समाचार प्लस
Breaking फीचर्ड न्यूज़ स्लाइडर बिहार मुजफ्फरपुर

Muzaffarpur Eye Hospital: मुजफ्फरपुर के आंखफोड़वा अस्पताल पर बड़ी कार्रवाई, प्रशासन ने किया सील, 27 लोगों की गई थी रोशनी

Muzaffarpur Eye Hospital:

Muzaffarpur Eye Hospital: मोतियाबिंद के ऑपरेशन में आपराधिक लापवाही ने मुजफ्फरपुर में दर्जनों लोगों के आंख की रौशनी छीन ली और 15 लोगों के बह चुके आंख को निकालना प़ड़ा। मुजफ्फरपुर आई हॉस्पीटल की इस करतूत पर देश भर में सनसनी फैल गयी और इसे आंखफोड़वा कांड बताया जा रहा है। इस मामले में सरकार की ओर से बड़ी कार्रवाई की गयी है। प्रशासन ने मुजफ्फरपुर आई हॉस्पीटल को सील कर दिया है।

मुजफ्फरपुर के चर्चित ऑंखफोड़वा कांड (Muzaffarpur Eye Hospital) में बड़ी कार्रवाई की गयी है। जिला प्रशासन और पुलिस की टीम जुरन छपरा स्थित मुजफ्फरपुर आई हॉस्पिटल को सील कर दिया है। शनिवार की दोपहर पुलिस और प्रशासन की टीम आई हॉस्पीटल में पहुंची। पुलिस के साथ मजिस्ट्रेट को भी तैनात किया गया था। मजिस्ट्रेट की मौजूदगी में हॉस्पिटल के ऑपरेशन थिएयर, दवा दुकान और कार्यालय को सील कर दिया गया।

अधिकारियों की मौजूदगी में इनमें ताला बंद किया गया और लाल कपड़ा बांधकर बजाब्ता प्रशासन की मूहर का ठप्पा लगा दिया गया। सरकार की इस कार्रवाई से हड़कम्प मच गया है। कार्रवाई के वक्त लोगों की काफी भीड़ जुट गई। काफी संख्या में पुलिस बल होने के कारण भीड़ को कंट्रोल किया जा सका। टीम में शामिल अपर एसडीएम मनीषा और नगर डीएसपी रामनरेश पासवान मौजूद रहे।

डीएसपी ने बताया कि उपर के निर्देश के अनुसार इसे सील कर दिया गया है। आगे की कार्रवाई की जा रही है। असप्ताल संचालक और डॉक्टर पर दर्ज के सम्बंध में रामनरेश पासवान ने बताया कि नियम संगत कार्रवाई की जा रही है। उन्होंने कहा कि एफआईआर में तर्कसंगत और कानून सम्मत धाराएं लगाई गयी हैं। इसी अनुसार पुलिस जांच कर रही है।

नगर डीएसपी ने बताया कि ऑपरेशन थिएटर और दवा दुकान को सील किया गया ताकि विशेषज्ञ जांच से पहले कोई छेड़छाड़ नही किया जा सके। है। ताकि जांच में संक्रमण के कारणों का सही पता चल सकेगा। सील होने से यह स्थल सुरक्षित हो गया है। कोई इसमे रखे सामानों से छेड़छाड़ नहीं कर सकेगा। इससे एक्सपर्ट टीम को ठोस साक्ष्य हाथ लग सकते हैं। बता दें कि शुरुआत में ही आई हॉस्पिटल से जांच के लिए कुछ नमूने एकत्र कर एसकेएमसीए के लैब में भेजे गए थे। जिसकी जांच अभी चल रही है।

संक्रमण के यहीं से फैलने की आशंका

सूत्रों की माने तो संक्रमण के इन्हीं जगहों सर फैलने की आशंका है। इसलिए इन जगहों की सील गया है। जब राज्य स्तरीय टीम जांच के लिए आई हॉस्पिटल आयी थी तो उन्होंने भी माना था कि संक्रमण इन्हीं जगहों से फैला होगा। हालांकि अब तक माइक्रो बायोलॉजी रिपोर्ट नहीं आयी है। लेकिन, अंदर ही अंदर चर्चा है कि रिपोर्ट में संक्रमण की बात ही है। जो OT से फैली है। वहीं मरीजों को दी गयी दवा के भी खराब होने की बात सामने आई है। लेकिन, इसकी पुष्टि अभी नहीं हुई है।

इसे भी पढ़ें: Bihar News: नेग के बदले दारोगा को रिवाल्वर दिखाना पड़ा महंगा, पटककर किन्नरों ने छीन ली सर्विस रिवाल्वर

Related posts

शिक्षा मंत्री जगरनाथ महतो की तबीयत बिगड़ी, रांची के मेदांता में चल रहा इलाज

Manoj Singh

JSSC ने नियुक्ति परीक्षा और विज्ञापन किये रद्द, सूचना जारी, फिर से मंगाये जायेंगे आवेदन

Manoj Singh

मंडल की राजनीति की धार तैयार कर रहा है RJD, सात को हर जिले में धरना प्रदर्शन

Manoj Singh