समाचार प्लस
Breaking झारखण्ड फीचर्ड न्यूज़ स्लाइडर

झारखंड में भाजपा के पूर्व विधायक गुरुचरण नायक पर हुआ नक्सली हमला, दो बॉडीगार्ड की हत्या

गुरुचरण नायक

झारखंड के पश्चिमी सिंहभूम में नक्सली हमला हुआ है। यहां के गोईलकेरा के झिलुरवा में नक्सलियों ने भाजपा के पूर्व विधायक गुरुचरण नायक पर हमला किया है। हमले में विधायक बाल-बाल बचे हैं। उनके दो बॉडीगार्ड की हत्या कर दी गई है। नायक ने भागकर अपनी जान बचाई है। बताया जा रहा है कि एक फुटबाल मैच में बतौर मुख्य अतिथि पूर्व विधायक गुरुचरण पहुंचे थे।

इससे पहले विधायक रहने के दौरान भी नक्सलियों के हमले में गुरुचरण बचे थे। पश्चिमी सिंहभूम जिले के आनंदपुर प्रखंड में एक स्कूल भवन का उद्घाटन व सड़क का शिलान्यास करने गए गुरुचरण पर एक घंटे के अंदर दो बार हमला कर किया था। विधायक की सुरक्षा में साथ गई पुलिस के साथ नक्सलियों की करीब डेढ़ घंटे तक फायरिंग हुई थी। हालांकि घटना में कोई हताहत नहीं हुआ था।

हमले की पहली घटना आनंदपुर प्रखंड के नक्सलग्रस्त हरता गांव में हुई थी। दूसरी बार खटांगबेड़ा गांव में नक्सलियों ने हमला किया था। गुरुचरण नायक हरता गांव में स्कूल भवन का उद्घाटन करने व बच्चों को पुरस्कार वितरित करने के बाद भाषण दे रहे थे कि अचानक समीप के जंगल से फायरिंग की आवाज सुनाई दी। एक के बाद एक आठ फायरिंग की आवाज सुनते ही विधायक को खतरे का आभास हुआ और वे भाषण बंद कर पैदल ही सुरक्षाकर्मियों के साथ खटांगबेड़ा गांव की ओर निकल गए थे।

हरता से पांच किमी तक पैदल चलते हुए विधायक व उनके अंगरक्षक मनोहरपुर-रोबोकेरा मुख्य सड़क पर स्थित खटांगबेड़ा गांव पहुंचे। पीछे से उनकी स्कॉर्पियो गाड़ी व स्काट कर रही पुलिस भी वहां पहुंची। खटांगबेड़ा में उन्हें खटांगबेड़ा-हरता सड़क निर्माण की आधारशिला रखनी थी। जैसे ही नारियल फोड़कर शिलान्यास की प्रक्रिया शुरू करनी चाही, नक्सलियों की ओर से फिर से ताबड़तोड़ फायरिंग शुरू हो गई। पुलिस व उनके अंगरक्षकों ने तुरंत मोर्चा संभालते हुए जवाबी फायरिंग शुरू कर दी थी।

मौके की नजाकत को भांपते हुए विधायक जमीन पर लेट गए और किसी तरह रेंगते हुए अपनी गाड़ी की तरफ गए। इसी बीच नक्सलियों की ओर से फायरिंग और तेज हो गई। खतरा बढ़ता देख सुरक्षाकर्मियों ने उन्हें मोटरसाइकिल पर बैठाकर आठ किमी दूर आनंदपुर स्थित सीआरपीएफ कैम्प तक पहुंचाया। इससे उनकी जान बच सकी थी।

Update: 

*हमला में बचकर निकले जवान का नाम राम टुड्डू बताया जा रहा है. उसे इलाज के लिए अस्पताल ले जाया गया है*

हमला करने वाले नक्सलियों की संख्या लगभग 100 थी. यह हमला तब किया गया जब गुरुचरण नायक जनता को संबोधित कर रहे थे. किसी को समझ में नहीं आया कि क्या हुआ. पुलिस सूत्रों के अनुसार दोनों जवानों की हत्या की गई है या उन्हें नक्सली उठा कर ले गए इसका पता लगाया जा रहा है.

Guru charan nayak naxal attack
Guru charan nayak naxal attack

दूसरी ओर ग्रामीणों के अनुसार जवानों की चाकू से गला रेतकर हत्या की गई है. दोनों जवान बचाओ-बचाओ चिल्ला रहे थे. हालांकि एक पुलिस अधिकारी ने बताया कि हत्या की गई है. लेकिन घटनास्थल पर अभी पुलिस नहीं पहुंची है. पुलिस के वहां पहुंचने पर पूरी जानकारी मिलेगी.

गुरुचरण नायक का एक अंगरक्षक जिसकी घटनास्थल पर मौत हुई, दूसरा बॉडीगार्ड लापता

Related posts

शातिर Dragon : …ताकि बंकर के लिए किया जा सके इस्तेमाल, चीन ने सीमा पर बना डाले 500 मॉडल गांव

Pramod Kumar

Kangana Ranaut की कार पर किसानों का Attack, जमकर हुई नारेबाजी

Sumeet Roy

Simdega: बिजली विभाग की लापरवाही की भेंट चढ़ा गजराज, करंट लगने से मौत

Pramod Kumar