समाचार प्लस
Breaking झारखण्ड देश फीचर्ड न्यूज़ स्लाइडर हजारीबाग

Loyal Calf: “बस आखिरी सुन ले, ये मेल है अपना…”पुराने मालिक की मौत पर गमगीन हुआ बछड़ा, श्मशान पहुंचकर शव को चूम खूब रोया, Video

image source : social media

Loyal Calf:ऐसा कहा और माना जाता है कि यदि जानवरों को आप प्यार देंगे तो उसके बदले में वो भी बेहद प्यार देंगे। इंसानों की तरह जानवर भी एक दूसरे के प्रति प्यार व्यक्त करने में माहिर होते हैं। ऐसा कहा जाता रहा है कि जानवरों की दुनिया में शायद प्रेम बांटने में देरी नहीं की जाती। झारखण्ड के हजारीबाग के चैथी गांव में में एक बछड़े के भावपूर्ण व्यवहार की एक ऐसे ही झलक मिली, जब अपने पुराने मालिक के मरने के बाद तीन महीने पहले बेचा जा चुका बछड़ा उसके अंतिम संस्कार में पहुंच गया। इतना ही नहीं, श्मशान घाट पहुंच वह मालिक के शव को चूमकर खूब रोया। बछड़े (Loyal Calf) को वहां अपने मालिक को अश्रुपूर्ण विदाई देता देख हर कोई हैरान रह गया। इतना ही नहीं, उसने चिता पर रखे शव की अन्य लोगों के साथ परिक्रमा भी की और दांत से दबा लकड़ी भी लाकर चिता पर रखी। बताया जा रहा कि वह वहां से नहीं हटा जब तक पार्थिव शरीर पंचतत्व में विलीन नहीं हो गया।

 भगाने पर भी नहीं माना बछड़ा

एकाएक श्मशान घाट में जब बछड़े को शव के पास आकर रंभाता देख लोगों ने पहले तो उसे भगाने की कोशिश की पर वह बार-बार शव के पास आने लगा।‌‌ इसके बाद वहां मौजूद बुजुर्ग के कहने पर जब उसे शव के पास जाने दिया गया, तो उसने शव को चूमा और फिर रंभाने लगा। लोगों ने बछड़े (Loyal Calf) को स्नान कराया और इसके बाद उसे अंतिम संस्कार की रस्म में शामिल कराया गया।

आर्थिक तंगी के कारण तीन माह पूर्व बेच दिया था बछड़ा

स्थानीय लोगों के मुताबिक कि मृतक मेवालाल ने बछड़े को आर्थिक तंगी के कारण तीन महीने पहले बगल के गांव में बेच दिया था। वहां मौजूद लोगों ने बछड़े को मृतक मेवालाल के अंतिम -संस्कार में शामिल कराया। पूरी घटना वहां उपस्थित लोगों ने अपने कैमरे में कैद कर लिया। अब यह घटना सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रही है। लोगों के बीच उत्सुकता का विषय यह भी है कि जब मेवालाल में बछड़े को 3 महीने पहले ही बेच दिया था, तो उसे मालिक की मौत की खबर कैसे मिली? गांव के लोग इसे चमत्कार से कम नहीं मान रहे हैं। उनका कहना है कि यह कैसे संभव है कि जिस बछड़े को तीन महीने दूसरे गांव में बेच दिया गया हो, उसे अपने मालिक की मौत का आभास हो जाए। यह घटना लोगों के बीच चर्चा का विषय बन गया है।

ये भी पढ़ें : स्वरूपानंद जी को श्रद्धांजलि: आजादी की लड़ाई भी लड़ी और जेल भी गए, क्रांतिकारी से ऐसे बने शंकराचार्य

 

Related posts

आपसी विवाद में पति पत्नी ने खाया जहर, महिला के मायके वालों ने पति पर लगाया मारपीट कर जहर खिलाने का आरोप

Sumeet Roy

Amazon Quiz Answers Today 25 October 2021: Amazon दे रहा है 40 हजार रुपये जीतने का मौका,आप भी उठा सकते हैं लाभ!

Manoj Singh

IND vs NZ: स्टेडियम में इतने दर्शक कैसे बुला सकते हैं? रांची T20 पर कोर्ट में दायर हुई याचिका

Manoj Singh