समाचार प्लस
Breaking अंतरराष्ट्रीय देश फीचर्ड न्यूज़ स्लाइडर राजनीति

Liz Truss UK PM: भारतीय मूल के ऋषि सुनक हारे, लिज ट्रस ने जीता प्रधानमंत्री का चुनाव

image source : social media

Liz Truss UK PM: ब्रिटेन में पीएम की रेस में ऋषि सुनक (Rishi sunak) हार गए हैं. 47 साल की लिज ट्रस ब्रिटेन की नई प्रधानमंत्री होंगी. उन्होंने भारतीय मूल के ऋषि सुनक को हरा दिया. दक्षिणपंथी लिज बोरिस जॉनसन की जगह लेंगी. लिज को ब्रिटेन की सियासत में फायरब्रांड नेता के तौर पर जाना जाता है. यूके की विदेश मंत्री लिज ट्रस (Liz Truss) वहां की नई प्रधानमंत्री चुन ली गई हैं. वह बोरिस जॉनसन की जगह लेंगी. लिस ट्रस को आज शाम ब्रिटेन की सत्ताधारी कंजर्वेटिव पार्टी (Conservative Party) का नेता चुन लिया गया है.

जानकारी के मुताबिक, लिस ट्रस को टोरी लीडरशिप के इस चुनाव में कुल 81,326 वोट मिले. वहीं ऋषि सुनक को 60,399 वोट मिले. मतलब सुनक इस चुनाव को 20,927 वोटों से हार गए. लिज ट्रस ब्रिटेन की तीसरी महिला प्रधानमंत्री हैं. इससे पहले मार्गरेट थैचर  और थेरेसा मे इस पद पर रह चुकी हैं.

विवादों के कारण बोरिस जॉनसन को देना पड़ा था इस्तीफ़ा 

बता दें कि बोरिस जॉनसन को 7 जुलाई को ब्रिटेन के पीएम पद से इस्तीफा देना पड़ा था. दरअसल, जॉनसन का नाम कई विवादों से जुड़ गया था. इसके बाद जॉनसन के खिलाफ कैबिनेट मंत्रियों के इस्तीफों की छड़ी लग गई. फिर उनको इस्तीफा देना पड़ा. फिर बोरिस जॉनसन के उत्तराधिकारी की रेस में पूर्व चांसलर ऋषि सुनक और विदेश मंत्री लिस ट्रस फाइनल तक पहुंचे. अब 42 साल के सुनक को अब पीएम की रेस में 47 साल की लिस ट्रस ने हरा दिया है.

image source : social media
image source : social media

एकतरफा जीत हासिल नहीं कर सकीं ट्रस, 21 साल में सबसे कम पार्टी मेंबर्स के वोट मिले
मीडिया और सर्वे में लिज की बहुत बड़ी जीत की भविष्यवाणी हो रही थी। नतीजे आए तो तस्वीर दूसरी नजर आई। 2001 के बाद लिज पहली ऐसी ब्रिटिश PM इलेक्ट हैं जिन्हें 60% से कम वोट मिले। लिज के खाते में 57% पार्टी मेंबर्स के वोट आए। 2019 में जब बोरिस जॉनसन प्रधानमंत्री बने तो उन्हें 66.4% वोट मिले थे। 2005 में डेविड कैमरून को 67.6% जबकि 2001 में डंकन स्मिथ को 60.7% वोट मिले थे। थेरेसा में को कभी मेंबरशिप बैलट यानी पार्टी सदस्यों के वोट की जरूरत नहीं पड़ी, क्योंकि उनके खिलाफ चुनाव लड़ने वाली प्रत्याशी आंद्रिया लीडसॉम ने पहले राउंड के बाद हार मान ली थी।

ऋषि सुनक पर थीं भारत की निगाहें

भले चुनाव ब्रिटेन में था, लेकिन इसकी चर्चा भारत में भी जमकर हो रही थी. इसकी वजह थी ऋषि सुनक का भारतीय कनेक्शन. ब्रिटिन इंडियन नागरिक सुनक की जीत की कामना भारतीय लोग कर रहे थे. सुनक भारत की जानी-पहचानी शख्सियत नारायण मूर्ति के दामाद हैं.

ये भी पढ़ें : Nitish Kumar Delhi Visit: दिल्ली पहुंचे नीतीश, पीएम मोदी को देंगे चुनौती!

Related posts

जानकारी की खबर: रांची में कई कंपनियों के पेट्रोल पंप में तेल खत्म, पढ़ें पूरी Detail

Sumeet Roy

CRPF का जवान कराता था नक्सलियों व गैंगस्टरों को हथियार व कारतूस उपलब्ध, गिरफ्तार

Manoj Singh

Jharkhand Panchayat Election: Jharkhand पंचायत चुनाव में नहीं होगा ‘NOTA’ का विकल्प, करना ही पड़ेगा वोट, जानें बैलेट पेपर के लिए क्या हैं निर्देश

Manoj Singh