समाचार प्लस
Breaking देश फीचर्ड न्यूज़ स्लाइडर

Cyclone ‘गुलाब’ से झारखंड तो बचा, मगर महाराष्ट्र-गुजरात तबाह, दोनों राज्यों पर ‘शाहीन’ का भी खतरा

‘गुलाब’ से महाराष्ट्र-गुजरात तबाह,‘शाहीन’ का भी खतरा

न्यूज डेस्क/ समाचार प्लस – झारखंड-बिहार

चक्रवाती तूफान ‘गुलाब‘ ओडिशा से टकराने के बाद कमजोर पड़ गया। इसका असर ओडिशा और पश्चिम बंगाल पर तो दिखा, लेकिन झारखंड पर इसका असर कम ही रहा। वैसे झारखंड में दो दिनों की बारिश की भविष्यवाणी है। दो दिनों यानी 29 और 30 सितम्बर को होने वाली बारिश झारखंड को ज्यादा नहीं भिंगायेगी। लेकिन ‘गुलाब’ चक्रवात महाराष्ट्र और गुजरात में कहर बरपा रहा है। महाराष्ट्र में पिछले 48 घंटों में अलग-अलग घटनाओं में लगभग 37 लोगों के मारे जाने की आशंका है। हालांकि महाराष्ट्र सरकार 13 लोगों के ही मारे जाने की पुष्टि कर रही है। अभी महाराष्ट्र और गुजरात पर ‘शाहीन’ का खतरा भी बना हुआ है। ‘शाहीन’ ‘गुलाब’ का ही संस्करण-2 है। ‘शाहीन’ अरब सागर में सक्रिय होगा। 30 सितम्बर की शाम तक इसके सक्रिय होने की संभावना है।

फिलहाल ‘गुलाब’ के कारण महाराष्ट्र के कई जिलों में भारी बारिश हो रही है। भारी बारिश की वजह से कई जिलों में जनजीवन अस्त-व्यस्त हो चुका है। पिछले दो दिनों से राज्य के मराठवाड़ा, उत्तरी महाराष्ट्र और विदर्भ के इलाकों में बारिश हुई है। अभी भी अगले दो दिनों के दौरान गुजरात, उत्तरी कोंकण, उत्तर-मध्य महाराष्ट्र एवं मराठवाड़ा में भारी वर्षा का अनुमान लगाया गया है।

इस बीच, महाराष्ट्र में मूसलाधार बारिश के कारण नासिक का गंगापुर बांध ओवरफ्लो हो गया है, जिसके परिणामस्वरूप गोदावरी नदी के जल-स्तर में तेजी से वृद्धि हुई है और आस-पास के इलाकों में बाढ़ आ गयी है। औरंगाबाद शहर और उसके आसपास के इलाके भी जलमग्न हैं।

कोल्हापुर में 411 गांव, सांगली में 113 गांव, सतारा में 416, पुणे में 420, रत्नागिरि में 25, रायगढ़ में 70 और अकोला में 600 से अधिक गांव सहित लगभग 2121 गांव भारी बारिश से प्रभावित हुए हैं। अगले 24 घंटों में आईएमडी ने मराठवाड़ा, मुंबई और महाराष्ट्र के तटीय कोंकण क्षेत्र के अन्य हिस्सों में कुछ स्थानों पर अत्यधिक भारी बारिश’ होने की भविष्यवाणी की है।

गुजरात का भी हाल बेहाल

‘गुलाब’ चक्रवात के असर से गुजरात का हाल भी बेहाल है। चक्रवात से राज्य के 20 जिलों की हालत खराब हो गयी है। राज्य के जलाशयों का स्तर भी काफी ऊपर आ गया है। भारी बारिश के कारण उपरवास में उकाई बांध का जल-स्तर 341.22 फीट रिकॉर्ड किया गया है। बांध में से 2.05 लाख क्यूसेक पानी छोड़ा जा रहा है। सूरत के ओलपाडा तालुका में भारी बारिश के कारण दीवार गिरने से घर में सोये एक दंपती की मौत हो गयी है।

झारखंड में दो दिनों के बारिश की भविष्यवाणी, पर असर ज्यादा नहीं

मौसम विभाग ने ‘गुलाब‘ के असर से झारखंड में दो दिनों की बारिश की भविष्यवाणी की है। लेकिन पश्चिम बंगाल और ओडिशा से सटे कुछ इलाकों को छोड़कर बारिश का असर कम ही जगहों पर देखा जा रहा है। दरअसल, चक्रवाती तूफान ‘गुलाब’ ओडिशा के तट से टकराने के बाद कमजोर पड़ गया है। लेकिन इसका असर कम या ज्यादा आंध्र प्रदेश, ओडिशा, पश्चिम बंगाल, छत्तीसगढ़ और झारखंड में दिख रहा है। पटना मौसम विज्ञान केंद्र ने बिहार के कई जिलों में तेज हवा के साथ बारिश को लेकर अलर्ट जारी किया है।

30 सितम्बर को सक्रिय होगा नया चक्रवात ‘शाहीन’

मौसम विभाग (IMD) ने कहा है कि चक्रवाती तूफान ‘गुलाब’ का एक अवशेष उत्तरी तेलंगाना की ओर बढ़ गया है जिसके कारण अरब सागर के ऊपर एक और चक्रवात ‘शाहीन’ तैयार हो रहा है। यह प्रणाली 30 सितंबर की शाम के आसपास पूर्वोत्तर अरब सागर और उससे सटे गुजरात तट तक पहुंच सकती है।

यह भी पढ़ें: PM-पोषण: सरकारी स्कूल के बच्चों को 5 साल तक फ्री में मिलेगा मिड-डे मील, मोदी सरकार की नई स्कीम

Related posts

बंगाल की खाड़ी में उठ रहा ‘गुलाब’, चक्रवाती तूफान को लेकर ओडिशा, आंध्र प्रदेश में हाईअलर्ट, बंगाल में भारी बारिश का अनुमान

Manoj Singh

माइक्रोसॉफ्ट के सीईओ Satya Nadella के बेटे का निधन, Cerebral Palsy से थे पीड़ित 

Manoj Singh

जमशेदपुर के MGM में अब विदेशों की तर्ज पर मरीजों को मिलेगी सुविधा,100 बेड का मॉड्यूलर इमरजेंसी वार्ड बनकर तैयार

Manoj Singh