समाचार प्लस
Breaking देश फीचर्ड न्यूज़ स्लाइडर

Local for Vocal और ‘आत्मनिर्भर भारत’ ने इस दिवाली ड्रैगन का निकाला दम, 50,000 करोड़ के घाटे का फूटा बम

No Chines Goods

न्यूज डेस्क/ समाचार प्लस – झारखंड-बिहार

प्रधानमंत्री के Local for Vocal और ‘आत्मनिर्भर भारत’ ने रंग दिखाने लगा है। एक तो पहले से चीन को कोरोना का जन्मदाता मानकर उससे खार खाये हुए हैं। ऊपर से पीएम मोदी के Local for Vocal केआह्वान का रंग इस दिवाली पर दिख गया है। इस दीपावली पर लोगों ने चीनी वस्तुओं का बहिष्कार कर चीन के होश उड़ा दिये हैं। इस दीपावली पर चीनी वस्तुओं के बहिष्कार का ही असर है कि देश के कुम्हारों के चेहरों पर मुस्कान लौटी है। लोग इस बार चीनी सजावट की वस्तुओं की जगह कुम्हारों के दीये और खिलौने खरीदने में ज्यादा रुचि ले रहे हैं।

एक ओर, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने Local for Vocal और ‘आत्मनिर्भर भारत’ को सफल करने का आह्वान किया था। दूसरी तरफ इस वर्ष भी भारतीय बाजारों पर कब्जा करने की चीन ने तैयारी कर रखी थी। लेकिन मोदी का आह्वान चीन पर भारी पड़ गया। विश्लेषकों की मानें तो इस दिवाली सीजन में चीनी निर्यातकों को 50,000 करोड़ रुपये का नुकसान होने जा रहा है। बता दें, पिछले साल दिवाली के दौरान देशभर में करीब 72,000 करोड़ का कारोबार हुआ था और उस समय भी चीन को करीब 40,000 करोड़ का घाटा हुआ था। कन्फेडरेशन ऑफ ऑल इंडिया ट्रेडर्स (कैट) के अनुसार, पिछले साल की तरह इस वर्ष भी चीन के सामानों के बहिष्कार का आह्वान किया गया है।

 

व्यापारियों ने चीनी वस्तुओं के आयात से हाथ खींचे

Local for Vocal और ‘आत्मनिर्भर भारत’ के कारण देश के व्यापारियों और आयातकों ने चीन से सामानों का आयात बंद कर दिया है। इससे त्योहारी सीजन और खासकर दिवाली के दौरान चीन को करीब 50,000 करोड़ रुपये का व्यापार घाटा होने वाला है। कैट के महासचिव प्रवीण खंडेलवाल का कहना है कि अभी तक भारतीय व्यापारियों या आयातकों ने दिवाली के सामानों, पटाखों या अन्य समान वस्तुओं का कोई भी ऑर्डर चीन को नहीं दिया है। इसका मतलब यही हुआ कि इस साल भी चीन खून के आंसू रोएगा।

चीनी सामानों को लेकर बदला है भारत

इस साल देश में विशुद्ध रूप से देशी दिवाली मनने वाली है। यह देश में एक महत्वपूर्ण बदलाव है। ग्राहक पिछले साल से ही चीनी सामान खरीदने में दिलचस्पी नहीं ले रहे हैं। इससे भारतीय सामानों की मांग बढ़ रही है। इस साल चीन को करीब 50,000 करोड़ रुपये का नुकसान तो हो ही रहा है, गणेश चतुर्थी पर भी 500 करोड़ की चपत लग चुकी है।

20 वित्तीय शहरों में चीनी सामानों का बहिष्कार

चीनी वस्तुओं के बहिष्कार तो वैसे पूरे देश में हो रहा है, लेकिन देश के 20 वित्तीय शहरों नई दिल्ली, अहमदाबादा, मुंबई, नागपुर, जयपुर, लखनऊ, चंडीगढ़, रायपुर, भुवनेश्वर, कोलकाता, रांची, गुवाहाटी, पटना, चेन्नई, बंगलूरू, हैदराबाद, मदुरै, पुडुचेरी, भोपाल और जम्मू के बहिष्कार का विशेष असर बाजार में दिखेगा।

यह भी पढ़ें: Subh Deepawali: धनतेरस पर लक्ष्मी को ऐसे करें प्रसन्न, जानें पूजा-विधि और शुभ लग्न

Related posts

PM Modi बने दुनिया के सबसे लोकप्रिय नेता, Joe Biden और Boris Johnson को छोड़ा पीछे

Manoj Singh

SDO की प्रोन्नति का मामला: हाई कोर्ट ने कहा- अगली सुनवाई में CS दें जवाब, नहीं तो कोर्ट में हों हाजिर

Manoj Singh

ईचागढ़ के पूर्व विधायक साधु चरण महतो का निधन, सीएम हेमंत सोरेन ने जताया दुख

Manoj Singh

Leave a Comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.