समाचार प्लस
Breaking अपराध गिरीडीह झारखण्ड फीचर्ड न्यूज़ स्लाइडर

Giridih News: गिरिडीह पुलिस ने किया एक हार्डकोर नक्सली के साथ दो को गिरफ्तार, ठेकेदारों से लेवी वसूलने के साथ दो के हत्या का है आरोपी

naxali with two arrested by giridih police

गिरिडीह से राजन सिन्हा की रिपोर्ट

GIRIDIH NEWS: गिरिडीह के तिसरी थाना पुलिस ने एक नक्सली समेत दो अपराधियों को गिरफ्तार किया है। गिरफ्तार माओवादी और अपराधी में पंकज यादव और कमलेश यादव शामिल है। पुलिस को ये सफलता शुक्रवार की देर रात को मिली। जबकि दूसरे दिन शनिवार की सुबह प्रेसवार्ता कर एसपी अमित रेनू और तीसरी थाना प्रभारी पीकू प्रसाद ने जानकारी देते हुए कहा की दोनों की गिरफ्तारी तिसरी के ही लोकायनायनपुर के इलाके से हुई है।

दोनों अपराधी बिहार के जमुई के अलग अलग थाना क्षेत्र के चरकापत्थर और खैरा थाना के चिल्काखार और कारितांड गांव के रहने वाले है। एसपी ने बताया की बीते 11 जनवरी को तिसरी के खातपोंक स्वास्थ केंद्र में काम कर रहे मजदूरों के साथ तीन अज्ञात अपराधियो ने मारपीट किया था और इस घटना को पंकज यादव, कमलेश यादव के साथ उपेंद्र यादव ने अंजाम दिया था।

घटना के दौरान तीनो ने स्वास्थ केंद्र के मजदूरों को योजना का 15 फीसदी कमीशन देने को लेकर एक पत्र भी योजना के ठेकेदार चुन्नू सिंह के नाम दिया था। इस दौरान तीनो ने मजदूरों के धमकी देते हुए कहा था की ठेकेदार को योजना की राशि के अनुरूप 15 फीसदी कमीशन देने को तैयार रखने को कहना। नही देने पर पंकज ने मजदूरों को अंजाम भुगतने की भी धमकी दिया था। घटना के दूसरे दिन ठेकेदार ने घटना की पूरी जानकारी तिसरी थाना पुलिस को दिया। इसके बाद पुलिस मामले की जांच में जुटी। तो मजदूरों के निशानदेही पर सबसे पहले उपेंद्र यादव को दबोचा गया।

पूछताछ में उपेंद्र यादव ने बताया की खातपोंक के निर्माणाधीन स्वास्थ केंद्र के योजना के निर्माण को लेकर पंकज ने ही प्लान तैयार किया था। जिसमे उसने अपने करीबी कमलेश और तीसरी के खातपोंक गांव निवासी उपेंद्र को शामिल कर 11 जनवरी को घटना को अंजाम दिया। एसपी और थाना प्रभारी की माने तो गिरफ्तार उपेंद्र के पुलिस ने कई स्थानों पर छापेमारी किया। करीब एक माह बाद तिसरी पुलिस ने गुप्त सूचना पर शुक्रवार की देर रात लोकयनयनपुर से पंकज और कमलेश यादव को दबोचा।

एसपी ने जानकारी दिया की पंकज के खिलाफ पहले से जमुई के चकाई थाना में आर्म्स एक्ट का केस दर्ज है। तो जमुई के ही चकाई थाना में साल 2021 के अगस्त माह में चतुर हेंब्रम और अर्जुन हेंब्रम का हत्या पुलिस मुखबिरी के आरोप में जमुई के नक्सली दस्ता के साथ कर दिया था। कर दिया था। वैसे पंकज द्वारा कई ठेकेदारों से लेवी वसूलने की बात कही जा रही है। लिहाजा, पुलिस पंकज को एक हार्डकोर नक्सली ही बता रही है।

इसे भी पढ़ें: Reliance Jio के इस Plan ने मचाई धूम! एक दिन में बिना लिमिट के इस्तेमाल करें हाई-स्पीड डेटा

giridih news

Related posts

Netflix के नए फैसले से उड़े यूजर्स के होश! लागू होने जा रहा ये नियम

Manoj Singh

‘MS Dhoni नाम नहीं इमोशन है’ मैच फिनिश करते वक्त रोती हुई बच्ची की फोटो वायरल

Manoj Singh

तीन ट्रेनों के बामरा‌ में ठहराव की मांग को लेकर स्थानीय लोग रेल पटरियों पर बैठे, रेल सेवाएं बुरी तरह प्रभावित

Sumeet Roy