समाचार प्लस
Breaking खेल देश फीचर्ड न्यूज़ स्लाइडर

Happy Birthday Mithali Raj: इंडियन वीमेन क्रिकेट टीम की इस धुरंधर ने ऐसे तय किया ‘डांसर से क्रिकेटर तक का सफर’

Mithali Raj

Happy Birthday Mithali Raj: वो  कहते है न, किस्मत के आगे हम सभी मजबूर हैं।  लेकिन अगर किस्मत अच्छी हो तो रास्ता अपने आप ही बन जाता है और मंजिल मिल ही जाती है। असल में  ये बात उस women cricketer पर बिलकुल सटीक बैठती है जिन्होंने कभी भी एक cricketer बनने का ख्वाब देखा ही नहीं था। असल में उन्हें एक classical dancer बनना था।  लेकिन अपने पिता के सपनों को पूरा करने के लिए उन्होंने अपने हाथों में बल्ला थामा और क्रिकेट की दुनिया से दोस्ती कर ली। आज वह देश का वह चमकता सितारा है जिन्हें लोग “Lady Tendulkar” के नाम से जानते हैं। हम बात कर रहे है वूमन टीम इंडिया की वरिष्ठ सदस्य Mithali Raj की। मिताली राज का जन्म 3 दिसंबर, 1982 को राजस्थान के जोधपुर में हुआ था।  मिताली आज के दौर में सबसे महान भारतीय क्रिकेटर्स में से एक हैं।  क्रिकेट में उनके रिकार्ड्स और अचीवमेंट्स उन्हें क्रिकेट का लीजेंड बनाते है।

करियर की शुरुआत

मिताली ने अपने करियर की शुरुआत 1999 में की थी। मिताली ने अपने क्रिकेट के करियर में एक के बाद एक शानदार प्रदर्शन किया जिसके बाद उन्हें भारतीय क्रिकेट टीम की कप्तानी सौंप दी गयी। इन्होंने 2005 के one day  वर्ल्ड कप में बतौर कप्तानी की और अपनी टीम को finals में पहुंचाया।  मिताली ने अपने शानदार खेल के दम पर 2010, 2011, 2012 में ICC की रैंकिंग में पहली position हासिल की।

इंटरनेशनल क्रिकेट में बनाया 10,000 रनों का रिकॉर्ड 

मिताली इंटरनेशनल क्रिकेट में 10,000 रनों का रिकॉर्ड बनाने वाली पहली वूमैन क्रिकेटर हैं। one day international cricket में 7000 रन्स बनाने वाली भी वह अकेली वूमन क्रिकेटर हैं।

आज वह दौर है जब महिलाएं पुरुषों से बहुत आगे निकल चुकी है। इसका जीता- जागता उदाहरण मिताली राज हैं। भारतीय क्रिकेट में मिताली का बहुत बड़ा योगदान रहा है। इन्होंने हज़ारों-लाखों लोगों को इंस्पायर किया है। इनकी मेहनत और परिश्रम सिर्फ महिलाओं के लिए ही नहीं, बल्कि पुरुषों के लिए भी प्रेरणास्रोत है।

यह भी पढ़े:-  Dr. Rajendra Prasad Birthday : दुसरे नेताओं से कितने अलग थे राजेंद्र बाबू, जानें उनकी Inspirational Story

Related posts

हरनाज संधू नयी Miss Universe , 21 वर्षों के बाद भारत के सिर फिर बंधा मिस यूनिवर्स का ताज

Pramod Kumar

कोहरे का कहर: फरवरी तक थमेंगे कई ट्रेनों के पहिये, कल से कोलकाता-अमृतसर दुर्गियाना एक्सप्रेस रद्द

Pramod Kumar

अब चूल्हा जलाना भी हुआ महंगा, एक नहीं,अब दो रुपए होगी माचिस की कीमत

Manoj Singh