार बख्त उर्फ धन्नू राजा को गिरफ्तार किया था। जिसके ऊपर कुख्यात आतंकी सोहेल खान को गोपालगंज में शरण देने का आरोप लगा था।

इसी मामले में एनआईए ने कुछ अन्य युवकों को भी गोपालगंज शहर से गिरफ्तार किया था। एनआईए की गोपालगंज में यह तीसरी बड़ी कारवाई है। जब एनआईए की टीम गोपालगंज में को टेरर फंडिंग को लेकर जांच कर रही है। एसपी आनंद कुमार ने गिरफ्तारी की पुष्टि की है। लेकिन कैमरे के सामने कुछ भी बोलने से इनकार कर दिया है।

एनआईए ने केस दर्ज किया गया है। केस संख्या R.C.30/2021/N.I.A./D.L.I. दर्ज किया है। जिसमें गिरफ्तार युवक का नाम जफर अब्बास, पिता स्वर्गीय मोहम्मद हसमुल्लाह ,गांव पथरा, थाना मांझागढ़ बताया गया है।

पाकिस्तानी आतंकी का बिहार कनेक्शन

इससे पहले भी आतंकियों का बिहार कनेक्शन सामने आया था. अक्टूबर में जब दिल्ली पुलिस की स्पेशल टीम ने पाकिस्तानी आतंकी मोहम्मद अशरफ को गिरफ्तार किया था तो उसके पास से जो दस्तावेज बरामद किया गया था वो बिहार के किशनगंज के पते का था. स्पेशल टीम ने आतंकी को लक्ष्मी नगर इलाके से गिरफ्तार किया था जहां उसके पास से हथियार और हैंड ग्रेनेड भी मिले थे. इसके साथ ही बिहार के सीमांचल और मिथिलांचल में भी कई बार आतंकियों को गिरफ्तार किया गया है. यह क्षेत्र धीरे-धीरे घुसपैठियों और आंतकियों का सेफ हाउस बनता जा रहा है. तो वहीं बिहार के पिछले कुछ सालों में गया और छपरा के क्षेत्र में भी आतंकी कनेक्शन सामने आए हैं.

इसे भी पढ़ें: कोरोना से मृत लोगों के आश्रितों को राज्य सरकार देगी 50 हजार की सहयोग राशि- स्वास्थ्य मंत्री Banna Gupta

Related posts

अवनि लखेरा ने गोल्ड पर साधा निशाना, पैरालंपिक खेलों में रिकॉर्ड भी बनाया

Pramod Kumar

कहीं असुरक्षित तो नहीं आपका बैंक खाता! 7 महीने से 18 करोड़ ग्राहकों की जानकारी लेते रहे हैकर्स!

Pramod Kumar

Tokyo Olympics : इजराइली खिलाड़ी पर आसान जीत के साथ P. V. Sindhu की शुरुआत, पदक की उम्मीदें हैं पीवी

Pramod Kumar