समाचार प्लस
Breaking झारखण्ड देश फीचर्ड न्यूज़ स्लाइडर

NCRB Data 2021: देश में सबसे ज्यादा सांप्रदायिक दंगा झारखंड में, NCRB के ताजा आंकड़े से खुलासा

image source:social media

राष्ट्रीय अपराध रिकॉर्ड ब्यूरो (National Crime Records Bureau) ने वर्ष 2021 के अपराधों का आंकड़ा जारी किया है. आंकड़ों NCRB के अनुसार साल 2021 में पूरे देश में कुल 378 सांप्रदायिक दंगे हुए थे, इनमें से अकेले झारखंड में 100 दंगे हुए. जारी आंकड़े के अनुसार देश में कुल 378 सांप्रदायिक दंगे हुए, जिसमें सर्वाधिक 100 दंगे सिर्फ झारखंड में हुए हैं। दूसरे स्थान पर महाराष्ट्र रहा, जहां 77 सांप्रदायिक दंगा के मामले दर्ज हुए हैं। वहीं, तीसरे स्थान पर बिहार जहां 51 मामले, हरियाणा जहां 40 मामले, राजस्थान व मध्य प्रदेश जहां 22-22 मामले व असम जहां 17 मामले सांप्रदायिक दंगे से संबंधित दर्ज हुए हैं। सामान्य दंगों की बात करें तो पूरे देश में 41 हजार 66 दंगे हुए हैं, जिनमें 1426 दंगे सिर्फ झारखंड में दर्ज किए गए हैं।

इस वर्ष भी हुए सांप्रदायिक दंगे

साल 2022 में भी झारखंड की राजधानी रांची सहित कई शहरों में सांप्रदायिक हिंसा के मामले सामने आए थे. राजधानी रांची में तो 10 जून को हुए सांप्रदायिक हिंसा में पुलिस को फायरिंग करनी पड़ी थी. जिसमें दो युवकों की मौत हो गई थी. इस मामले की जांच अभी भी की जा रही है. हालांकि एनसीआरबी (National Crime Records Bureau) के आंकड़ों में साल 2022 का जिक्र नहीं है. एनसीआरबी(National Crime Records Bureau) के आंकड़े 1 साल पूर्व के जारी किए जाते हैं.

image source:social media
image source:social media

बढ़े महिलाओं और बच्चों से अपराध के आंकड़े

झारखंड में हर वर्ष बच्चों से अपराध के आंकड़े बढ़ते जा रहे हैं। एनसीआरबी के आंकड़े के अनुसार वर्ष 2019 में जहां 1674 बच्चों से अपराध हुआ, वहीं वर्ष 2020 में 1795 व वर्ष 2021 में 1867 में बच्चों से अपराध की घटनाएं घटी हैं। महिलाओं से अपराध का आंकड़ा भी आठ हजार से अधिक रहा। वर्ष 2019 में 8760 महिलाओं से अपराध हुआ। वर्ष वर्ष 2020 में 7630 व वर्ष 2021 में 8110 महिलाएं अपराधियों के चंगुल में आयीं।

नाबालिग व बच्चियां भी हुईं दुष्कर्म की शिकार

झारखंड में लगातार बेटियों के साथ वारदात की घटनाएं सामने आती रही हैं। झारखंड में नाबालिग और बच्चियों के साथ दुष्कर्म की घटनाएं बढ़ी हैं। गत वर्ष 2021 में छह साल से नीचे की दो बच्चियां, छह से 12 साल की 21 बच्चियां, 12 से 16 साल की 93 व 16 से 18 साल की 231 नाबालिग दुष्कर्म का शिकार बनीं हैं। वहीं 18 से 30 वर्ष की 901 युवतियां व 30 से 45 वर्ष की 218 महिलाएं भी दुष्कर्म की शिकार हुई हैं।

image source:social media
image source:social media

झारखंड में गत वर्ष कुल 69 केस दर्ज हुए

एसिड से हमले के मामले में गत वर्ष सभी 28 राज्यों में कुल 69 केस दर्ज हुए, जिनमें एसिड हमले के कुल 71 पीड़ित थे। इनमें झारखंड के दो कांड शामिल हैं, जिनमें पीड़ित की संख्या भी दो है।

ये भी पढ़ें : Seema Patra Arrested: निलंबित BJP नेता सीमा पात्रा को रांची पुलिस ने किया गिरफ्तार, घरेलू सहायिका से क्रूरता का है आरोप

 

 

Related posts

Organ Donation: 4 जिंदगियां रोशन कर गईं उर्मिला, ब्रेन डेड हुई तो परिजनों ने लीवर, किडनी और आंखें दान दी

Sumeet Roy

Viral Video: Javed Habib ने महिला के सिर में थूक लगाकर काटे बाल, कहा ‘इस थूक में दम है’

Manoj Singh

Plane Missing: चार भारतीयों समेत 22 लोगों को ले जा रहा विमान लापता, हादसे की आशंका

Manoj Singh